• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: 21 जिलों में BJP और इटावा में SP की निर्विरोध जीत, 53 पर कड़ा मुकाबला

UP जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: 21 जिलों में BJP और इटावा में SP की निर्विरोध जीत, 53 पर कड़ा मुकाबला

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में अब तक 22 सीटों पर परिणाम वोटिंग से पहले ही आ चुका है.

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में अब तक 22 सीटों पर परिणाम वोटिंग से पहले ही आ चुका है.

UP Jila Panchayat Adhyaksh Chunav: उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में आज नामांकन के आखिरी दिन कई के नाम वापस लेने से बीजेपी अब तक 21 सीटों पर निर्विरोध काबिज हो चुकी है. वहीं सपा सिर्फ इटावा ही जीत सकी है.

  • Share this:
लखनऊ. इन दिनों उत्तर प्रदेश में चल रहे जिला पंचायत अध्यक्ष (Jila Panchayat Adhyaksh Chunav) के चुनाव के दौरान सूबे की सत्ताधारी पार्टी भाजपा (BJP) और मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के बीच जमकर सियासी घमासान हो रहा है. बीजेपी ने आज मंगलवार को नामांकन वापसी के अंतिम दिन तक पहले ही प्रदेश के 20 जिलों में अपने प्रत्याशियो के निर्विरोध निर्वाचन से इस चुनाव में एक बड़ी बढ़त बना ली है. वहीं चुनाव में भाजपा पर सत्ता का दुरूपयोग का आरोप लगाने वाली समाजवादी पार्टी लाख कोशिशों के बावजूद महज इटावा में ही अपने उम्मीदवार को निर्विरोध निर्वाचित करा सकी है. बाकी अन्य 54 जिलों में भाजपा को अब अधिकतर सीटों पर समाजवादी पार्टी के साथ रायबरेली में कांग्रेस और मथुरा-बागपत में रालोद से टक्कर मिलती नजर आ रही है.

दरअसल, उत्तर प्रदेश की 75 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये आज मंगलवार को नामांकन पत्र वापसी की अंतिम तिथि तक 22 जिलों में निर्विरोध निर्वाचन हुआ है. जिसमें नामांकन के आज अंतिम दिन सहारनपुर, पीलीभीत, शाहजहांपुर और बहराइच के भी विपक्षी उम्मीदवारो के पर्चा वापस ले लेने से 21 जिलों में भाजपा और 1 इटावा में सपा के उम्मीदवार निर्विरोध जीत गये हैं. लेकिन अन्य 53 जिलों में से 37 जिलों में सिर्फ 2, 11 जिलों में 3, 4 जिलों में 4 और 1 जिले में 5 उम्मीदवारों ने नामांकन किया है. ऐसे में UP के जिन 38 जिलों में दो-दो उम्मादवारों नें नामांकन किया है. उसमें मथुरा से रालोद, रायबरेली से कांग्रेस और अन्य सभी सीटों पर भाजपा की सपा से ही टक्कर होगी.

प्रदेश के 35 जिलों में भाजपा की सीधे टक्कर सपा से ही है. जिसे देखते हुए सपा और भाजपा अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिये अपने स्तर से हर संभव प्रयास करते नजर आ रहे हैं.

भाजपा का दावा, 90 फीसदी सीटों पर होगी हमारी जीत

सूबे की 21 जिलों में अपने जिला पंचायत अध्यक्षों के निर्विरोध निर्वाचन से भाजपा न सिर्फ खासा खुश नजर आ रही है. बल्कि 3 जुलाई को होने वाले जिला पंचायत चुनाव के पहले ही प्रदेश की 90 फीसदी से अधिक सीटों पर भाजपा के ही जीत का दावा कर रही है. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी कहते हैं, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जो गरीबो और किसानों के लिए जो योजनाएं हैं, उन योजनाओं के कारण बीजेपी ने ग्रामीण क्षेत्रो में भी अपना पर्याप्त विस्तार किया है. और पंचायत चुनाव में अपेक्षाकृत एक बड़ी सफलता हासिल की है. लेकिन आज विपक्ष हताश, निराश और परेशान है. जब 3 जुलाई को परिणाम आयेगा तो भाजपा 90 फीसदी सीट जीतती नजर आयेगी.”

कांग्रेस का आरोप- भाजपा नहीं डीएम-एसपी लड़ रहे चुनाव

दूसरी ओर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत कहते हैं, “बीते दिनों उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव में भाजपा को करारी शिकस्त हुई है. लेकिन भाजपा अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिय़े सत्ता, धन और बाहुबल का दुरूपयोग कर रही है. खुद को मिली करारी शिकस्त के चलते अब भाजपा ने अपने प्रत्याशियो को जिताने की जिम्मेदारी जिले के डीएम-एसपी को सौप दी है. जिसके बाद अब भाजपा उम्मीदवारों को जिताने के लिये पुलिस-प्रशासन द्वारा या तो विपक्षी जिला पंचायत सदस्यों पर दबाव बनाया जा रहा है. या फिर उन्हे स्थानीय पुलिस द्वारा जबरन उठवा लिया जा रहा है. जो पूरी तरह से गलत और अलोकतांत्रिक है.”

‘सपा के सदस्यों के घर पर चलवाये जा रहे बुलडोजर’

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में सत्ताधारी भाजपा सरकार से मिल रही कड़ी चुनौती से जुडे सवाल पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आनुराग भदौरिया कहते हैं, ”उत्तर प्रदेश में भाजपा अपने जिला पंचायत अध्यक्षो के जिताने के लिये साम, दाम, दंड-भेद के साथ सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर रही है. सरकार तांडव करवा रही है. हद तो ये कर दी है कि भाजपा के प्रत्याशियो को जिताने के लिये सपा के जिला पंचायत सदस्यों के घरों पर बुलडोजर चलवाकर उनके रास्ते तक को तुड़वा दिया जा रहा है. ये तानाशाही है, ऐसा करके भाजपा लोकतंत्र का गला घोट रही है. आने वाले 2022 के चुनाव में जनता इसका मुंहतोड़ जवाब देगी.”

UP की इन 35 सीटों पर सिर्फ भाजपा-सपा में होगी सीधी टक्कर

लखनऊ, हरदोई, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड, बिजनौर, बरेली, पीलीभीत, अलीगढ़, हाथरस, कासगंज, फिरोजाबाद, मैनपुरी, कन्नौज, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, महोबा, हमीरपुर, फतेहपुर, कौशाम्बी, प्रयागराज, अमेठी, बाराबंकी,अम्बेडकरनगर, अयोध्या, बहराईच, बस्ती, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, बलिया, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज