कैशलेस एटीएम पर बोले यूपी के वित्तमंत्री- नहीं है कोई Crisis, सब अफवाह!

वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने कहा कि पिछले चार-पांच दिनों से इस तरह की खबरें आ रही हैं कि 2000 के नोट लोग रोक रहे हैं. मुझे लगता है कि साजिशन इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 17, 2018, 2:16 PM IST
कैशलेस एटीएम पर बोले यूपी के वित्तमंत्री- नहीं है कोई Crisis, सब अफवाह!
उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल. Photo: News 18
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 17, 2018, 2:16 PM IST
एक तरफ उत्तर प्रदेश के बैंक एटीएम में कैश की किल्लत से जनता परेशान है, दूसरी तरफ यूपी सरकार दावा कर रही है कि बैंकों में कैश पर्याप्त है. 2000 के नाट पर रोक लगाने की खबर को सरकार अफवाह बता रही है. यूपी के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा कि बैंक में आप जितनी चाहे उतनी नोट आपको मिल जाएंगी. 200 के नोट, 500 के नोट और 100 के नोटों का पर्याप्त स्टॉक बैंकों में मौजूद है. उन्होंने कहा कि नई करेंसी भी आई है वह भी पर्याप्त मात्रा में बैंकों के पास है.

वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले चार-पांच दिनों से इस तरह की खबरें आ रही हैं कि 2000 के नोट लोग रोक रहे हैं. मुझे लगता है कि साजिशन इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है. 2,000 नोटों की कोई ऐसी समस्या बैंकों में नहीं है और पर्याप्त मात्रा में 2000 के नोट उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा कि इस संबंध में आरबीआई, केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अधिकारियों से वार्ता की है. जल्द ही समस्या का हल निकल जायेगा.

उन्होंने कहा कि एक साजिश की जा रही है. एक अफ़वाह तैयार करने की कोशिश की जा रही है, जो ठीक नहीं है. राजेश अग्रवाल ने कहा कि दरअसल मोदी सरकार की लोकप्रियता से कुछ लोग घबराए हैं. देश की अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है. अगले 2-3 दिन में हालात बेहतर होंगे.

बता दें उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ समेत वाराणसी, आगरा, कानपुर, इलाहाबाद और अन्य जिलों में एटीएम मशीनों में कैश की किल्लत ने सहालग के मौसम में लोगों की परेशानियों को बढ़ा दिया है. राजधानी लखनऊ के हजरतगंज, गोमतीनगर, आलमबाग और अलीगंज के दर्जनों एटीएम में कैश नहीं है. एटीएम में कैश की किल्लत से आमलोग एक से दूसरे एटीएम के चक्कर लगाते नजर आ रहे हैं.

एटीएम में कैश की बढ़ी किल्लत के बावजूद बैंको ने अभी तक कोई बड़ा क़दम नहीं उठाया है. कमोबेश, यही स्थिति इलाहाबाद, वाराणसी, कानपुर, आगरा, मेरठ गोरखपुर में भी देखने को मिल रही है. शादियों का मौसम है और लोग खरीददारी के लिए एटीएम के चक्कर लगा रहे हैं.
(रिपोर्ट: अवनीश विद्यार्थी)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर