अपना शहर चुनें

States

लखनऊ हिंसा में सामने आया 'पश्चिम बंगाल कनेक्शन', DGP बोले- साजिश से इनकार नहीं

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने लखनऊ में हिंसक प्रदर्शन को लेकर अहम बयान दिया है. (Photo: Twitter)
उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने लखनऊ में हिंसक प्रदर्शन को लेकर अहम बयान दिया है. (Photo: Twitter)

डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने कहा है कि हिंसा के पीछे साजिश से इनकार नहीं किया जा सकता. इसमें कई बाहरी लोगों के शामिल होने की जानकारी मिली है. उन्होंने कहा कि हिंसा और आगजनी में बाराबंकी, बहराइच के अलावा पश्चिम बंगाल से भी लोग आए थे

  • Share this:
लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में गुरुवार को हुए हिंसक प्रदर्शन (Violent Protest) के बाद पुलिस (UP Police) ने कार्रवाई शुरू कर दी है. पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने कहा है कि हिंसा के पीछे साजिश से इनकार नहीं किया जा सकता. इसमें कई बाहरी लोगों के शामिल होने की जानकारी मिली है. उन्होंने कहा कि हिंसा और आगजनी में बाराबंकी, बहराइच के अलावा पश्चिम बंगाल से भी लोग आए थे. डीजीपी ने कहा कि अब तक लखनऊ में करीब 70 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि संभल में 30 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. साथ ही कार्रवाई लगातार जारी है.

डीजीपी ने कहा कि शुक्रवार को जुमे की नमाज सकुशल निपटाना हमारी प्राथमिकता है. उन्होंने बताया कि संभल में समाजवादी पार्टी (SP) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. गिरफ्तार आरोपियों के मोबाइल से जानकारियां जुटाई जा रही हैं. साथ ही पश्चिम बंगाल कनेक्शन की भी जांच हो रही है. सिंह ने कहा कि लखनऊ हिंसा में बाहरी तत्व भी शामिल थे. इसमें बाराबंकी, बहराइच, पश्चिम बंगाल से भी आए लोगा. जाहिर है हिंसा में साजिश से इनकार नहीं किया जा सकता.

पुलिस ने किया हिंसाग्रस्त इलाकों में फ्लैग मार्च
इससे पहले शुक्रवार को अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी ओपी सिंह ने लखनऊ के हिंसाग्रस्त ठाकुरगंज इलाके में फ्लैग मार्च किया. इस दौरान पुलिस टीम के साथ एटीएस कमांडो और रैपिड एक्शन फोर्स और पीएसी के जवान भी शामिल हुए. डीजीपी ने कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रित है. प्रभावित इलाकों में भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है.
वीडियो फुटेज से उपद्रवियों की हो रही पहचान


वहीं अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि गुरुवार के हुए प्रदर्शन के बाद पूरे प्रदेश में हालात नियंत्रण में है. प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन पर आपराधिक मुकदमे दर्ज कराने के साथ संपत्ति भी जब्त की जाएगी. वीडियो फुटेज से ऐसे उपद्रवियों की पहचान की जा रही है. जनता को विश्वास दिलाने के लिए हम कर मार्च (फ्लैग मार्च) कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैं और डीजीपी ओपी सिंह प्रभावित इलाकों में एक साथ कई मस्जिदों में गए थे. हमने शांतिपूर्ण ढंग से मस्जिदों मे नमाज कराने के लिए अपील की है.

(इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:

CAA Protest: संभल में SP सांसद शफीकुर्रहमान बर्क सहित 17 के खिलाफ FIR दर्ज

CAA Protest: एक्‍शन में आई पुलिस, UP में ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज