लाइव टीवी

UP By Election Result 2019: बसपा को कोई खास फायदा नहीं, जलालपुर को छोड़कर सभी सीटों पर फिसड्डी

Manish Kumar | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 24, 2019, 1:02 PM IST
UP By Election Result 2019: बसपा को कोई खास फायदा नहीं, जलालपुर को छोड़कर सभी सीटों पर फिसड्डी
बसपा सुप्रीमो मायावती की फाइल फोटो

उपचुनाव (UP By Election 2019) में उतरने से बसपा को कोई खास फायदा होता नहीं दिखाई दे रहा है. फाइनल नतीजे तो अभी आने बाकी हैं लेकिन, रूझानों के अनुसार बसपा न तो कोई फायदा उठाती हुई दिखाई दे रही है और ना ही सपा को नुकसान करती हुई.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी में होने वाले 11 सीटों पर उपचुनाव (By Election 2019) में जब बसपा (BSP) ने भी उतरने का एलान किया तो सभी के लिए ये चौकाने वाली बात थी, क्योंकि बसपा ने पहले कभी उपचुनाव नहीं लड़ा था. तभी से ये कयास लगाये जा रहे थे कि आखिर पार्टी ने ऐसा क्यों किया. कारणों पर बाद में बात करेंगे लेकिन, उपचुनाव में उतरने से बसपा को कोई खास फायदा होता नहीं दिखाई दे रहा है. फाइनल नतीजे तो अभी आने बाकी हैं लेकिन, रूझानों के अनुसार बसपा न तो कोई फायदा उठाती हुई दिखाई दे रही है और ना ही सपा को नुकसान करती हुई.

जलालपुर सीट बचाने में हो सकती है कामयाब

इस उपचुनाव में बसपा की सफलता बस इतनी भर है कि वो अपनी जलालपुर सीट बचाने में कामयाब होती दिखाई दे रही है. जलालपुर से बसपा की छाया वर्मा आगे चल रही हैं लेकिन, बाकी 10 सीटों पर बसपा की हालत बेहद पतली दिखाई दे रही है. कई सीटों पर तो वो चौथे या पाचवें पोजिशन पर है. गंगोह में बसपा के कैंडिडेट अब्दुल कयूम चौथे नंबर पर चल रहे हैं. प्रतापगढ़ में रंजीत सिंह पटेल पांचवे नंबर पर चल रहे हैं. मानिकपुर, बलहा और घोसी में बसपा तीसरे नंबर पर चल रही है. बाराबंकी की जैदपुर में चौथे नंबर की पार्टी बनकर रह गयी है. यही हाल लखनऊ कैंट का भी है. सिर्फ अलीगढ़ की इगलास सीट पर बसपा दूसरे नंबर पर है. कुल मिलाकर अभी तक के रूझानों के मुताबिक बसपा को जलालपुर को छोड़कर कहीं भी फायदा होता नहीं दिखाई दे रहा है. यह सीट 2017 में भी बसपा के पास ही थी.

एक सीट छोड़ सभी पर पीछे

यूपी में हो रहे उपचुनावों के बारे में कहा जा रहा है कि उपचुनाव में दूसरे नंबर पर कौन रहेगा इसका भी एक अलग महत्व है. इस नजरिये से बसपा एक सीट को छोड़कर अभी तक की गिनती के मुताबिक कहीं भी दूसरे नंबर पर नहीं है. असल में दूसरे नंबर पर रहने के महत्व को उस तथ्य से जोड़कर देखा जा रहा है जिसके तहत ये कहा जा रहा है कि दूसरे नंबर पर रही पार्टी भाजपा का विकल्प बन सकती है. हालांकि अभी तक के रूझानों में बसपा यूपी में भाजपा का विकल्प बनती हुई नहीं दिखाई दे रही है.

सपा को नुकसान के लिए उपचुनाव लड़ा

दूसरी तरफ ये भी कहा जा रहा था कि बसपा इसलिए उपचुनाव में उतरी है जिससे सपा को नुकसान पहुंचाया जा सके, लेकिन ऐसा भी होता नहीं दिखाई दे रहा है. जिन 11 सीटों पर उपचुनाव हुए हैं उनमें से सिर्फ 1 सीट सपा के पास है. रामपुर, और इस सीट पर सपा की कैंडिडेट तज़ीन फात्मा पुरजोर बढ़त बनायी हुई हैं. रामपुर में बसपा के जुबैर मसूद खान को तो अभी तक 1 हजार वोट भी नहीं मिल पाये हैं.
Loading...

वैसे तो बसपा को उपचुनाव में जो भी वोट मिल रहे हैं पार्टी उसे अपनी सफलता के तौर पर बता सकती है क्योंकि इससे पहले कभी पार्टी ने उपचुनाव लड़ा नहीं. वैसे 11 सीटों में से 2017 के विधानसभा चुनाव में 1 ही सीट बसपा के पास थी जलालपुर. पार्टी की कैंडिडेट छाया वर्मा इस सीट पर बढ़त बनाई हुई हैं.

ये भी पढ़ें:

Rampur Bye Election Result 2019: आज़म खान की पत्नी तजीन फातिमा आगे

लखनऊ कैंट उपचुनाव Result LIVE: शुरूआती रुझान में बीजेपी के सुरेश तिवारी आगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 1:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...