कुलदीप सिंह सेंगर BJP से पहले ही किये जा चुके हैं निलंबित: स्वतंत्र देव सिंह

यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह इस मामले में विपक्ष के आरोपों से सहमत नहीं दिखते. उन्होंने कहा कि सरकार ने मामले में एक्शन लिया है. इसकी सीबीआई जांच हो रही है और आरोपी विधायक जेल में हैं.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 3:18 PM IST
कुलदीप सिंह सेंगर BJP से पहले ही किये जा चुके हैं निलंबित: स्वतंत्र देव सिंह
बीजेपी से निलंबित हो चुके हैं विधायक कुलदीप सिंह सेंगर
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 3:18 PM IST
उन्नाव रेप मामला एक बार फिर सुर्खियों में है. उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट के बाद यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पहले ही पार्टी से निलंबित किया जा चुका हैं. उन्होंने कहा कि जब तक इस मामले की सीबीआई जांच चल रही है, विधायक कुलदीप सिंह सेंगर बीजेपी से निलंबित रहेंगे.

बता दें कि सोमवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर बीजेपी से पूछा था कि अब तक विधायक को पार्टी से क्यों नहीं निकाला गया? उन पर रेप का मुकदमा तो दर्ज था ही अब हत्या और हत्या के प्रयास का नया मुकदमा भी दर्ज हो गया है. बीजेपी अब किस चीज का इंतजार कर रही है.

सपा का आरोप- सरकार के चहेते विधायक हैं सेंगर

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी (सपा) ने भी यूपी की योगी सरकार और बीजेपी पर कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने का आरोप लगाया है. सपा एमएलसी सुनील सिंह साजन ने कहा कि कुलदीप सिंह सेंगर सरकार के सबसे चहेते विधायक हैं. लिहाजा योगी सरकार उन्हें बचा रही है.

बीजेपी ने किया ख़ारिज

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह विपक्ष के आरोपों से सहमत नहीं दिखते. उन्होंने कहा कि सरकार ने मामले में एक्शन लिया है. इसकी सीबीआई जांच हो रही है और आरोपी विधायक जेल में हैं. बीजेपी के मीडिया प्रभारी राकेश त्रिपाठी ने कहा कि पार्टी उन्हें पहले ही निलंबित कर चुकी है. पिछले साल (2018) पार्टी ने यह कदम उठाया था, लेकिन मीडिया में कोई प्रेस रिलीज़ जारी नहीं किया गया था.



सभी दलों में रह चुके हैं कुलदीप सिंह सेंगर

बता दें कि बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 2017 में चौथी बार विधायक बने हैं. सेंगर इससे पहले सपा और बसपा से भी विधायक चुने जा चुके हैं. उन्होंने तीनों ही दलों की सरकारों में सत्ता का सुख भोगा है. कहा जाता है कि उन्हें सूबे के क्षत्रिय नेताओं का भी समर्थन प्राप्त है.

दुर्घटनाग्रस्त इसी कार में पीड़ित लड़की और उसके रिश्तेदार सवार होकर लौट रायबरेली से उन्नाव लौट रहे थे. उनके साथ उनका वकील भी कार में सवार था.


यह है पूरा मामला
विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता परिजनों समेत रविवार को रायबरेली में सड़क दुर्घटना का शिकार हो गई थी. जिस कार से वो और उसके रिश्तेदार जा रहे थे उसका बीच रास्ते ट्रक से टक्कर हो गई थी. इस हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि हादसे में उसके वकील महेंद्र सिंह चौहान और रेप पीड़िता की हालत गंभीर है. प्रशासन ने ऐलान किया है कि दुर्घटना में घायल दोनों लोगों (रेप पीड़िता और उसके वकील) के इलाज के लिए राज्य सरकार सभी चिकित्सा खर्च वहन करेगी.

घायलों का लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है.

कौन हैं कुलदीप सिंह सेंगर
मूल रूप से फतेहपुर जिले के रहने वाले बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की माखी गांव में तूती बोलती है. वो उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से लगातार 4 बार जीतकर विधायक निर्वाचित हुए हैं. उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र के सराय थोक पर उनका ननिहाल है. वो यहीं आकर बस गए. कुलदीप सेंगर ने यूथ कांग्रेस से अपनी राजनीति की शुरूआत की थी. वर्ष 2002 में भगवंतनगर से बीएसपी के टिकट पर वो सबसे पहली बार विधायक बने. इसके बाद 2007 और 2012 में सपा के टिकट पर चुने गए. जबकि वर्ष 2017 में वो उन्नाव जिले के बांगरमऊ से बीजेपी के टिकट पर चुनकर विधानसभा पहुंचे.
First published: July 30, 2019, 2:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...