UP सरकार का आदेश, RT-PCR टेस्ट नेगेटिव आने पर भी दिखे सिम्टम्स तो कोरोना मरीज माना जाए

लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए अब उत्तर प्रदेश सरकार सख्त कदम उठा रही है. (फाइल फोटो)

लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए अब उत्तर प्रदेश सरकार सख्त कदम उठा रही है. (फाइल फोटो)

लगातार बढ़ रहे ऐसे मामले जिनमें RT-PCR रिपोर्ट नेगेटिव होने के बाद भी लोगों को कोरोना हो रहा है, इसी को देखते हुए अब ये कदम उठाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 9:19 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कोरोना के बढ़ते मरीज और लगातार आरटी-पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट नेगेटिव आने के बाद भी कोरोना संक्रमण होता देख अब उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला किया है. यूपी सरकार के अनुसार यदि अब किसी व्यक्ति का आरटी-पीसीआर टेस्ट नेगेटिव आ रहा है लेकिन उसको कोरोना होने की आशंका है तो उसका कोरोना मरीज की तरह ही उपचार हो और उसे प्रिजम्‍टिव कोविड की कैटेगरी में रखा जाए. आदेश के अनुसार आरटी-पीसीआर टेस्ट नेगेटिव होने के बाद भी यदि मरीज का एक्सरे, सीटी स्कैन, खून की जांच, सिम्टम्स कोरोना जैसे हों, साथ ही डॉक्टर का मानना हो कि ये कोविड है तो मरीज को हर हाल में इस कैटेगरी में रखा जाए.

इधर, सूबे में कोरोना दिनों दिन हाल बेहाल कर रहा है. अब पिछले 24 घंटे में 30,594 नए कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं. वहीं 129 लोगों ने संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया है. उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 1,91,457 कुल सक्रिय मामले हो गए हैं और अब तक करोना से 9830 लोगों ने दम तोड़ दिया है.

UP में वैक्‍सीनेशन के आंकड़े 1 करोड़ के पार

एक दिन पहले ही सूबे में 27,426 नए कोरोना संक्रमित मिले थे और 103 लोगों की मौत हो गई थी. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लखनऊ में डिफेंस एक्सपो आयोजन स्थल पर डीआरडीओ के सहयोग से अति शीघ्र सभी सुविधाओं से लैस 1000 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल बनाया जाएगा. इसके क्रियाशील होने के साथ ही लखनऊ में कोविड मरीजों के लिए 5000 अतिरिक्त बेड उपलब्ध हो जाएंगे.
वहीं टीकाकरण में प्रदेश में आंकड़ा एक करोड़ को पार कर गया. अब तक 86,24,856 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई है तथा पहली डोज लेने चुके लोगों में से 14,26,472 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई हैं. इस प्रकार से प्रदेश में अब तक कुल 1,00,51,328 वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज