सहकारिता भर्ती घोटाला: OMR शीट पर भरा एक से अधिक विकल्प, ऐसे किया डिस्‍क्वालिफाई

सहकारिता भर्ती घोटाले में एसआईटी की जांच में कई अहम खुलासे हुए हैं.

सहकारिता भर्ती घोटाले में एसआईटी की जांच में कई अहम खुलासे हुए हैं.

UP में सहकारिता भर्ती घोटाले की SIT जांच में कई अहम खुलासे हुए हैं. एसआईटी की जांच में खुलासा हुआ है कि 11 भर्ती विज्ञापनों से संबंधित पदों के अभ्यर्थियों की OMR शीट के उत्तर विकल्पों में एक से अधिक गोले भर कर उनको डिसक्वालीफाई किया गया.

  • Share this:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में सहकारिता भर्ती घोटाले (Cooperative Recruitment Scam) की SIT जांच (SIT investigation) में अहम खुलासे हुए हैं. एसआईटी ने अपनी जांच में पाया है कि 11 भर्ती विज्ञापनों से संबंधित पदों के अभ्यर्थियों की OMR शीट के उत्तर विकल्पों में एक से अधिक गोले भर कर उनको डिसक्वालीफाई करना प्रतीत हुआ है. इसके साथ ही चयनित अभ्यर्थियों में करीब 90 फीसदी ऐसे अभ्यर्थी मिले, जिनकी ओएमआर शीट के उत्तर विकल्प भरने में एक से अधिक इंक शेड और एक से अधिक पैटर्न का प्रयोग मिला है.

एसआईटी ने अपनी FIR में लिखाया है कि उत्तर प्रदेश सहकारी संस्थागत सेवा मंडल की ओर से वर्ष 2012 से 2017 के बीच कुल 49 विज्ञापित भर्तियों में से मात्र 40 विज्ञापनों की भर्तियां ही पूरी की गई. 9 विज्ञापनों से संबंधित 81 पदों पर भर्ती विभिन्न कारणों से पूरी नहीं हो पाई. इस प्रकार 40 विज्ञापनों में विज्ञापित 2343 पदों के सापेक्ष कुल 2324 पदों पर भर्ती हुई, 19 पदों पर चयन नहीं हुआ. शिकायतकर्ताओं ने पूरी भर्ती प्रक्रिया पर सनसनीखेज आरोप लगाए थे.

शिकायतकर्ताओं ने भर्ती परीक्षा के लिए चुनी गई कंप्यूटर परीक्षा एजेंसी को नियमों के खिलाफ काम देने का आरोप लगाया गया था, कंप्यूटर एजेंसी से मिलीभगत कर अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट की स्कैनिंग में धांधली का आरोप लगा था, एक ही क्षेत्र और जाति विशेष तथा सगे संबंधियों की नियुक्ति का भी आरोप लगा था, शासन के आरक्षण नियमों के खिलाफ नियुक्ति का भी आरोप लगा था. एसआईटी ने जांच के बाद सहकारी संस्थागत सेवा मंडल के तत्कालीन अध्यक्ष रामजतन यादव, सेवा मंडल के तत्कालीन सचिव राकेश कुमार मिश्रा, सदस्य संतोष कुमार श्रीवास्तव और कंप्यूटर एजेंसी एक्सेस डीजी टेक्नो प्राइवेट लिमिटेड के रामप्रवेश यादव पर धोखाधड़ी की गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज