UP Byelection: वर्चुअल से एक्चुअल हुई बीजेपी, बड़े नेताओं के ताबड़तोड़ दौरे जारी 

उपचुनाव को लेकर सक्रिय हुए बीजेपी के बड़े नेता
उपचुनाव को लेकर सक्रिय हुए बीजेपी के बड़े नेता

UP Byelection 2020: आठ सीटों पर उपचुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने चौतरफा तैयारी शुरू कर दी है. संगठन से लेकर सरकार तक सक्रियता दिखाई पड़ रही है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा (UP Assembly Byelection) की आठ सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर बीजेपी (BJP) एक्शन मोड में है. कोरोना काल में वर्चुअल माध्यम से तैयारियों में जुटी बीजेपी अब एक्चुअल एक्शन में दिख रही है. यही वजह है कि प्रदेश अध्यक्ष से लेकर दोनों उपमुख्यमंत्री व अन्य बड़े नेता चुनावी क्षेत्रों का ताबड़तोड़ दौरे कर रहे हैं. चाहे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का आगरा दौरा हो, जिसमें उन्होंने टुंडला विधानसभा उपचुनाव की तैयारियों का जायजा लिया या फिर देवरिया दौरा. इसी तरह महामंत्री संगठन सुनील बंसल का नौगांव सादात विधानसभा उपचुनाव को लेकर दौरा हुआ तो वहीं डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा उन्नाव के बांगरमऊ विधानसभा का दौरा किया.

CM योगी ने दिए हैं ये निर्देश

बता दें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जब पिछले दिनों अपने सरकारी आवास पर प्रभारी मंत्रियों के साथ बैठक की थी तो साफ-साफ निर्देश दिया था कि जनहित की योजनाओं को जनता के बीच उतार देना है. सरकार की योजनाएं उपचुनाव वाले जिलों में पहले पहुंचनी चाहिए. इसके तहत भी जमीन पर काम शुरु हो गया है. इसी क्रम में घाटमपुर विधानसभा उपचुनाव को देखते हुए डिप्टी सीएम केशव मौर्य कानपुर पहुंचे. घाटमपुर स्थित जनता डिग्री कॉलेज में अकबरपुर, मिश्रिख एवं कानपुर लोकसभा क्षेत्र के चौमुखी विकास हेतु कुल 71 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. इन 71 परियोजनाओं की कुल लागत 24225.42 लाख रुपए तथा कुल लंबाई लगभग 212 किमी है.



कांग्रेस ने कही ये बात
इस तरह से बीजेपी ने चौतरफा तैयारी शुरू कर दी है. संगठन से लेकर सरकार तक सक्रियता दिखाई पड़ रही है. लेकिन चुनावी तैयारियों को लेकर कांग्रेस नेता वीरेन्द्र मदान कहते हैंं कि जनता के सामने बीजेपी की असलियत अब आ चुकी है. जनता अब जग गई है उसे पता है कि बीजपी रोजगार का मुद्दा हो या किसान का सभी जगहों पर फेल हो चुकी है.  बेरोजगारी दिवस मनाए जाने पर मिला समर्थन इसका उदाहरण है.

सपा का है ये दावा

वहीं समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता भी अलग अलग मुद्दोंबेरोजगारी, भ्रष्टाचार, मंहगाई, कानून-व्यवस्था और किसानों की समस्याओं को लेकर सड़क पर हैं. सपा नेता सुनील साजन कहते हैं कि प्रदेशव्यापी प्रदर्शन कार्यकर्ता कर रहे हैं जो बीजेपी को उखाड़ फेंकने के लिए शुरु हो चुका है. दावे सबके अलग अलग हैं लेकिन बीजेपी नेता विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि पार्टी कोरोना काल में वर्चुअल थी, लेकिन अब एक्चुअल मोड मे है. संगठन के कार्यकर्ताओं के अंदर उत्साह भरना नेताओं का कर्तव्य है और इसलिए. बीजेपी के नेता जनता और कार्यकर्ता के बीच पहुंच रहे हैं. मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रभारी मंत्री भी सक्रिय हैं और चुनावी जीतने के लिए काम हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज