कोरोना की 1 करोड़ जांच करने वाला देश का पहला राज्य बना UP, संक्रमण दर में भी कमी दर्ज

यूपी ने कोरोना टेस्ट का आंकड़ा एक करोड़ पार कर लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)
यूपी ने कोरोना टेस्ट का आंकड़ा एक करोड़ पार कर लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के सचिव आलोक कुमार ने बताया कि प्रदेश में जांचों की संख्या एक करोड़ के पार पहुंच गई है. साथ ही इतनी जांचों के बावजूद प्रदेश में संक्रमण दर 4 फीसदी ही बना हुआ है. यानी बीमारी के बेतहाशा फैलने की कोई बात नही है.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना से लड़ाई में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) ने एक और रिकार्ड कायम किया है. 30 सितम्बर के ताजा आंकड़े के अनुसार यूपी में कोरोना जांच (Corona Test) की संख्या 1 करोड़ पहुंच गई है. पूरे देश में ये सबसे ज्यादा है. जाहिर है यूपी ने वो कलंक धो दिया है, जब कहा जाता था कि इतने बड़े प्रदेश में इतनी कम जांचें की जा रही हैं. इसे लेकर विपक्षी पार्टियों ने सरकार को घेरने के लिए मुद्दा भी बनाया था.

जांचें बढ़ने के बावजूद संक्रमण दर 4 फीसदी पर बरकरार

सीएम योगी आदित्यनाथ के सचिव आलोक कुमार ने ये जानकारी देते हुए खुशी जाहिर की है कि प्रदेश में जांचों की संख्या एक करोड़ के पार पहुंच गई है. साथ ही साथ सुकून की बात ये है कि इतनी जांचों के बावजूद प्रदेश में संक्रमण दर 4 फीसदी ही बना हुआ है. यानी बीमारी के बेतहाशा फैलने की कोई बात नही है. जहां पहले अंदेशा जताया जा रहा था कि जैसे-जैसे जांच की रफ्तार बढ़ेगी वैसे-वैसे संक्रमण के मामले भी बढ़े हुए सामने आयेंगे. लेकिन, सरकार के लिए तसल्ली की बात ये है कि जांचों की संख्या बढ़ाये जाने के बाद भी संक्रमण दर में बढ़ोतरी दर्ज नहीं की गई है.



और तो और इसमें अब गिरावट देखी जा रही है. संक्रमण दर का 4 फीसदी पर रूका रहना इस बात की गवाही दे रहा है. ये सही बात है कि यूपी में जो भी जाचें की जा रही हैं, उनमें एक बड़ा हिस्सा एन्टीजन जाचों का है. यानी किट से फटाफट वाली जांच लेकिन, ये भी सही है कि हर रोज 50 हजार से ज्यादा जाचें रियल टाइम आरटी पीसीआर से भी की जा रही हैं.


रोजना डेढ़ लाख तक बढ़ी जांच की रफ्तार

बता दें कि 29 सितम्बर तक प्रदेश में 99 लाख 40 हजार जांचें हो चुकी थीं. अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार चला गया है. पिछले कई हफ्तों से यूपी में प्रति दिन डेढ़ लाख से ज्यादा जाचें की जा रही हैं. 26 अगस्त तक प्रदेश में 50 लाख जांचें की जा सकी थीं लेकिन, अगले एक महीने में ही यानी 30 सितम्बर तक 50 लाख जांचें और कर ली गयीं.

सबसे ज्यादा मरीज वाले महाराष्ट्र में 67 लाख जांचें

बता दें कि कोरोना जांच की रफ्तार अगस्त महीने के पहले सप्ताह से काफी बढ़ायी गयी है. सबसे ज्यादा मरीज वाले राज्य महाराष्ट्र में अभी तक 67 लाख जाचें की गई हैं. इसी तरह आंध्र प्रदेश में 57 लाख, कर्नाटक में 48 लाख, और तमिलनाडु में 72 लाख जाचें की गई हैं. ये सभी राज्य कोरोना के मामले में यूपी से आगे हैं. यूपी लगभग 4 लाख कोरोना मामले के साथ देश में पांचवें नम्बर पर है. अभी तक 5715 लोग इस बीमारी से अपनी जान गंवा बैठे हैं, जबकि 3 लाख 36 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज