Uttar Pradesh Panchayat Chunav results: मेरठ, बागपत, रायबरेली से भी आ गया पहला नतीजा, यहां देखें पंचायत चुनाव वीनर्स की पूरी ल‍िस्‍ट


उत्‍तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना का काम चल रहा है और अब नतीजे आने भी शुरू हो गए हैं.

उत्‍तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना का काम चल रहा है और अब नतीजे आने भी शुरू हो गए हैं.

UP Panchayat Election Results Latest News: द‍िन बीतने के साथ यूपी पंचायत चुनाव के नतीजे आने लगे हैं. अमेठी, मेरठ, बागपत, चंदौली समेत कई ज‍िलों में प्रधान पद का चुनाव जीतने वालों के नाम की घोषणा होने लगी है. आपको बता दें क‍ि उत्‍तर प्रदेश पंचायत चुनाव के सभी 75 जिलों की मतगणना रव‍िवार को जारी है. यूपी में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के पदों के लिए कुल 12,89,830 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के वोटों की गिनती जारी है वहींं कई ज‍िलों से प्रधान पद के चुनाव नतीजे आने लगे हैं. यूपी में चंदौली से आए पहले चुनावी नतीजे में प्रधान पद के उम्‍मीदवार ने दो वोटों से जीत हास‍िल की. आपको बता दें क‍ि राज्‍य चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव के वोटों की गि‍नती के ल‍िए   826 ब्लॉकों में 824 काउंट‍िंग सेंटर बनाएं हैं. आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के सभी 75 जिलों की मतगणना में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के पदों के लिए कुल 12,89,830 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा. यूपी पंचायत चुनाव परिणाम 2021 की गिनती की लेटेस्‍ट न्‍यूज LIVE UPDATES: यहां यूपी पंचायत चुनाव परिणाम मतगणना, लेटेस्‍ट न्‍यूज, भाजपा, सपा पार्टी वार सीटें, विजेताओं की पूरी सूची और अधिक जानकारी यहां जानें...

- अमेठी: वार्ड नं 30 से भाजपा प्रत्याशी राजेश मसाला अपने निकटम प्रतिद्वंदी से 1000 मतों से आगे.

- मेरठ के ततीना ग्राम पंचायत के प्रधान पद का परिणाम घोषित. 18 मतों से जीतीं अफसाना नाम की प्रत्याशी.

- महोबा: जैतपुर विकासखंड का पहला परिणाम आया. जैतपुर ग्राम पंचायत सदस्य वार्ड-4 का परिणाम घोषित। वार्ड-4 से धर्मेंद्र कुमार 12 मतों से विजयी.
- बागपत में प्रधानी चुनाव का पहला रिजल्ट. भेड़ापुर गांव से महिला प्रत्याशी अंजू देवी विजय. डीएम एसपी ने विजयी प्रत्याशी को सौंपा प्रमाण पत्र.

- सोनभद्र: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायत का पहला नतीजा आया. केवाल ग्राम पंचायत में दिनेश यादव ने हरिनाथ यादव को 187 मतों से हराया.

- फ़तेहपुर: खजुहा ब्लाक के हाफिजपुर ग्राम पंचायत से सत्येंद्र पासवान 27 मतों से जीते.



- कानपुर: सरसौल ब्लॉक से मतगणना का पहला परिणाम, नेवादा बौसर ग्रामपंचायत से समरजीत यादव ग्राम प्रधान निर्वाचित हुये. इन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजरानी पाल को 130 मतों से पराजित किया.

- इटावा: ताखा तहसील की ग्राम पंचायत रतहरी से रूबीना बेगम हुई विजयी. 428 मत मिले. निकटतम प्रतिद्वंदी सरिता देवी को 226 मत प्राप्त हुए. रूबीना बेगम 202 मतो से विजयी हुई.

- मैनपुरी में 9 ग्राम पंचायतों का परिणाम घोषित. ग्राम पंचायत तरौली, खिचोली, भरतपुर, सुजरूदेहात, रोसिंगपुर, दूल्हापुर, नगला ऊसर, बेलाहर, सहादतपुर के चुनाव परिणाम घोषित.

- रायबरेली जिले में प्रधान पद का पहला परिणाम घोषित. बछरांवा ब्लाक की तिलेंडा ग्राम पंचायत से मंशाराम ने 29 वोटों से राजकुमार चौधरी को हराया.

- बलरामपुर जिले का पहला ग्राम प्रधान परिणाम घोषित. हरैया सतघरवा विकासखंड से आया पहला परिणाम. मोतीपुर ग्राम सभा से कन्याकुमारी वर्मा प्रधान निर्वाचित. सहायक निर्वाचन अधिकारी ने दिया प्रमाण पत्र.

-उन्‍नाव विकास खण्ड हसनगंज की ग्राम कमालपुर में प्रधान प्रत्याशी कुलदीप मौर्य विजयी. विकास खण्ड हसनगंज की ग्राम अमोइया में प्रधान प्रत्याशी साहब लाल विजयी. विकास खण्ड हसनगंज की ग्राम गजफ्फर नगर में प्रधान प्रत्याशी सुनील चौरसिया विजयी. सफीपुर विकास खण्ड की मीर नगर से इंदल रावत विजयी. उन्नाव में वोटों की गिनती का कार्य जारी.

- अयोध्या: ग्राम प्रधान का पहला परिणाम. बीकापुर ब्लाक के खेवली ग्राम पंचायत प्रधान पर नीलम सिंह जीती. नीलम सिंह को 223, शुभम सिंह को 216

- इटावा: ताखा ब्लॉक की ग्राम पंचायत रिदौली से ध्यानसिंह प्रधान पद का चुनाव जीते. ध्यान सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी अभिलाक सिंह को 212 मतों से हराया.

- इटावा: जसवंतनगर तहसील के तीन ग्राम पंचायत के प्रधान पद परिणाम हुए घोषित. ग्राम पंचायत भागलपुर से सर्वेश कुमार प्रधान पद पर जीते. ग्राम पंचायत बलैयापुर से प्रधान पद के रामदास हुए निर्वाचित. ग्राम पंचायत बलरई से मनीष जाटव सर्वेश कुमार हुए निर्वाचित.

- मेरठ: ग्राम प्रधान का पहला नतीजा आया. मेरठ के ततीना ग्राम पंचायत के प्रधान पद का परिणाम घोषित 18 मतों से जीता पप्पू नाम का प्रत्याशी.

- फ़तेहपुर: अमौली ब्लॉक के ग्राम पंचायत विरनई से पूर्व प्रधान सिया देवी जीती. 115 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी शर्मिला उत्तम को हराया.

- फ़तेहपुर: अमौली ब्लॉक के ग्राम पंचायत बिजौली से अमृता सिंह बनी ग्राम प्रधान. 235 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रामसागर को हराया.

- अमेठी के गौरीगंज ब्लॉक के ऐठा ग्राम सभा गांव से बद्री प्रसाद 52 वोटों से जीते. गौरीगंज ब्लॉक के छिटेपुर गांव से बाबूलाल कोरी 530 मत पाकर जीते. गौरीगंज ब्लॉक के अत्तानगर से सुनीता गिरी 317 मत पाकर बनी ग्राम प्रधान. गौरीगंज ब्लॉक के बेहटा गांव से ललित सिंह 272 वोट पाकर जीते बने ग्राम प्रधान.

- जसवंतनगर तहसील के नागरी ग्राम पंचायत से प्रधान पद के लिए मीना मिश्रा हुई निर्वाचित. चांदनपुर ग्राम पंचायत से प्रधान पद के लिए ब्रजेन्द्र सिंह हुए निर्वाचित. मलहुपुर ग्राम पंचायत से प्रधान पद के लिए जितेंद्र सिंह हुए निर्वाचित.

- इटावा के सैफई द्वितीय से जिला पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवार अभिषेक यादव 1100 मतों से आगे. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के चचेरे भाई हैं अभिषेक यादव. निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष हैं अभिषेक यादव. इटावा में पीएसपी और सपा के संयुक्त उम्मीदवार हैं अभिषेक यादव.

- चंदौली जिले के चकिया ब्लॉक के ग्राम सभा इसहुल से प्रधान पद के प्रत्याशी ओमप्रकाश 470 मत प्राप्त कर 2 वोटों विजयी. निकटतम प्रत्याशी चंदन को 468 मत प्राप्त हुआ.

- इटावा: मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई के ग्राम पंचायत पद के उम्मीदवार के लिए मतगणना में रामफल वाल्मीकि पहले राउंड में 500 वोटों से आगे. रामफल बाल्मीकी को मुलायम परिवार का मिला है समर्थन. 50 सालों से नहीं हुआ था प्रधान पद के लिए मतदान. रामफल बाल्मीकि के अलावा एक अन्य महिला विनीता चुनाव मैदान में प्रधान पद के लिए उतरी हुई है.

- पंचायत चुनाव की मतगणना के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं। हर मतगणना केंद्र पर एडिशनल डीसीपी लेवल के अधिकारी लगाए गए हैं, पर्याप्त फोर्स लगाई गई है। किसी भी प्रकार के विजय जुलूस और ऐसे किसी भी आयोजन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी: असीम अरुण, कानपुर के पुलिस ​कमिश्नर

- चुनाव आयोग के अनुसार, जिला पंचायत सदस्य के सात, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 2,005 ग्राम पंचायत प्रधान के 178 और ग्राम पंचायत सदस्य के 3,17,127 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं. इस प्रकार राज्य में चारों चरणों के चुनाव क्षेत्रों से कुल 3,19, 317 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये जा चुके हैं.

- उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में चार चरणों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मत डाले गये। पहले चरण में 15 अप्रैल, दूसरे में 19 अप्रैल, तीसरे में 26 अप्रैल और चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान संपन्न हुआ. राज्‍य में चारों चरणों में ग्राम पंचायत प्रधान के 58,194, ग्राम पंचायत सदस्य के 7,31,813, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 75,808 तथा जिला पंचायत सदस्य के 3,051 पदों के लिए मत डाले गये हैं. इनमें से कुछ पदों पर निर्विरोध निर्वाचन भी हो चुका है. इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार से पंचायत चुनाव प्रक्रिया 25 मई तक समाप्त करने को कहा था.

- सुप्रीम कोर्ट द्वारा उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव में मतगणना पर रोक लगाने से शनिवार को इनकार करने के बाद मतों की गिनती आज सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है. राज्‍य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों और अभिकर्ताओं को स्‍पष्‍ट हिदायत दी है कि मतगणना केंद्रों में उन्हें ही प्रवेश मिलेगा जिनकी कोविड-19 की रिपोर्ट निगेटिव होगी.

- राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के अनुषांगिक संगठन राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ और उत्‍तर प्रदेश शिक्षक महासंघ समेत कई संगठनों ने मतगणना के बहिष्कार की घोषणा की थी लेकिन शनिवार की शाम उत्तर प्रदेश के मुख्‍य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी के साथ हुई वार्ता के बाद उत्तर प्रदेश शिक्षक महासंघ समेत कई संगठनों ने मतगणना न करने का अपना फैसला वापस ले लिया. रात नौ बजे तक राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ मतगणना कराने को लेकर कोई फैसला नहीं कर सका था.

- कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और अधिकाधिक संख्या में कर्मचारी, शिक्षक, अभियंताओं और अधिकारियों की मौत के बाद विभिन्न शिक्षक और कर्मचारी संगठनों की मांग पर मतगणना बहिष्कार की घोषणा करने वाले संगठनों ने शनिवार की शाम उच्‍च्‍तम न्‍यायालय के आदेश का अनुपालन करते हुए मतगणना करने का निर्णय लिया है.

- शनिवार शाम जारी एक बयान में विभिन्न संगठनों के एक समूह ने मतगणना ड्यूटी में लगाए गए कार्मिकों, शिक्षकों की सुरक्षा के संबंध में मुख्य सचिव स्तर की वार्ता में दस मांगें रखी जिसका अनुपालन शासन द्वारा कराये जाने का आश्वासन मिलने के बाद कर्मचारी और शिक्षक संगठनों ने मतगणना में शामिल होने का निर्णय लिया है.

- कर्मचारियों की समस्याओं के संबंध में मुख्य स्तर की कमेटी के साथ वार्ता में कर्मचारी शिक्षक मोर्चा के अध्यक्ष एवं प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ डॉ. दिनेश चन्द्र शर्मा, प्रधान महासचिव सुशील कुमार त्रिपाठी, कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी, रामराज दुबे, सतीश कुमार पाण्डेय और कमलेश मिश्रा शामिल थे'

- शासन के आला अफसरों के समक्ष मतगणना के दौरान कार्मिकों को किट उपलब्ध कराने, प्रत्येक जिले में 10 बेड आईसीयू और वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की उपलब्धता के साथ इसकी व्यवस्था के लिए अधिकारी की नियुक्ति, सभी कार्मिकों का टीकाकरण, ड्यूटी में लगे कार्मिकों चाहे वह नियमित हो या संविदा, स्थाई मानदेय को कोरोना डयूटी के दौरान मृत्यु होने पर पचास लाख मुआवजा, मृतक के आश्रितों को नौकरी,कोरोना पीड़ितों के सभी खर्च सरकार द्वारा वहन करने की मांग रखी गई. पीने के पानी की सील्ड बोतल और वाहन की व्यवस्था, पीड़ित कार्मिकों को मोबाईल की अनुमति दी जाए. विशेष रूप से यह तय किया गया कि जिन कार्मिकों को खांसी-बुखार होगा उन्हें ड्यूटी में नहीं लगाया जाएगा. कार्मिकों की अधिकतम ड्यूटी आठ घण्टे तथा मतगणना जारी रहने मतगणना स्थल के आसपास कर्फ्यू जारी रखने की भी मांग की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज