UP COVID-19 Update: 72 जिलों में कुल 3520 कोरोना संक्रमण के मामले, 1655 मरीज अब तक डिस्चार्ज
Amethi News in Hindi

UP COVID-19 Update: 72 जिलों में कुल 3520 कोरोना संक्रमण के मामले, 1655 मरीज अब तक डिस्चार्ज
यूपी के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद

उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि यूपी में इस समय 64 जनपदों में कोरोना के 1786 एक्टिव मरीज (Active Corona Patients) हैं. वहीं 1655 मरीज पूरी तरह से ठीक होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (COVID-19) संक्रमण के मामले 72 जिलों तक फैल गए हैं. अब तक 3520 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं. प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में इस समय 64 जनपदों में कोरोना के 1786 एक्टिव मरीज (Active Corona Patients) हैं. वहीं 1655 मरीज पूरी तरह से ठीक होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं.

प्रमुख सचिव ने बताया कि उत्तर प्रदेश में भारी संख्या में प्रवासी कामगार लौट रहे हैं. कई ऐसे प्रदेशों से आ रहे हैं, जहां कोरोना संक्रमण ज्यादा है. इनका पूरा परीक्षण कराकर संक्रमण होने पर अस्पतालों में और नहीं है तो 7 दिन के क्वारेटाइन में रखा जा रहा है. कोई भी प्रवासी रेलवे स्टेशन से सीधे घर नहीं जाएगा. उसकी पूरी स्किल मैपिंग और जांच के बाद ही उसे होम क्वारेंटाइन में भेजा जाएगा.

उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक श्रमिक वापस आए हैं: अवनीश अवस्थी



वहीं प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक श्रमिक वापस आए हैं. आज सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा टीम-11 की बैठक में क्वॉरेंटाइन सेंटर की साफ-सफाई व बेहतर व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं. क्वॉरेंटाइन सेंटर की जियो टैगिंग हो रही है. जो श्रमिक जिस जगह पर हैं, सम्मानजनक रूप से उनको गृह जनपदों में पहुंचाने की अधिकारी व्यवस्था करें. निगरानी समितियां पूरी तरीके से अपने-अपने क्षेत्रों में नजर बनाएं. प्रधान और सभासद अपने-अपने क्षेत्रों में चोरी-छुपे आए लोगों की सूची बनाएं. उनका भी चेकअप हो. विदेश मंत्रालय से आज नेपाल भेजे जाने के लिए अनुरोध किया गया है. 2000 नागरिक नेपाल जाने के इच्छुक हैं.
20 लाख लोगों को रोजगार देने की व्यवस्था की जाएगी

अवनीश अवस्थी ने कहा कि सीएम लगातार अपील कर रहे हैं कि कोई भी श्रमिक पैदल न चले, जो भी श्रमिक आये उनके साथ सम्मानजनक व्यवहार हो. आ रहे लोगों के लिए सही से भोजन की व्यवस्था की जाए. प्रत्येक कामगार और श्रमिकों की स्किलिंग का भी विवरण लिया जाए. 20 लाख लोगों को रोजगार देने की व्यवस्था की जाएगी. जो भी कामगार और श्रमिक आ रहे हैं, उनका रजिस्ट्रेशन कराकर उनको ₹1000 उपलब्ध कराया जाएगा. 32 लाख लोगों को 1000 रूपये दिए जा चुके हैं. लखनऊ में अभी तक 22 ट्रेन, गोरखपुर में 28 ट्रेन आ चुकी हैं.

उन्होंने बताया कि प्रदेश में 38000 वाहन सीज किये गए है, वहीं फेक न्यूज़ के 871 मामले संज्ञान में लिए गए हैं. 475 हॉटस्पॉट 311 थानों में 890000 मकानों के साथ स्थापित हैं.

64912 सूक्ष्म श्रेणी की औद्योगिक इकाइयां शुरू 

वहीं खाद्यान्न खरीद को लेकर उन्होंने बताया कि 165 लाख कुंतल गेहू खरीदा जा चुका है. 544 निर्माण कार्य पीडब्ल्यूडी ने शुरू कर दिया है. यूपीडा में भी 10 हज़ार से अधिक श्रमिक काम कर रहे हैं. 119 चीनी मिलों में 61 ने काम पूरा कर लिया है. इसके अलावा प्रदेश में 64912 सूक्ष्म श्रेणी की औद्योगिक इकाइयां अब शुरू हो गई हैं और 25000 नए श्रमिकों के कार्ड बनाए गए हैं.

इनपुट: अजीत सिंह

ये भी पढ़ें:

घर लौट रहे Workforce को UP में ही मिलेगा रोजगार, योगी सरकार ने बनाया ये प्लान

अखिलेश यादव अगर रोजगार देते तो आज लोग मुसीबत में न होते: सिद्धार्थनाथ सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज