ओवैसी के कांवड़ यात्रा और नमाज पर आए Tweet पर भड़की बीजेपी, बताया मानसिक दिवालिया

बीजेपी प्रवक्ता डॉ चंद्रमोहन ने कहा कि ओवैसी जी ने जो कांवड़ यात्रा को लेकर टिप्पणी की है, वह उनका मानसिक दिवालियापन है. उन्हें पता ही नहीं है कि कांवड़ यात्रा क्या है? और कांवड़ यात्रा की पुष्प वर्षा क्या है?

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 26, 2018, 12:17 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 26, 2018, 12:17 PM IST
उत्तर प्रदेश के नोएडा में पार्क में नमाज पर रोक लगाने के मामले में सियासत तेज हो गई है. इस मुद्दे को लेकर एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर यूपी पुलिस पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि कांवड़ियों के लिए फूल बरसाने वाली पुलिस को हफ्ते में एक बार पढ़ी जाने वाली नमाज़ से दिक्कत होती है. वहीं ओवैसी के इस ट्वीट पर बीजेपी भड़क गई है. पार्टी ने ओवैसी की टिप्पणी को उनका मानसिक दिवालियापन करार दिया है.

कांवड़ियों पर फूल बरसाने वाली यूपी पुलिस को नमाज से दिक्कत होती है: ओवैसी

बीजेपी प्रवक्ता डॉ चंद्रमोहन कहते हैं कि असदुद्दीन ओवैसी को जानकारी नहीं है. तथ्यों के प्रति वे हमेशा से अनभिज्ञ रहे हैं. नोएडा पुलिस ने जो किया है, वह बिलकुल सही है. सार्वजनिक पार्क में इस तरह का आयोजन, जिस पर लोग आपत्ति कर रहे हों, उसे प्रतिबंधित करने और शांति व्यवस्था को लेकर उठाया कदम सराहनीय है.

वहीं ओवैसी जी ने जो कांवड़ यात्रा को लेकर टिप्पणी की है, वह उनका मानसिक दिवालियापन है. उन्हें पता ही नहीं है कि कांवड़ यात्रा क्या है? और कांवड़ यात्रा की पुष्प वर्षा क्या है? उन्होंने कहा कि यूपी सरकार कांवड़ यात्रा के साथ मोहर्रम, सिखों के पर्व, जैनों के पर्व सभी की चिंता करती है. सवाल उनसे पूछना चाहिए जो अयोध्या में दीपोत्सव पर कोई काम नहीं करते थे. बृज में होली की चिंता नहीं करते थे. रक्षाबंधन की चिंता नहीं करते थे. यूपी पुलिस ने कांवड़ ​यात्रियों का जो अभिनंदन किया, वह सराहनीय है.

बता दें असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा, ''उत्तर प्रदेश की पुलिस ने कांवड़ियों के लिए फूल बरसाए थे, लेकिन हफ्ते में एक बार पढ़ी जाने वाली नमाज़ से शांति और सद्भाव बिगड़ सकता है. ये बिल्कुल वैसा हुआ कि आप मुसलमानों से कह रहे हो कि आप कुछ भी कर लो, लेकिन गलती तो आपकी ही होगी.''

उन्होंने आगे कहा कानून के मुताबिक, ये कहां तक सही है कि कोई कंपनी ये तय करे कि एक कर्मचारी अपनी निजी जिंदगी में क्या करता है.

 
Loading...




क्या है मामला?

उत्तर प्रदेश के नोएडा में सार्वजनिक जगहों पर बिना इजाज़त नमाज़ पढ़ने पर पुलिस ने रोक लगा दी है. पुलिस ने ये फ़ैसला नोएडा सेक्टर 58 के एक सरकारी पार्क में होने वाली नमाज़ की शिकायत मिलने पर लिया.

नोएडा के पार्कों में नमाज़ को रोकने के लिए पास के गांव वालों ने पुलिस को शिकायत की थी. न्यूज़ 18 इंडिया को वो शिकायती चिट्ठी मिली है. 16 दिसम्बर को दर्ज कराई गई इस शिकायत में पुलिस से पार्क में नमाज़ को रोकने की मांग की गई थी.

ये भी पढ़ें:

मैनपुरी: क्रिसमस पर 20 ईसाइयों ने अपनाया हिंदू धर्म, बजरंग दल ने करवाया यज्ञ

PHOTOS: प्रयागराज की सड़कों पर नागा साधुओं की तलवारबाजी, हाथी, घोड़े पर सवार दिखे संत

राम मंदिर पर आया अध्यादेश तो जाएंगे सुप्रीम कोर्ट: बाबरी एक्शन कमेटी

 
First published: December 26, 2018, 11:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...