लाइव टीवी
Elec-widget

सोनभद्र मिड डे मील मामला: UP कांग्रेस ने मांगा शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का इस्तीफा

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 30, 2019, 12:05 PM IST
सोनभद्र मिड डे मील मामला: UP कांग्रेस ने मांगा शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का इस्तीफा
सोनभद्र मिड डे मील मामले में UP कांग्रेस ने उठाई शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग

बता दें सोनभद्र के चोपन ब्लाक के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में बुधवार को मिड डे मील के अनुसार दूध देते समय एक बाल्टी पानी में 1 लीटर दूध मिलाकर गर्म किया गया और उसे बच्चों को बांट दिया गया.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सोनभद्र (Sonbhadra) में चोपन ब्लाक के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल (Salaibanwa Primary School) में मिड डे मील में अनियमितता (Midday Meal Irregularities) का मामला सामने आने के बाद सियासत शुरु हो गई है. इसी क्रम में शनिवार को कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने सरकार को घेरते सोनभद्र जिले के प्रभारी व बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी (Satish Dwivedi) के इस्तीफे की मांग की है. उन्होंने कहा कि मिड डे मील में जिस तरीके की गड़बड़ियां हुई हैं उसमें सख्त से सख्त कार्रवाई सरकार को करनी चाहिए.

सरकार ने की कड़ी कार्रवाई- मंत्री सतीश द्विवेदी

वहीं बेसिक शिक्षा मंत्री स्वतंत्र प्रभार और सोनभद्र के प्रभारी मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि घटना जैसे ही संज्ञान में आई, वैसे ही हमारी जिलाधिकारी से बात हुई और वह मौके पर जाकर जांच की. प्रभारी मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि शिक्षामित्र ने साजिशन ऐसा किया ताकि घटना के बाद व्यवस्था उसे सौंप दी जाए. इससे छवि खराब हुई उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए कार्यमुक्त कर दिया गया है. एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है.

क्या था मामला

बता दें सोनभद्र के चोपन ब्लाक के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में बुधवार को मिड डे मील के अनुसार दूध देते समय एक बाल्टी पानी में 1 लीटर दूध मिलाकर गर्म किया गया और उसे बच्चों को बांट दिया गया. स्कूल की रसोईया फूलवंती ने बताया कि उसे एक ही लीटर दूध उपलब्ध कराया गया था और उसने उसे 1 लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर बच्चों को दे दिया. उधर, बेसिक शिक्षा अधिकारी (BSA) ने जांच कर रिपोर्ट शिक्षा निदेशालय भेज दी है. जानकारी के अनुसार रिपोर्ट में बीएसए ने घटना के सही होने की पुष्टि की है. मामले में बीएसए ने एबीएसए के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई है.

वीडियो बनाने वाले शख्स ने कहा- आंखों से देखी पूरी अनियमितता

वहीं दूसरी तरफ मौके पर जांच में पहुंचे एबीएसए मुकेश कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया तो गलती शिक्षामित्र की लगती है और उसे कार्यमुक्त कर दिया गया है. हालांकि बाद में भूल सुधार करते हुए बच्चों को दोबारा भी दूध बांटा गया था. वीडियो बनाने वाले युवक राजवंश चौबे ने बताया कि जब मैं मौके पर गया तो मौके पर मैंने पानी मिलाते हुए खुद अपनी आंखों से देखा. पूछने पर बताया गया कि मैं तो रसोइया हूं, जो मिलता है वहीं हम पिलाते हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें:

योगी सरकार ने यूपी पुलिस में किया बड़ा बदलाव, इतिहास हो गई है .303 रायफल

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 11:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...