बीआरडी में बच्चों की मौत नई बात नहीं: सीएम योगी

News18Hindi
Updated: September 16, 2017, 9:22 PM IST
बीआरडी में बच्चों की मौत नई बात नहीं: सीएम योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में हुई मासूमों की मौत पर कहा कि यह कोई नया मामला नहीं है.
News18Hindi
Updated: September 16, 2017, 9:22 PM IST
मनमोहन राय

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में हुई मासूमों की मौत पर कहा कि यह कोई नया मामला नहीं है. सीएम ने कहा कि उन्होंने खुद इन्सेफेलाइटिस की लड़ाई सड़क से लेकर संसद तक लड़ी है.

ईटीवी/ न्यूज़18 को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “मौतें दुखद हैं. लेकिन इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. मीडिया ने इस मुद्दे को गलत ढंग से प्रचारित किया. हमारी सरकार में लाखों बच्चों को इन्सेफेलाइटिस का टीका लगाया गया, लेकिन मीडिया ने इस बात को प्रचारित नहीं किया.”

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहली बार है कि इन्सेफेलाइटिस से होने वाली मौतों का आंकड़ा पिछले वर्षों की तुलना में कम हुआ है. सीएम ने कहा कि बीआरडी में हुई मौतों को बेवजह ऑक्सीजन की कमी से जोड़ा गया. मीडिया इस मुद्दे को सनसनीखेज बनाना चाहती थी और उसने वही किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जापानी इन्सेफेलाइटिस के लिए वैक्सीन है, लेकिन एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के लिए अभी कोई वैक्सीन नहीं है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह बीमारी गंदगी की वजह से होती है. लेकिन मीडिया ने इसे ऑक्सीजन की कमी से जोड़ दिया. जब मीडिया ने दिखाया कि एक दिन में 60 मौतें हुईं, दरअसल उस दिन सिर्फ 11 मौतें ही हुईं थीं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर पिछले सालों की तुलना करें तो इस साल इन्सेफेलाइटिस होने वाली मौतों का आंकड़ा आधा है. हमारी सरकार प्रयास कर रही है. अभी इस सरकार को सिर्फ 6 महीने ही हुए हैं. मुझे विश्वास है कि यह आंकड़ा और कम होगा.

ये भी पढ़ें-
योगी आदित्यनाथ का पूरा इंटरव्यू यहां पढ़ें
मेरी सरकार में गोली का जवाब गोली से दे रही यूपी पुलिस: सीएम योगी
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर