लखनऊ जेल से रिहा होने के बाद लल्लू बोले- 'श्रमिकों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार'
Lucknow News in Hindi

लखनऊ जेल से रिहा होने के बाद लल्लू बोले- 'श्रमिकों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार'
लखनऊ जेल से रिहा हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष लल्लू

दरअसल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के निजी सचिव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और अन्य लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (UPCC) के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) की लखनऊ बेंच (Lucknow Bench) से जमानत (Bail) मिलने के बाद बुधवार शाम को जेल से रिहा कर दिया गया है. हालांकि उनकी रिहाई के दौरान सैकड़ों की तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता इक्ट्ठा हुए.

अजय कुमार लल्लू बीजेपी पर पूरी कांफ्रेंस के दौरान हमलावर दिखे. उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद गुड़गांव में मजदूरी की है और वे श्रमिकों का दर्द समझते हैं और उनकी हर बेबसी से वाकिफ हैं. उन्होंने कहा कि 'योगी आदित्यनाथ जी सुन लीजिए अपने श्रमिक भाई-बहनों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार हूं'. लल्लू ने सरकार पर आरोप लगाया कि उन्हें 27 दिन जेल में रखा गया और उनके वकील से भी नहीं मिलने दिया गया.

'सरकार के भ्रष्टाचार को प्रदेश में उजागर करेंगे'
अजय कुमार लल्लू ने शिक्षा विभाग और पशुधन घोटाले को लेकर भी सरकार पर हमला किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार का चेहरा पूरे प्रदेश में उजागर करेगी. उन्होंने सीएम योगी के भी भ्रष्टाचार में लिप्त होने का दावा किया और कहा कि इसीलिए घोटालों को दबाया जा रहा है. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने पशुधन और बेसिक शिक्षा मंत्री का इस्तीफा भी मांगा. बता दें कि 3 जून को हजरतगंज पुलिस ने अजय कुमार लल्लू को गिरफ्तार किया था. राजस्थान से 1000 बस विवाद को लेकर फर्जीवाड़े में एफआईआर दर्ज हुई थी, इसमें अजय कुमार लल्लू पर धोखाधड़ी की गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज है.
ये है पूरा मामला



दरअसल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के निजी सचिव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और अन्य लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया. सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रियंका के निजी सचिव संदीप सिंह, उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में हजरतगंज कोतवाली में परिवहन अधिकारी आरपी त्रिवेदी की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया गया है. यह मुकदमा भारतीय दंड विधान की धारा 420, 467 और 468 के तहत दर्ज किया गया है.

70 बसों का नहीं है कोई रिकॉर्ड

यह मुकदमा उत्तर प्रदेश सरकार के उस आरोप के बाद दर्ज किया गया है, जिसमें कहा गया है कि कांग्रेस द्वारा प्रवासी मजदूरों को उनके गंतव्य तक ले जाने के लिए दी गई 1000 बसों की लिस्ट में शामिल कुछ वाहनों के नंबर दो पहिया, तिपहिया वाहनों तथा कारों के तौर पर दर्ज पाए गए हैं. प्रवक्ता ने बताया कि कांग्रेस की ओर से जिन 1000 बसों की सूची सौंपी गई थी, उनमें 79 पूरी तरह से अनफिट हैं. इसके अलावा 279 बसों का फिटनेस और बीमा संबंधी प्रपत्र एक्सपायर हो चुका है. साथ ही 100 बसें ऐसी हैं, जिनके नम्बर एम्बुलेंस, तिपहिया वाहन, आटो रिक्शा, ट्रक और अन्य वाहनों के नाम पर दर्ज हैं. वहीं, 70 बसों का कोई रिकॉर्ड नहीं है.

ये भी पढे़ं:

प्रयागराज: IPS सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने की सिंगर कनिका कपूर जैसी गलती

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज