जौनपुर में जबरन धर्म परिवर्तन कराने के प्रकरण की जांच होगी: बीजेपी

शुक्ला ने आरोप लगाया कि इसके पहले जुलाई 2014 में भी जौनपुर के नेवढ़िया में ईसाई मिशनरियों ने लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया था.

भाषा
Updated: September 11, 2018, 7:13 PM IST
जौनपुर में जबरन धर्म परिवर्तन कराने के प्रकरण की जांच होगी: बीजेपी
सांकेतिक तस्वीर
भाषा
Updated: September 11, 2018, 7:13 PM IST
भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में जबरन, धोखे से और लालच देकर धर्म परिवर्तन कराने के प्रकरण की जांच होगी.

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा, 'उत्तर प्रदेश में जबरदस्ती, धोखे से और लालच देकर धर्म-परिवर्तन कराने की जांच होगी. जौनपुर में धोखे और लालच के सहारे हिन्दू परिवारों का धर्मांतरण हुआ.'

शुक्ला ने कहा, 'इस बात की भी जांच होगी कि पिछले 14-15 सालों से किसने दुर्गा प्रसाद यादव, कीरित रॉय और जितेंद्र सहित 271 लोगों को जौनपुर सहित चार जिलों में गरीबों और पिछड़ों को धोखा देकर, बहला-फुसलाकर और रुपयों का लालच देकर ईसाई धर्म में शामिल करने की छूट दी थी.'

उन्होंने कहा कि दुर्गा प्रसाद यादव और उसके कुछ साथी गांव के भोले-भाले अनपढ़ लोगों को अंधविश्वास का सहारा लेकर जानलेवा बीमारी का गलत उपचार करते थे. गंभीर बीमारी ठीक होने की झूठी गवाही लोगों से दिलवा कर धर्म परिवर्तन कराते रहे हैं.

शुक्ला ने आरोप लगाया कि इसके पहले जुलाई 2014 में भी जौनपुर के नेवढ़िया में ईसाई मिशनरियों ने लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया था. उन्होंने कहा कि सबसे दुखद और आश्चर्यजनक पहलू है कि पिछली सरकार में धर्मान्तरण की शिकायत करने वालों के खिलाफ मुकदमे कायम होते रहे, क्योंकि धर्मान्तरण कराने वालों को तत्कालीन सरकार का संरक्षण था.

ये भी पढ़ें: जौनपुर: पूरे गांव का कराया धर्म परिवर्तन, 271 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पादरी फरार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर