Home /News /uttar-pradesh /

COVID-19: UP के सरकारी शिक्षक बनेंगे 'कोरोना वॉरियर्स', CM योगी ने ट्रेनिंग दिलाने के दिए निर्देश

COVID-19: UP के सरकारी शिक्षक बनेंगे 'कोरोना वॉरियर्स', CM योगी ने ट्रेनिंग दिलाने के दिए निर्देश

यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने कहा कि प्रदेश में अब तक मास्क नहीं लगाने वाले 13 हजार से ज्यादा लोगों का चालान हो चुका है.

यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने कहा कि प्रदेश में अब तक मास्क नहीं लगाने वाले 13 हजार से ज्यादा लोगों का चालान हो चुका है.

अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने कहा कि पैरामेडिकल स्टाफ और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी स्तर के लोग सभी को ट्रेनिंग देंगे. उन्होंने कहा कि इसके लिए हर जिले में मास्टर ट्रेनर्स (Master Trainers) की तैनाती की जाएगी.

    लखनऊ. कोरोना (COVID-19) के खिलाफ जंग में योगी सरकार (Yogi Government) ने पूरी ताकत झोंक रखी है. इसी क्रम में अब प्रदेश के डिग्री कॉलेजों से लेकर बेसिक टीचरों तक सभी को कोरोना वॉरियर्स बनाया जाएगा. इसके लिए सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि सभी को ट्रेनिंग दी जाए. अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने कहा कि पैरामेडिकल स्टाफ और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी स्तर के लोग सभी को ट्रेनिंग देंगे. उन्होंने कहा कि इसके लिए हर जिले में मास्टर ट्रेनर्स की तैनाती की जाएगी. इस दौरान एक ऐप भी तैयार किया जाएगा, जिससे इन्हें नियमों का पालन करने में आसानी होगी.

    अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस आपदा से निपटने के लिए गठित टीम 11 के साथ दैनिक बैठक करते हुए प्रदेश में आपदा की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं की बढ़ोत्तरी को आवश्यक बताते हुए जनसुविधाओं का समुचित ध्यान रखने के लिए निर्देशित किया है.

    प्रयागराज में फंसे छात्रों को घर पहुंचाने की तैयारी

    उन्होंने कहा कि प्रयागराज में प्रदेश के दूसरे जिलों से आए छात्र-छात्राएं, जो लगभग 9 से 10 हजार हैं, इन्हें 300 बसें लगाकर इन्हें गृह जनपद पहुंचाने का आदेश हुआ है. डीएम और एसएसपी को आदेश जारी हो गए हैं. चरणबद्ध तरीके से भेजा जाएगा. जो भी बसें प्रयागराज से भेजी जाएंगीं. ये प्रयागराज में तीन स्थानों से चलेंगीं.



    पहले चरण में पूर्वांचल के जिलों जाएंगी 300 बसें

    पहले चरण में ये 300 बसें, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फतेहपुर और चित्रकूट छात्र-छात्राओं को लेकर जाएंगीं. इसके बाद दूसरे चरण में प्रदेश के दूसरे जिलों जाएंगीं. यदि वहां कोई अन्य प्रदेश के छात्र होंगे तो उन्हें भी अनुमति मिल जाएगी. सभी से निवेदन है कि जल्दीबाजी न करें, दो दिन में ये व्यवस्था हो जाएगी.

    प्रधानमंत्री से बैठक के बाद सीएम ने निर्देश दिया है कि प्रदेश में 1 मई से खाद्यान्न का पुनः वितरण होगा. सीएम का आदेश है कि प्रदेश में L1, L2, L3 कोविड अस्पतालों की क्षमता बढ़ाई जाए. PPE किट, मास्क आदि जिलों में पहुंचाने के आदेश दिए गए हैं.

    जनपदों में 25 से 20 हजार क्षमता वाले क्वारेंटाइन सेंटर बनाने के आदेश

    अवनीश अवस्थी  ने बताया कि जनपदों में 15 से 20000 क्षमता वाले क्वारेंटाइन सेंटर बनाने के आदेश दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि हरियाणा से अब तक 328 बसों से 9992 मजदूर यूपी लाये गये हैं. इनका मेडिकल टेस्ट हो चुका है. इन्हें 349 बसों से गृह जनपद भेजा जा रहा है. सभी हरियाणा से आये हैं. उन्होंने बताया कि अभी तक कुल 12,200 श्रमिक वापस आए हैं.

    दूसरे राज्यों की तुना में यूपी में कोरोना संक्रमण और मृत्युदर काफी कम

    उन्होंने बताया कि सीएम ने आज आगरा, लखनऊ, कानपुर, गौतमबुद्धनगर, मेरठ, वाराणसी और गाजियाबाद में लॉक डाउन की समीक्षा की और नोडल अफसरों से जानकारी ली. इस दौरान उन्होंने विस्तृत जानकारी ली. उन्होंने कहा है कि मेडिकल इंफेक्शन बढ़ने न दिया जाए. हॉटस्पॉट में होम डिलेवरी की सुरक्षा मजबूत रहे. सीएम ने कहा कि हमारे प्रदेश में दूसरे प्रदेशों की तुलना में मृत्यु दर और कोरोना वृद्धि दर काफी कम है. जबकि आबादी हमारे यहां सबसे ज्यादा है.

    ये भी पढ़ें:

    UP COVID-19 Update: 59 जिलों में कोरोना मरीज हुए 1955, अब तक 31 की मौत

    यूपी में 30 जून तक हैंड सैनिटाइजर बेचने के लिए लाइसेंस की जरूरत नहीं

    Tags: Corona warriors, Lockdown. Covid 19, Lucknow news, Teacher, Uttarpradesh news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर