कमलेश तिवारी हत्याकांडः सोशल मीडिया पर गलत पोस्ट किया तो लगेगी रासुका
Lucknow News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांडः सोशल मीडिया पर गलत पोस्ट किया तो लगेगी रासुका
DGP ओपी सिंह ने बताया कि सांप्रदायिक सद्भावना बिगाड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. (file photo)

सूबे के DGP ओपी सिंह ने दी जानकारी, बताया अब तक संदिग्‍ध मिले 67 सोशल मीडिया (Social Media) अकाउंट्स किए ब्लॉक (Block), अलग-अलग जिलों में कई मामले भी दर्ज.

  • Share this:
लखनऊ. हिन्‍दू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) के बाद यूपी पुलिस (Police) अब सख्ती पर उतर आई है. अब सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश की गई और इससे संबंधित कुछ भी सोशल मीडिया (Social Media) पर पोस्ट किया गया तो आरोपियों के खिलाफ रासुका (NSA) के तहत कार्रवाई की जाएगी. इस बात की जानकारी डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने दी. उन्होंने बताया कि ऐसे तत्वों के खिलाफ रविवार को पुलिस ने अलग-अलग जिलों में कुल 14 मुकदमे दर्ज किए हैं. डीजीपी ओपी सिंह ने ऐसे लोगों के खिलाफ और सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

67 सोशल मीडिया अकाउंट किए ब्लॉक
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया सेल व साइबर क्राइम यूनिट ने इस वारदात के बाद सोशल मीडिया के जरिए बिगड़ रही सांप्रदायिक सद्भावना की बात को काफी गंभीरता से लिया है. इसके चलते आपत्तिजनक पोस्ट डालने वाले 67 सोशल मीडिया अकाउंट्स को ब्लॉक कर दिया गया है. वहीं हरदोई, अंबेडकरनगर, प्रतापगढ़, देवरिया, सहारनपुर, हमीरपुर में एक-एक, औरैया, प्रयागराज में दो-दो मुकदमे दर्ज किए गए हैं. इसके अलावा साइबर यूनिट ने लखनऊ में चार मामले दर्ज किए हैं.

शाहजहांपुर में दिखाई दिए संदिग्‍ध
वहीं इस हत्याकांड में शामिल संदिग्ध हत्यारे शाहजहांपुर में दिखाई दिए हैं. जिसके बाद एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की. सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं. फिलहाल एसटीएफ शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए हैं. सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे. संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने देर रात 4:00 बजे कई होटलों मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की.



बिजनौर में डाला डेरा
वहीं मामले को लेकर गंभीर हुई एसआईटी ने बिजनौर में डेरा डाल लिया है. यहां पर पुलिस ने नामजद आरोपी अनवारुल हक और मुफ्ती नईम को पूछताछ के लिए साथ लिया है. हालांकि इन दोनों से ही पूछताछ कहां की जा रही है इस संबंध में किसी को भी जानकारी नहीं दी गई है. दोनों ही आरोपियों से पूछताछ जारी है. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी तक की पूछताछ में भी एसआईटी को हत्याकांड के संबंध में कई अहम सुराग मिले हैं.

बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

ये भी पढ़ें: यूपी उपचुनाव: आजम खान के घर के पास पकड़े गए फर्जी पोलिंग एजेंट

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज