Assembly Banner 2021

UP Panchayat Chunav: अखिल भारत हिंदू महासभा भी ठोकेगी ताल, परखेगी संगठन की मजबूती

UP Panchayat Elections 2021: कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्रमिक महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार मिश्रा ने कहा कि साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में संगठन अपने प्रत्याशी उतारने जा रही है.

UP Panchayat Elections 2021: कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्रमिक महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार मिश्रा ने कहा कि साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में संगठन अपने प्रत्याशी उतारने जा रही है.

UP Panchayat Elections 2021: कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्रमिक महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार मिश्रा ने कहा कि साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में संगठन अपने प्रत्याशी उतारने जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 8, 2021, 11:15 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) को लेकर सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) समेत तमाम विपक्षी दलों ने अपनी तैयारी तेज कर दी है. इसी क्रम में अखिल भारत हिंदू महासभा (Akhil Bharat Mahasabha) भी पंचायत चुनावों में अपने संगठन की मजबूती को परखने के लिए जिला पंचायत चुनाव में प्रत्याशी उतारने जा रही है. इसी कड़ी में सोमवार को राजधानी लखनऊ के इंटीग्रल यूनिवर्सिटी के पास स्थित कैंप कार्यालय में अखिल भारत हिंदू महासभा के चिकित्सा प्रकोष्ठ की बैठक हुई. बैठक में चिकित्सा प्रकोष्ठ के नए मनोनीत पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण और उन्हें नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया.

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्रमिक महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार मिश्रा ने कहा कि आने वाले 2022 विधानसभा चुनाव में पार्टी अपने प्रत्याशी उतारने जा रही है. इससे पहले संगठन को मजबूत करने और तैयारियों को परखने के लिए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी हिस्सा लेगी. महासभा जिला पंचायत के चुनाव में अपने प्रत्याशी भी उतारेगी. उन्होंने दावा किया कि पार्टी जिस तेजी से अपने संगठन को मजबूत कर रही है और ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ रही है उससे आने वाले दिनों में वह हिंदुत्व का सबसे बड़ा चेहरा और विकल्प के रूप में उभरेगी.

कार्यकारिणी हो रही गठित 
राजेश मिश्रा ने कहा कि मौजूदा समय में सभी प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने कार्यकारिणी को जल्द से जल्द तैयार कर चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं. उन्होंने कहा कि राज्यों में भी विभिन्न प्रकोष्ठों में पदाधिकारियों की नियुक्ति की जा रही है. उन्होंने कहा कि वैसे तो बीजेपी हिंदुत्व के चेहरे पर चुनाव लड़ती है, लेकिन महामना मदन मोहन मालवीय द्वारा स्थापित अखिल भारत हिंदू महासभा ही देश की एकलौती पार्टी है जो हिन्दुओं को एकजुट करने और उनके लिए संघर्षरत हैं. राम मंदिर की लड़ाई ने निर्मोही अखाड़े के साथ मिलकर लड़ा. सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी महासभा और निर्मोही अखाड़े के पक्ष में आया, लेकिन बीजेपी और विहिप ने इसका क्रेडिट ले लिया. लेकिन अब हम नए नारे 'राजा राम आएंगे और राम राज्य लाएंगे' के साथ मैदान में हैं.
किसान आंदोलन में कोई किसान नहीं


किसान आंदोलन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सारे किसान तो श्रमिक सभा के साथ हैं. वहां जो आंदोलन कर रहे हैं वे किसान हैं ही कहां? श्रमिक सभा किसानों के साथ है. आने वाले दिनों में हम हिंदू नर्सिंग छात्रों को नौकरी दिलवाने के लिए भी कैंप लगाएंगे। इसके साथ गरीब व किसानों के बेटों जो 12वीं पास हैं उन्हें नौकरी दिलाने में भी मदद करेंगे। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी, पंकज तिवारी, प्रदेश प्रभारी शिवपूजन दीक्षित, चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ सुनील शुक्ला, श्रमिक महासभा के प्रदेश अध्यक्ष, शिवम मिश्रा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आकाश ओझा समेत तमाम पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज