UP Bye-Election 2020: जानिए क्या है बसपा की रणनीति, किस सीट पर किसे मिलेगा टिकट?

बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)
बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

UP Bye-election 2020: यूपी उपचुनाव में बसपा (BSP) सर्वाधिक 3 मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में उतारेगी, जबकि दो सुरक्षित सीटों पर अनुसूचित जाति के उम्मीदवार होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 12:39 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की 8 सीटों पर होने विधानसभा उपचुनाव (UP Bye-election 2020) के लिए सभी पार्टियां अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गई हैं. इस बार के उपचुनाव को जहां 2022 के आम चुनाव से पहले सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) के साथ ही विपक्षी दलों के लिए लिटमस टेस्ट के तौर पर देखा जा रहा है, वहीं बसपा (BSP) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने भी अपने प्रत्याशी मैदान में उतारने का ऐलान कर इसे और रोचक बना दिया है. आमतौर पर अभी तक बसपा उपचुनाव से पेर्हेज ही करती रही है, लेकिन इस बार वही भी अपनी किस्मत आजमा रही हैं. इसके पीछे मंशा यही है कि उपचुनाव में पार्टी के लिए खोने को कुछ नहीं है और यदि एक भी सीट उसके खाते में आ गई तो 2022 के लिए एक मजबूत संदेश जाएगा.

दरअसल, जिन 8 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उनमें से 6 सीटों पर बीजेपी का कब्ज़ा रहा था, जबकि दो सीटें समाजवादी पार्टी के पास थी. लिहाजा, बसपा और कांग्रेस के पास खोने को कुछ नहीं और यदि जीत मिल जाती है तो मैसेज स्पष्ट होगा. बसपा सुप्रीमो मायावती की उपचुनाव को लेकर रणनीति वही है जो उन्होंने 2017 के चुनावों में आजमाया था. यानी इस बार भी टिकट बंटवारे में मुस्लिम उम्मीदवारों को तवज्जो के साथ ही सभी जातियों को साधने की कोशिश होगी. बता दें 2017 के चुनाव में बसपा ने 97 मुस्लिम उम्मीदवार मैदान में उतारे थे. उपचुनाव में भी सर्वाधिक तीन मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में होंगे.

इन तीन सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशियों को हरी झंडी
बसपा ने रामपुर की स्वार, बुलंदशहर और अमरोहा की नौगांवा शादात विधानसभा सीट से मुस्लिम प्रत्याशियों को मैदान में उतारने की हरी झंडी दे दी है. इन तीनों ही सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशी के साथ पार्टी अपनी किस्मत आजमाएगी. हालांकि, अभी तक पार्टी ने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान नहीं किया है, लेकिन नाम फाइनल हो चुका है और जल्द ही इस बाबत जानकारी सामने आ जाएगी.
दो सुरक्षित सीटों पर दलित उम्मीदवार


इसके आलवा जिन 8 सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उनमें से दो सीटें सुरक्षित हैं. लिहाजा पार्टी कानपुर के घाटमपुर व फिरोजाबाद की टूंडला सीट से अनुसूचित जाति के प्रत्याशी को मैदान में उतारेगी. दोनों ही सीटों पर पार्टी ने मजबूत प्रत्याशी का चयन कर लिया है. नाम की घोषणा उपचुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही कर दिया जाएगा.

इन तीन सीटों पर ब्राह्मण, ठाकुर और पिछड़ा उम्मीदवार
इसके अलावा देवरिया, जौनपुर की मल्हनी और उन्नाव के बांगरमऊ सीट से बसपा ब्राह्मण, ठाकुर और पिछड़ा उम्मीदवार को मैदान में उतारने की तैयारी में है. पिछले दिनों जिस तरह से विकास दुबे एनकाउंटर के बाद परशुराम के नाम पर राजनीति हुई और विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर ब्राह्मण विरोधी होने का आरोप लगाया, उसके बाद मायावती ने भी बीजेपी को घेरने के लिए देवरिया सीट पर ब्राह्मण कार्ड चल दिया है. पार्टी ने इस सीट से अभायानाथ त्रिपाठी का टिकट फाइनल कर दिया है. इसके अलावा जौनपुर के मल्हनी सीट से ठाकुर उम्मीदवार को टिकट देने की तैयारी है. हालांकि इस सीट पर दो ताकतवर उम्मीदवारों के बीच जोर आजमाईश चल रही है. जल्द ही इस सीट से भी प्रत्याशी घोषित हो जाएगा. इसके अलाव उन्नाव की बांगरमऊ सीट से एक पिछड़ा वर्ग के प्रत्याशी के नाम पर मुहर लग चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज