लाइव टीवी

लखनऊ: टेरर फंडिंग व फेक करेंसी नेटवर्क से जुड़े चार युवकों को एटीएस ने किया गिरफ्तार

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 11, 2019, 3:40 PM IST
लखनऊ: टेरर फंडिंग व फेक करेंसी नेटवर्क से जुड़े चार युवकों को एटीएस ने किया गिरफ्तार
डीजीपी ओपी सिंह ने टेरर नेटवर्क फंडिंग पर प्रेस कांफ्रेंस की.

आरोपियों के पास से भारतीय और नेपाली मुद्रा मिली है. पिछले साल एटीएस ने मध्य प्रदेश के एक टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा किया था.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी एंटी टेररिस्ट स्क्वाड (UP Anti Terrorist Squad) टेरर फंडिंग (Terror Funding) व फेक करेंसी नेटवर्क (Fake Currency Network) से जुड़े चार युवकों को गिरफ्तार किया है. एटीएस (ATS) की टीम ने यह गिरफ्तारी लखीमपुर जिले से की है. बताया जा रहा है कि एटीएस ने पकड़े गए आरोपियों के पास से नकली नोट भी बरामद किए हैं. यूपी पुलिस (UP Police) पकड़े गए आरोपियों के एक साथी की तलाश के लिए नेपाल पुलिस (Nepal Police) के भी संपर्क में हैं.

टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा करते हुए डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने दोपहर में प्रेस कांफ्रेंस की. उन्होंने ने कहा विदेशों से अवैध धन मंगाकर आतंकी गतिविधियों में इस्तेमाल करने के आरोप में चार युवकों को गुरुवार देर रात लखीमपुर से एटीएस ने गिरफ्तार किया है. आरोपियों के पास से भारतीय और नेपाली मुद्रा मिली है. पिछले साल एटीएस ने मध्य प्रदेश के एक टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा किया था. उन्होंने बताया कि राष्ट्र बैंक जनकपुर नेपाल के सिस्टम को हैक किया गया था. इस गैंग के एक सदस्य मुमताज को यूपी और नेपाल पुलिस तलाश रही है. आरोपियों के मोबाईल डेटा को रिट्रीव किया जा रहा है.

lakhimpur terror funding network
टेरर फंडिंग नेटवर्क गिरफ्तार अभियुक्त


डीजीपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त की शिनाख्त खीरी के उम्मेद अली ,संजय अग्रवाल, एजाज अली और बरेली का समीर सलमानी के रूप में हुई है. उन्होंने बताया कि नेटवर्क के अहम आदमी मुमताज़ की तलाश में पुलिस लगी हुई है. नेपाल के साथ हम डिप्लोमैटिक प्रक्रिया के तहत संपर्क में हैं.

नेपाल के बैंक खातों से भारत भेजा जाता था पैसा

डीजीपी ने बताया कि टेरर फंडिंग नेटवर्क के जरिए रकम पहले नेपाल के बैंक खातों में जमा होती है. फिर नेपाल के रास्ते भारत में लाका इस पैसों का उपयोग आतंकी गतिविधियों में खर्च करने की योजना थी. डीजीपी ने कहा कि टेरर फंडिंग नेटवर्क मामले में नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है. केंद्र सरकार के ज़रिए डिप्लोमैटिक प्रक्रिया के तहत नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है.

अल कायदा आतंकी आसिम उमर यूपी का सनाउल्ला हो सकता है
Loading...

डीजीपी ने कहा कि अफगानिस्तान में मारा गया अल कायदा आतंकी आसिम उमर यूपी का सनाउल्ला हो सकता है. सनाउल्ला यूपी के संभल का रहने वाला था. सनाउल्ला 1998 से ग़ायब है. सनाउल्ला के बाद से संभल के चार-पांच युवक और भी ग़ायब हैं. आसिम उमर ही सनाउल्ला था या  इसकी पुष्टि में हम लगे हैं.

(इनपुट: ऋषभमणि त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:

रोटी-दाल के लिए गोरखपुर जेल में भड़का बवाल, डीजी बोले- जांच होगी

बाराबंकी: बच्चों ने मनाया महानायक बिग बी का जन्मदिन, याद दिलाया ये अधूरा वादा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 3:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...