UP By-Election Result: सपा-बसपा की जुगलबंदी ने किया योगी-मौर्य का किला ध्वस्त

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी लोकसभा उपचुनाव में पार्टी की हार स्वीकार कर ली है.

Amit Tiwari | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 7:12 PM IST
UP By-Election Result: सपा-बसपा की जुगलबंदी ने किया योगी-मौर्य का किला ध्वस्त
जीत के बाद सपा कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल
Amit Tiwari
Amit Tiwari | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 7:12 PM IST
गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी का परचम लहराया है. फूलपुर में सपा के नागेन्द्र सिंह पटेल ने बीजेपी के कौशलेन्द्र सिंह पटेल को हराकर बड़ी जीत दर्ज की है. नागेन्द्र सिंह पटेल ने कौशलेन्द्र को 59,613 वोटों से हराया. वहीं गोरखपुर सीट पर भी सपा के प्रवीण निषाद ने जीत दर्ज की है. निषाद ने बीजेपी के उपेंद्र दत्त शुक्ला को 21, 961 मतों से हराकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे से खाली हुई गोरखपुर सीट पर कब्ज़ा जमाया.

दरअसल दरअसल करीब तीन दशक बाद गोरक्षनाथ पीठ का कोई उम्मीदवार मैदान में नहीं था. बीजेपी ने यहां से उपेन्द्र दत्त शुक्ला को मैदान में उतारा. लेकिन सपा, बसपा और क्षेत्रीय पार्टियों की जुगलबंदी के आगे योगी का किला ध्वस्त हो गया. प्रवीण निषाद को 4, 56, 437 वोट मिले, जबकि उपेंद्र शुक्ला को 4, 34, 476 वोट प्राप्त हुए.

यही हाल फूलपुर में रहा. 2014 में पहली बार कमल खिलाने वाले केशव प्रसाद मौर्य की विरासत को कौशलेन्द्र सिंह पटेल संभाल नहीं सके. इलाहाबाद की फूलपुर लोकसभा सीट उपचुनाव में जीत का सेहरा समाजवादी पार्टी के नागेन्द्र सिंह पटेल के सिर बंधा. नागेन्द्र पटेल ने बीजेपी के कौशलेन्द्र सिंह पटेल को 59,613 वोटों से हराया. नागेन्द्र सिंह पटेल को 3, 42,796 वोट मिले. जबकि बीजेपी के कौशलेन्द्र को 2, 83, 183 मत प्राप्त हुए. निर्दलीय अतीक अहमद तीसरे नंबर पर रहे. कांग्रेस के मनीष मिश्रा 19, 334 मतों के साथ चौथे नंबर पर रहे.

जीत के बाद नागेन्द्र सिंह पटेल ने न्यूज18 से बातचीत में जीत का श्रेय समाजवादियों को दिया. उन्होंने कहा कि यह जीत समाजवादियों की जीत है. जीतना भी हो सकेगा वे जनता के विकास के लिए काम करेंगे. उन्होंने बसपा के समर्थन को भी जीत के लिए अहम बताया.

नागेन्द्र सिंह पटेल ने कहा, “बहनजी का भी बहुत आशीर्वाद था. एक ही विचारधारा के लोग साथ आए और हमारी जीत हुई. जीत का श्रेय अखिलेश जी, बहन मायावतीजी और फूलपुर की जनता को देता हूं.”

उपचुनाव में हार पार्टी के लिए सबक, होगी समीक्षा
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी लोकसभा उपचुनाव में पार्टी की हार स्वीकार कर ली है. सीएम योगी ने कहा कि जनता ने जो फैसला दिया है, उसे हम स्वीकार करते हैं. हमारे लिए ये परिणाम अप्रत्याशित हैं. हम लोगों ने कड़ी मेहनत की थी लेकिन कहां कमी रह गई. हम जल्द ही इसकी समीक्षा करेंगे. सीएम ने कहा कि मैं गोरखपुर और फूलपुर से विजयी प्रत्याशियों को बधाई देता हूं और विश्वास करता हूं कि वे जनता के लिए काम करेंगे. इस दौरान सीएम ने विजयी प्रत्याशियों को बधाई दी. साथ ही कहा कि प्रदेश के अंदर राजनीतिक सौदेबाजी का जो दौर शुरू हुआ है, उसे हम रोकने का प्रयास करेंगे. हम रणनीति बनाएंगे.

योगी ने कहा कि उपचुनाव में लोकल मुद्दे हावी हो जाते हैं. हमारे लिए दोनों ही चुनाव सबक हैं. इसकी समीक्षा होनी चाहिए. ताकि भविष्य में हम बेहतर प्रदर्शन कर सकें. सीएम ने कहा कि जब प्रत्याशी घोषित हुए, तब सभी के प्रत्याशी अलग थे. लेकिन चुनाव के दौरान सपा बसपा के बीच आपसी सौदेबाजी हुई. इसे हमें समझने में कहीं न कहीं कमी रह गई. हमारी दोनों सीटों पर बीजेपी प्रत्याशी का हारना समस्या का विषय है. हम बेहतर योजना बनाकर कार्य करके दिखाएंगे.

उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि प्रदेश में जो बेमेल राजनीतिक सौदेबाजी शुरू करने का जो दौर शुरू हो रहा है. उसे जनता समझेगी. सीएम ने कहा कि उपचुनाव में मतदान का प्रतिशत कम होना और लोकल मुद्दों का असर रहता है. लेकिन आम चुनाव में ऐसा नहीं होता. उस समय राष्ट्रीय मुद्दे हावी रहेंगे, लोकल मुद्दे कमजोर पड़ जाएंगे.

बसपा का वोट सपा में इस कदर जाएगा, नहीं थी उम्मीद
सपा के इस प्रदर्शन से बीजेपी खेमे में निराशा साफ झलक रही है. अभी तक पार्टी की दोनों जगह ऐतिहासिक जीत का दावा करने वाले डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बुधवार को दोपहर होते-होते निराश नजर आए. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहते हैं, “हमने यह उम्मीद नहीं की थी कि बसपा का वोट इस कदर सपा को ट्रांसफर हो जाएगा. हम चुनाव परिणामों की समीक्षा करेंगे और भविष्य में सपा, बसपा और कांग्रेस के साथ आने की स्थिति में उनसे निपटने की रणनीति बनाएंगे. हम इस नतीजे के बाद 2019 में जीत के लिए भी रणनीति बनाएंगे.”

ये भी पढ़ें- सामाजिक न्याय का राजनीतिक संदेश देती है ये जीत: अखिलेश यादव

बिहार इलेक्शन नतीजे: बीजेपी अध्यक्ष बोले- हार और जीत दोनों की होगी समीक्षा

कांग्रेस से ज्यादा वोट लेकर भी सपा-बसपा पर असर नहीं डाल सके अतीक
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर