होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP Elections: हमले पर गरजे ओवैसी, बोले- 'क्रिकेट मैच पर लिखने वालों पर NSA लगाया था, मेरे साथ भी इंसाफ करना चाहिए'

UP Elections: हमले पर गरजे ओवैसी, बोले- 'क्रिकेट मैच पर लिखने वालों पर NSA लगाया था, मेरे साथ भी इंसाफ करना चाहिए'

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि आप इसकी अच्छे से जांच कराओ,- फाइल फोटो

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि आप इसकी अच्छे से जांच कराओ,- फाइल फोटो

UP Assembly Elections 2022: मेरठ से दिल्ली लौटते वक्त छिजारसी टोल गेट पर असदुद्दीन ओवैसी की कार पर हुए हमले के बाद यूपी की सियासत गर्म है. चुनाव के बीच सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल उठाते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि आप इसकी अच्छे से जांच कराओ, आपकी सरकार में क्रिकेट मैच के बारे में कुछ लिखने पर आपने एनएसए लगा दिया था. आपकी सरकार ने कई दिनों तक लोगों को कस्टडी में रखा. इस मामले में भी आपको इंसाफ करना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. मेरठ से दिल्ली लौटते वक्त छिजारसी टोल गेट पर असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की कार पर हुए हमले के बाद यूपी की सियासत गर्म है. इस घटना के बाद यूपी चुनाव के बीच सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल हो गए हैं. इस मामले पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि आप इसकी अच्छे से जांच कराओ, आपकी सरकार में क्रिकेट मैच के बारे में कुछ लिखने पर आपने एनएसए लगा दिया था. आपकी सरकार ने कई दिनों तक लोगों को कस्टडी में रखा. इस मामले में भी आपको इंसाफ करना चाहिए.

गौरतलब है कि हाल ही में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की कार पर फायरिंग की गई थी. इसके बाद हड़कंप मच गया था. इस मामले पर ओवैसी ने यूपी की कानून व्यवस्था के साथ योगी सरकार पर सवाल उठाए थे. असदुद्दीन ओवैसी ने अपने ऊपर हुए हमले पर कहा कि मैं मौत से नहीं डरता, लेकिन इस हमले के पीछे कौन लोग हैं, उनकी मंशा क्या है इसकी तह तक जाकर जांच होनी चाहिए. ये सुनियोजित हमला है. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि आप इसकी अच्छे से जांच कराओ, आपकी सरकार में क्रिकेट मैच के बारे में कुछ लिखने पर आपने एनएसए लगा दिया था. आपकी सरकार ने कई दिनों तक लोगों को कस्टडी में रखा. इस मामले में भी आपको इंसाफ करना चाहिए.

असदुद्दीन ओवैसी पर हुए हमले के मद्देनजर केंद्र सरकार ने शुक्रवार को हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कमांडो द्वारा ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला किया था. मगर अब ओवैसी ने इस सुरक्षा को ठुकरा दिया है. मेरठ से दिल्ली लौटते वक्त छिजारसी टोल गेट पर अपने ऊपर हुए हमले को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता. मुझे जेड श्रेणी की सुरक्षा नहीं चाहिए, मैं इसे अस्वीकार करता हूं. मुझे ‘ए’ श्रेणी का नागरिक बना दो. मैं चुप नहीं रहूंगा. कृपया न्याय करें … उन पर (हमलावरों को) यूएपीए लगाएं… सरकार से अपील है कि नफरत, कट्टरता को खत्म करने का काम करें.

अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि घटना के बाद ओवैसी पर खतरे के स्तर का नए सिरे से आकलन किया गया. ‘जेड’’ श्रेणी की सुरक्षा के तहत सीआरपीएफ के दूसरे सबसे बड़े कमांडो ओवैसी की 24 घंटे सुरक्षा के लिए तैनात रहेंगे. करीब 16-20 सशस्त्र कमांडो पालियों में तैनात किए जाएंगे. सड़क मार्ग से यात्रा के उन्हें एक ‘एस्कॉर्ट’ और एक ‘पायलट’ वाहन भी प्रदान किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस घटना में शामिल दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और कोर्ट ने उन दोनों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. दोनों के पास से मुंगेर टाइप पिस्टल भी बरामद हुए हैं.

Tags: Asaduddin owaisi, CM Yogi Adityanath, Owaisi Security, UP news, Uttar Pradesh Assembly Elections

अगली ख़बर