यूपी बोर्ड एक्जाम 2019: पहली बार बिना किसी गैप के 16 दिन में संपन्न हो जाएंगी परीक्षाएं

डिप्टी सीएम डॉक्टर दिनेश शर्मा ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को परीक्षाओं का टाइमटेबल जल्द तैयार करके शासन में भेजने के निर्देश दिए हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 11, 2018, 3:05 PM IST
यूपी बोर्ड एक्जाम 2019: पहली बार बिना किसी गैप के 16 दिन में संपन्न हो जाएंगी परीक्षाएं
दिनेश शर्मा (file photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 11, 2018, 3:05 PM IST
माध्यमिक शिक्षा परिषद की यूपी बोर्ड की 2019 की परीक्षाएं 7 फरवरी से शुरू होंगी. इतना ही नहीं पहले जो परीक्षाएं एक से डेढ़ महीना चला करती थीं वह इस बार महज 16 दिन में खत्म होंगी. डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को परीक्षाओं का टाइमटेबल जल्द तैयार करके शासन में भेजने के निर्देश दिए हैं.

परीक्षा के मद्देनजर सभी डीआईओएस को परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण की कार्यस्थिति 15 सितंबर तक देने को कहा गया है. परीक्षा नकलविहीन बनाने के लिए इस बार खास तैयारी की जा रही है. लखनऊ के डीआईओएस डॉ मुकेश कुमार सिंह बताते हैं कि गत वर्ष परीक्षा कक्ष में 1-1 सीसीटीवी लगाया गया था लेकिन इस साल हर कक्ष में एक सीसीटीवी कैमरा आगे और एक पीछे लगाया जाएगा. इसके साथ ही वॉयस रिकॉर्डर लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं, जिससे कोई बोल कर भी नकल न करा सके.

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि अगर परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में कोई गड़बड़ी हुई तो डीआईओएस ही सीधे तौर पर जिम्मेदार होंगे. उन्होंने संवेदनशील परीक्षा केंद्र चिन्हित करने और ब्लैक लिस्टेड विद्यालयों को परीक्षा केंद्र न बनाने के लिए कहा है. प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर एक स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की जाएगी. पिछले साल के मुकाबले इस साल करीब 9 लाख, 35 हजार छात्र यूपी बोर्ड परीक्षाओं में कम हुए हैं. विभाग का मानना है कि ऐसा पिछले साल हुई नकल विहीन परीक्षा के चलते हुआ है.

कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

- 7 फरवरी, 2019 से शुरू होंगी. यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं
- महज 16 दिन में खत्म होंगी यूपी बोर्ड की परीक्षाएं
- 2019 बोर्ड परीक्षा के लिए 57 लाख, 87 हजार छात्र पंजीकृत
- 2018 बोर्ड परीक्षा से घट गए करीब 9 लाख, 35 हजार छात्र
- 2018 की बोर्ड परीक्षा में 67 लाख, 22 हजार छात्र थे पंजीकृत

इस बार व्यक्तिगत परीक्षा में भी घटे छात्र
- 2018 की बोर्ड परीक्षा में 1 लाख, 81 हजार छात्रों ने भरा था प्राइवेट फार्म
- 2019 की बोर्ड परीक्षा के लिए सिर्फ 92,384 छात्रों ने भरा प्राइवेट फॉर्म
- इस बार परीक्षा कक्ष में दो सीसीटीवी कैमरों के साथ लगेंगे वॉयस रिकॉर्डर भी

(रिपोर्ट: शैलेश अरोड़ा)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर