होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP में सरकारी डॉक्टरों के ट्रांसफर विवाद पर CM योगी का एक्शन, 2 दिन में मांगी रिपोर्ट

UP में सरकारी डॉक्टरों के ट्रांसफर विवाद पर CM योगी का एक्शन, 2 दिन में मांगी रिपोर्ट

एक्शन: यूपी में डॉक्टरों के ट्रांसफर विवाद का सीएम योगी ने लिया संज्ञान, 2 दिन में रिपोर्ट तलब

एक्शन: यूपी में डॉक्टरों के ट्रांसफर विवाद का सीएम योगी ने लिया संज्ञान, 2 दिन में रिपोर्ट तलब

यूपी के स्वास्थ्य महकमे में बीते दिनों हुए ट्रांसफर को लेकर जारी विवाद के बीच सीएम योगी ने इस पूरे मामले पर संज्ञान लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डॉक्टरों के ट्रांसफर मामले में अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी और संजय भूसरेड्डी से दो दिनों के भीतर रिपोर्ट तलब की है. बता दें कि डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने इसे लेकर सवाल उठाए थे.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के ट्रांसफर को लेकर जारी विवाद के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा एक्शन लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग में हुए तबादले में कथित गड़बड़ियों का संज्ञान लिया और इस पूरे मामले में 2 दिनों के भीतर रिपोर्ट तलब की है. स्वास्थ्य विभाग में तबादलों को लेकर मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने अपर मुख्य सचिव (होम) अवनीश अवस्थी और संजय भूसरेड्डी को रिपोर्ट तैयार करने का जिम्मा दिया है.

बताया जा रहा है कि अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी और संजय भूसरेड्डी को पूरे मामले में विवरण तैयार कर 2 दिनों में रिपोर्ट देनी है. बता दें कि पिछले दिनों सूबे के स्वास्थ्य मंत्री और डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने स्वास्थ्य विभाग में हुए डॉक्टरों के ट्रांसफर को लेकर पत्र लिखकर सवाल उठाए थे और कहा था कि उनकी जानकारी के बगैर यह सब हो गया. उनकी नाराजगी इस बात को लेकर है कि इसमें तबादले नीति की अनदेखी की गई.

दरअसल, 30 जून को 450 से अधिक डॉक्टरों के ट्रांसफर की लिस्ट जारी की गई थी. इसमें लखनऊ के बड़े अस्पतालों के भी कई विशेषज्ञ डॉक्टरों का नाम भी शामिल हैं. उप मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में इस बात का भी जिक्र किया है कि राजधानी समेत अन्य जनपदों के कई बड़े अस्पतालों के विशेषज्ञ डॉक्टरों के तबादले से मरीजों की परेशानी बढ़ेगी. उन्होंने अपर मुख्य सचिव से पूछा है कि जिन डॉक्टरों का ट्रांसफर किया गया है उनकी जगह विशेषज्ञ डॉक्टरों के तैनाती के लिए क्या उपाय किए गए हैं. उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद से हर तबादले का कारण सहित विवरण भी मांगा है.

कार्रवाई की भी चेतावनी
डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा था कि शासन का यह दायित्व है कि कोई भी काम नियम कानून के अनुसार हो, यदि ऐसा नहीं हुआ है तो उसे भी देखा जाएगा. उन्होंने कहा कि मामले की जांच करवाई जा रही है और अगर तबादलों में किसी भी तरह की गड़बड़ी मिलती है तो सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

Tags: CM Yogi Adityanath, Uttar pradesh news

अगली ख़बर