Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: यूपी के शिक्षामित्र, आंगनबाड़ी वर्कर्स और अनुदेशकों को चुनाव आयोग का यह फैसला जरूर पढ़ना चाहिए

UP Chunav 2022: यूपी के शिक्षामित्र, आंगनबाड़ी वर्कर्स और अनुदेशकों को चुनाव आयोग का यह फैसला जरूर पढ़ना चाहिए

UP Vidhan sabha chunav: चुनाव आयोग ने एक आदेश जारी किया  है.

UP Vidhan sabha chunav: चुनाव आयोग ने एक आदेश जारी किया है.

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के मद्देनजर चुनाव आयोग (Election Commission) ने शिक्षामित्रों, रोजगार सहायकों, अनुदेशकों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मतदान कर्मी के रूप में तैनाती को लेकर बड़ा फैसला किया है. चुनाव आयोग ने शिक्षामित्रों, अनुदेशकों और आंगनबाड़ी समेत मानदेय वाले सभी कार्मिकों को आरक्षित पूल में रखने के निर्देश दिए हैं. इसका मतलब है कि नियमित सरकारी कर्मियों के बाद ही जरूरत के हिसाब से इनकी तैनाती की जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के मद्देनजर चुनाव आयोग (Election Commission) ने शिक्षामित्रों (Shiksha Mitra), रोजगार सहायकों, अनुदेशकों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मतदान कर्मी के रूप में तैनाती को लेकर बड़ा फैसला किया है. चुनाव आयोग ने शिक्षामित्रों, अनुदेशकों और आंगनबाड़ी समेत मानदेय वाले सभी कार्मिकों को आरक्षित पूल में रखने के निर्देश दिए हैं. इसका मतलब है कि नियमित सरकारी कर्मियों के बाद ही जरूरत के हिसाब से इनकी तैनाती की जाएगी.

उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन आयोग ने एक आदेश जारी कर कहा है कि ऐसे कार्मिकों की ड्यूटी तभी लगाई जाए जब कार्मिकों को पूरी तरह यूटिलाइज कर लिया जाए. इतना ही नहीं, चुनाव के दौरान मतदान केंद्रों पर इन्हें प्रभारी भी नहीं बनाया जाएगा. अगर जरूरत पड़ी तो दूसरी या तीसरी श्रेणी में इन लोगों की ड्यूटी लगाई जाएगी. इन सभी को आयोग ने रिजर्व में रखने को कहा है.

चुनाव आयोग के फैसले के मुताबिक, शिक्षामित्रों, महिला शिक्षामित्रों, रोजगार सहायकों, अनुदेशकों, आंगनबाड़ी कार्मिकों और अन्य सकमक्ष को मतदान कार्मिक के रूप में तैनाती के सबंध में तीन निर्देश दिए गए हैं.
1. ऐसे कार्मिकों की ड्यूटी संबंधित जनपद द्वारा केवल इस स्थिति में लगाई जाएगी जब जनपद द्वारा यह प्रमाणित किया जाए कि मंडलीय पूल से प्राप्त नियमित सरकारी कार्मिकों को पूर्णत: यूटिलाइज कर लिया गया है.
2. जहां तक संभव हो उक्त कार्मिकों को आरक्षित पूल में रखा जाए.
3. शिक्षा मित्रों को मतदान अधिकारी द्वितीय तथा अन्य कार्मियों को केवल मतदान अधिकारी तृतीय के रूप में लगाया जाए.

चुनाव आयोग का यह फैसला शिक्षामित्रों, अनुदेशकों और आंगनबाड़ी समेत ऐसे सभी कर्मियों के लिए राहत वाली बात इसलिए भी है, क्योंकि इससे पहले इन्हें चुनाव ड्यूटी में लगाया जाता था. मगर इस बार इन्हें रिजर्व में रखा गया है. यानी जरूरत पड़ी तभी इन्हें ड्यूटी में लगाया जाएगा.

यूपी में कब-कब है चुनाव
बता दें कि उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में मतदान 10 फरवरी से शुरू होगा. उत्तर प्रदेश में अन्य चरणों में मतदान 14, 20, 23, 27 फरवरी, 3 और 7 मार्च को होगा. वहीं यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे. 2017 के चुनाव में बीजेपी ने यहां की 403 में से 325 सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 47 और कांग्रेस ने 7 सीटें ही जीती थीं. मायावती की बसपा 19 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. वहीं 4 सीटों पर अन्य का कब्जा हुआ था.

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections, ​​Uttar Pradesh News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर