लाइव टीवी

UP Budget 2020: योगी सरकार के चौथे बजट में मदरसों के लिए 479 करोड़ रुपये
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 18, 2020, 1:01 PM IST
UP Budget 2020: योगी सरकार के चौथे बजट में मदरसों के लिए 479 करोड़ रुपये
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने योगी सरकार का बजट पेश किया. (फाइल फोटो)

UP Budget 2020-21: उत्‍तर प्रदेश के वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना की ओर से पेश बजट में काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए मंगलवार को उत्‍तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Suresh Khanna) ने विधानसभा में प्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा बजट (Budget) पेश किया. योगी सरकार ने 5,12,860.72 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. यह पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 के मुकाबले 33,159 करोड़ रुपये ज्यादा है. योगी सरकार के चौथे बजट में अल्पसंख्यक कल्याण (Minority Welfare) के तहत प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के लिए 783 करोड़ रुपये और मान्यता प्राप्त मदरसों और मकतबों के लिए 479 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट भाषण पढ़ते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में शिक्षा, स्वच्छता, स्वास्थ्य, पेयजल और मूलभूत सुविधाओं में सुधार के लिए 783 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है. इसके अलावा मान्यता प्राप्त मदरसों और मकतबों में धार्मिक शिक्षा के साथ-साथ आधुनिक विषयों की शिक्षा की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से 479 करोड़ की व्यवस्था प्रस्तावित है.

पिछले साल पेश हुए बजट में अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्रों को छात्रवृत्ति योजना हेतु 942 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई थी, जबकि अरबी-फारसी मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 459 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था.

काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़



सरकार ने अयोध्या में उच्चस्तरीय पर्यटक अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 85 करोड़ की व्यवस्था की है. वहीं, तुलसी स्मारक भवन के लिए 10 करोड़ का प्रावधान किया गया है. इसी तरह से वाराणसी में संस्कृति केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़ और पर्यटन इकाई के प्रोत्साहन के लिए 50 करोड़ की व्यवस्था की गई है. यही नहीं गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के लिए 25 करोड़ रुपये और काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था की गई है.

वृद्धावस्था/किसान पेंशन योजना के लिए 1459 करोड़
समाज कल्याण में वृद्धावस्था/किसान पेंशन योजना के लिए 1459 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है. इसी तरह से राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए 1251 करोड़ रुपये, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के लिए 500 करोड़ रुपये, मुख्यमंत्री सामूहिक योजना के लिए 250 करोड़ और पिछड़े वर्ग के छात्र छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति योजना के लिए 1375 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है.

ये भी पढ़ें:

बच्चियों से रोज हो रहे बलात्कार लेकिन भाजपा सरकार में नहीं है लोकलाज: अखिलेश

एशिया की सबसे बड़ी परीक्षा शुरू, 56 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 11:45 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर