UP: एक्शन में BJP, आयोग और निगमों में पद देकर कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने की तैयारी

उत्तर प्रदेश में बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. (File Photo: सीएम योगी और बीएल संतोष)

उत्तर प्रदेश में बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. (File Photo: सीएम योगी और बीएल संतोष)

Lucknow News: बीजेपी संगठन ने सरकार के साथ मिलकर कई खाली पदों को भरने की कवायद शुरू कर दी है, 1 महीने में प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. यानि चुनाव का बिगुल बजने के कुछ महीने पहले इन पदों को भरकर कार्यकर्ताओं की नाराजगी को बहुत हद तक कम करने की कोशिश की जाएगी.

  • Share this:

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष के 3 दिन लखनऊ (Lucknow) में रह कर योगी सरकार के मंत्रियों और पार्टी विधायकों से मिलने के नतीजे अब सामने आने लगे हैं. जानकारी के मुताबिक बीएल संतोष ने प्रदेश के मंत्रियों और पदाधिकारियों से वर्तमान हालात को लेकर जो बातचीत की, उसमें आगामी चुनाव की चिंता के साथ कार्यकर्ताओं की उपेक्षा भी बड़ा मुद्दा रही. इसमें सबसे ज्यादा शिकायतें इस बात की थी कि प्रदेश में तमाम निगम आयोगों और प्रकोष्ठ में जगह खाली हैं और सरकार इन्हें भर नहीं रही है, इसके चलते बड़ी दिक्कतें हो रही हैं. पता चला कि एक तरफ कई पद खाली हैं तो कार्यकर्ता सरकार में उचित स्थान न मिल पाने के कारण खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं.

अब राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष के जाने के बाद संगठन में सुगबुगाहट तेज हो गई है. सूत्र बताते हैं कि संगठन ने सरकार के साथ मिलकर इन खाली जगहों को भरने की कवायद शुरू कर दी है, जो आने वाले 1 महीने में पूरी हो जाएगी. यानि चुनाव का बिगुल बजने के कुछ महीने पहले इन पदों को भरकर कार्यकर्ताओं की नाराजगी को बहुत हद तक कम करने की कोशिश शुरू की जायेगी.

कई पद हैं खाली

जानकारी के मुताबिक प्रदेश में अल्पसंख्यक आयोग, अनुसूचित जाति आयोग, अन्य पिछड़ा आयोग में अध्यक्ष का पद लंबे समय से खाली हैं. भाजपा में महिला मोर्चा, किसान मोर्चा, युवा मोर्चा अनुसूचित जाति मोर्चा, अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा और अल्पसंख्यक मोर्चा में अध्यक्ष भी नहीं हैं. भारतीय जनता पार्टी के मीडिया विभाग, मीडिया संपर्क विभाग, प्रशिक्षण विभाग, प्रचार-प्रसार विभाग में टीम की कमी है. विधि प्रकोष्ठ, बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ, चिकित्सा प्रकोष्ठ, व्यापार प्रकोष्ठ समेत कई प्रकोष्ठों मे नियुक्तियां होनी बाकी है.आगामी विधानसभा चुनावों के चलते कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने और उन्हें मज़बूत करने के लिये ज़रूरी है कि उन्हें कुछ ज़िम्मेदारियां दी जाएं. लिहाज़ा अब संगठन और सरकार ने इस पर सहमति जताई है कि जल्द ही इन जगहों को भरा जाये जिससे कि संगठन और मज़बूत हो सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज