लाइव टीवी

Lockdown 4.0: योगी सरकार का बड़ा कदम, अब प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाएंगी 12000 बसें
Lucknow News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 18, 2020, 11:25 PM IST
Lockdown 4.0: योगी सरकार का बड़ा कदम, अब प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाएंगी 12000 बसें
बिहार में आने वाले प्रवासी मजदूरों की तुलना में जांच मशीनें काफी कम हैं (सांकेतिक चित्र)

Lockdown 4.0: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) अन्य राज्‍यों में फंसे प्रवासियों को वापस लाने के लिए 12,000 बसें भेजने का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन निगम द्वारा संचालित सभी बसों को नियमित रूप से सेनिटाइज किया जाए.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोनावायरस की महामारी (Coronavirus Epidemic) के बीच देशभर में लॉकडाउन (Lockdown) लागू है और इसके चलते लाखों प्रवासी मजदूरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि राहत की बात ये है कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने अन्य राज्‍यों में फंसे प्रवासियों को वापस लाने के लिए 12,000 बसें भेजने का ऐलान किया है.

15,000 अतिरिक्त बसें उपलब्ध कराई गईं- सीएम योगी
यूपी के सीएम ने कहा कि राज्य सड़क परिवहन निगम की 12 हजार बसों के माध्यम से प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा सभी 75 जिलों में 15 हजार बसें अतिरिक्त रूप से उपलब्ध कराई गई हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन निगम द्वारा संचालित सभी बसों को नियमित रूप से सेनिटाइज किया जाए. बस में सेनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. परिवहन निगम यह भी सुनिश्चित करें कि प्रत्येक निजी बस में दो चालक हों. उन्होंने परिवहन विभाग को प्रवर्तन कार्य प्रभावी रूप से करने के निर्देश देते हुए कहा कि आरटीओ तथा एआरटीओ सतत निरीक्षण करते हुए यह सुनिश्चित करें कि मार्ग दुर्घटना न होने पाए.

प्रवासी कामगारों और श्रमिकों के लिए ये आदेश



उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन की समीक्षा के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश करते ही प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को भोजन व पानी उपलब्ध कराया जाए. इसके बाद उनकी स्क्रीनिंग करते हुए उन्हें सुरक्षित व सम्मानजनक ढंग से उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र के साथ-साथ टोल प्लाजा, एक्सप्रेस-वे तथा प्रमुख चौराहों पर प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों के लिए भोजन एवं पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.



पिछले एक सप्ताह में 590 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आए श्रमिक
पिछले एक सप्ताह में 590 श्रमिक स्पेशल ट्रेन देश के विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को लेकर आ गई हैं. उत्तर प्रदेश के अपर प्रमुख ​सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि राज्य में जितने भी श्रमिक आ रहे हैं जितने भी कामगार आ रहे हैं उनके लिए सारी व्यवस्था निःशुल्क रहेगी, कहीं भी किसी भी श्रमिक से कोई भी धनराशि नहीं ली जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को बस से भेजने के लिए धनराशि भी स्वीकृत की गई है, इसलिए किसी भी प्रवासी कामगार से यात्रा के लिए धनराशि न ली जाए. राज्य सरकार प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों को ट्रेन से निःशुल्क प्रदेश ला रही है.

मुख्यमंत्री ने दिया ये आदेश
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि लोग पैदल, बाइक, थ्री-व्हीलर या ट्रक आदि जैसे असुरक्षित साधनों से यात्रा न करें. इसके लिए पुलिस द्वारा सघन पेट्रोलिंग करते हुए लोगों को जागरूक किया जाए. प्रवासी श्रमिकों को बताया जाए कि वे ट्रेन तथा बस जैसे सुरक्षित साधन से ही यात्रा करें. पैदल, बाइक, थ्री-व्हीलर या ट्रक आदि जैसे असुरक्षित साधन को अपनाकर स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में न डालें.

ये भी पढ़ें

Lockdown 4.0: CM योगी का बड़ा आदेश, UP बॉर्डर पर की जाएं ये जरूरी व्यवस्‍थाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 18, 2020, 11:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading