COVID-19 Update: UP में 24 घंटे में कोरोना के 4583 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.36 लाख के पार
Lucknow News in Hindi

COVID-19 Update: UP में 24 घंटे में कोरोना के 4583 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.36 लाख के पार
यूपी में कोरोना की वजह से अब तक 2230 लोगों की मौत हो चुकी है.

UP COVID-19 Update: उत्‍तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus Infection) के 4583 नए मामले मिले हैं. इस समय कोरोना के प्रदेश में मामले बढ़कर 1, 36, 238 हो गए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के 4583 नए मामले सामने आये है. जबकि इस दौरान 54 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 2230 हो गई है. यूपी के अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद (Amit Mohan Prasad) ने बताया कि इस समय प्रदेश में 49347 एक्टिव केस हैं.

यूपी में अब तक 84, 661 लोग ठीक
अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में 4583 नये मामले सामने आये हैं. बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 475 नए मामले लखनऊ में सामने आये हैं. बस्ती में 306, कानपुर नगर में 232, प्रयागराज में 227 और गोरखपुर में 224 नए मामले सामने आये हैं. इस समय प्रदेश में कोरोना संक्रमण के उपचाराधीन मामलों की संख्या 49347 है. प्रसाद ने बताया कि कुल 84, 661 लोग पूर्णत: उपचारित होकर अपने घर चले गये हैं. जबकि संक्रमण के कारण कुल 2230 लोगों की मौत हो चुकी है. प्रदेश में 1, 36, 238 मामले कोरोना संक्रमण के हैं.

अब तक कानपुर में सबसे अधिक मौत
इस बीच स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार बीते 24 घंटे में सबसे अधिक सात मौतें राजधानी लखनऊ में हुईं. कानपुर नगर में छह, गोरखपुर में पांच और बरेली में चार लोगों की मौत क्रमण के चलते हुई. संक्रमण की वजह से अब तक सबसे अधिक 284 मौतें कानपुर नगर में हुई हैं. लखनऊ में 168, मेरठ में 119, वाराणसी में 110 और आगरा में 102 लोगों की मौत इस संक्रमण से हो चुकी हैं.



21758 लोग होम आइसोलेशन में हैं
प्रसाद ने बताया कि मंगलवार को 97, 911 नमूनों की जांच की गई और अब तक कुल 34, 12, 346 नमूनों की जांच हो चुकी है. उत्तर प्रदेश देश का ऐसा राज्य है जो हर दिन सर्वाधिक जांच कर रहा है. अपर मुख्य सचिव ने बताया कि मंगलवार को पूल टेस्टिंग के माध्यम से पांच-पांच सैम्पल के 3083 पूल लगाये गये, जिनमें से 522 पॉजिटिव निकले जबकि दस-दस सैम्पल के 164 पूल लगाये गये, जिनमें से 23 पॉजिटिव पाये गये हैं. उन्होंने बताया कि प्रदेश में कुल एक्टिव केसेज में से 21, 758 लोग होम आइसोलेशन में हैं. ये लोग लक्षण विहीन हैं और घर पर रहकर ही स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं. प्रसाद ने बताया कि 39, 678 लोग अब तक घर पर पृथकवास में भेजे जा चुके हैं जबकि 17, 920 लोगों का घर पर पृथकवास समाप्त हो चुका है. भुगतान के आधार पर निजी चिकित्सालयों में 1627 लोग इलाज करा रहे हैं. जबकि सेमी पेड एल-1 प्लस सुविधाओं यानी होटलों में 196 लोग हैं, जिनका इलाज सरकारी चिकित्सक दल कर रहा है. इसके अलावा उन्होंने बताया कि प्रदेश में एक अगस्त से 11 अगस्त के बीच जो नमूने जांचे गए, उसके आधर पर पॉजिटिविटी का प्रतिशत 4.8 प्रतिशत है यानी कुल मिलाकर पॉजिटिविटी पांच प्रतिशत से कम रही है. इस महीने में संक्रमण की संख्या ज्यादा होने के बाद भी यह कम रही है . भारत सरकार कहती है कि पॉजिटिविटी पांच प्रतिशत के अंदर रखने का प्रयास करना चाहिए. प्रसाद ने बताया कि सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी पांच जनपदों कानपुर नगर, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज और लखनऊ में रही जबकि अगस्त महीने में सबसे कम पॉजिटिविटी हाथरस, बागपत, महोबा, कासगंज और बुलंदशहर में रही है.

आरोग्य सेतु ऐप और ई-संजीवनी पोर्टल को लेकर कही ये बात
अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का हम निरंतर उपयोग कर रहे हैं और अब तक 8, 42, 800 ऐसे लोगों को कॉल किया जा चुका है, जिन्हें आरोग्य सेतु के माध्यम से एलर्ट आये. फोन स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से किये गये. अपर मुख्य सचिव ने बताया कि ई-संजीवनी पोर्टल का भी अब लोग काफी उपयोग कर रहे हैं. आप आसानी से अपने फोन नंबर से इसका पंजीकरण करा सकते हैं. अगर आपके पास इंटरनेट सुविधा है तो फोन, लैपटाप या टैबलेट के जरिए आप डाक्टर की सलाह प्राप्त कर सकते हैं. इसमें चिकित्सक से वीडियो कालिंग होती है और वह परामर्श देते हैं तथा दवाई भी बताते हैं.

उन्होंने बताया कि मंगलवार को 1523 लोगों ने ई-संजीवनी के माध्यम से घर बैठे डाक्टरों की सलाह प्राप्त की. अब तक 24, 663 लोग इस पोर्टल का लाभ उठा चुके हैं. इस कार्य में बहराइच आगे चल रहा है. हरदोई और मेरठ के लोग भी लगातार इसका लाभ उठा रहे हैं. ये तीन जनपद इस पोर्टल का सबसे अधिक लाभ उठा रहे हैं.

लोगों से की ये अपील
प्रसाद ने प्रदेश की जनता से अनुरोध किया कि वह इस ई-संजीवनी पोर्टल का लाभ उठायें, खासकर बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं, छोटे बच्चे और पहले से बीमार लोग इसका लाभ उठायें. ऐसे लोगों को अत्यंत अपरिहार्य परिस्थितियों में ही घर से बाहर निकलना चाहिए. उन्होंने बताया कि कोविड-19 हेल्पडेस्क का निरंतर जाल फैल रहा है और हम लगातार नेटवर्क बढ़ा रहे हैं. अब तक कार्यालयों और सार्वजनिक प्रतिष्ठानों में 61, 831 कोविड-19 हेल्पडेस्क बनाये जा चुके हैं. इन हेल्पडेस्क पर इन्फ्रारेड थर्मोंमीटर, पल्स आक्सीमीटर और सेनेटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य रूप से होती है. इसके अच्छे परिणाम आये हैं और कुल 6, 43, 991 लक्षण वाले लोगों को हम चिन्हित कर चुके हैं. उनके नमूने लेकर जांच की गयी है. निगरानी के बारे में प्रसाद ने बताया कि निगरानी का कार्य 53, 913 इलाकों में किया गया और 1, 69, 12, 280 घरों में 8, 51, 85, 977 लोगों का इसके तहत सर्वेक्षण किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज