अपना शहर चुनें

States

UP विधान परिषद चुनाव: BJP के 10 और SP के उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचित होना लगभग तय

13वें कैंडिडेट महेश चन्द्र शर्मा का नामांकन तकनीकी वजहों से खारिज होना लगभग तय है.
13वें कैंडिडेट महेश चन्द्र शर्मा का नामांकन तकनीकी वजहों से खारिज होना लगभग तय है.

विधान परिषद के चुनाव में पर्चा भरते समय 10 विधायकों को प्रस्तावक बनाना पड़ता है. अब इस शर्त को महेश चन्द्र शर्मा पूरी करते दिखाई नहीं दे रहे हैं. ऐसे में उनका पर्चा खारिज होना तय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 8:47 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. विधान परिषद (Legislative Council) की 12 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए नामांकन (Nomination) खत्म हो गया है. इसी के साथ विधान परिषद चुनाव की तस्वीर भी साफ हो गई है. अब चुनाव होने की कोई संभावना दिखाई नहीं दे रही है. इसका मतलब ये है कि 12 सीटों के लिए सभी के सभी निर्विरोध निर्वाचित हो जाएंगे. ऐसे में परिषद में भाजपा (BJP) के 10 और सपा (SP) के 2 उम्मीदवार निर्वाचित हो जाएंगे. ये स्थिति इसलिए बनी है कि जिस 13वें व्यक्ति ने चुनाव के लिए नामांकन किया है, उसके पर्चे के खारिज होने की पूरी संभावना है.

नामांकन खारिज होना लगभग तय

दोपहर तक यह लग रहा था कि विधान परिषद की 12 सीटों के लिए वोटिंग करानी पड़ेगी. लेकिन शाम ढलते-ढलते अब ये साफ हो गया है कि वोटिंग की नौबत नहीं आएगी, बल्कि सभी लोग निर्विरोध चुन लिए जाएंगे. जिस 13वें व्यक्ति महेश चन्द्र शर्मा ने नामांकन किया है, उनका पर्चा शायद स्वीकार ही न हो. महेश चन्द्र शर्मा किसी भी पार्टी के बैकअप कैंडिडेट नहीं हैं, बल्कि वे पिछले कई चुनाव लड़ चुके हैं. चुनाव लड़ना उनका जुनून है.



विधान परिषद के चुनाव के लिए ये बड़ी शर्त
विधायकी और सांसदी लड़ने में तो कोई खास तकनीकी दिक्कत नहीं होती है. लेकिन विधान परिषद का चुनाव लड़ने के लिए एक बड़ी शर्त होती है. पर्चा भरते समय उसमें 10 विधायकों को प्रस्तावक बनाना पड़ता है. अब इस शर्त को महेश चन्द्र शर्मा पूरी करते दिखाई नहीं दे रहे हैं. ऐसे में उनका पर्चा खारिज होना तय है. विधानसभा के रिटर्निंग अफसर ब्रज भूषण दुबे ने बताया कि मंगलवार को चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक नामांकन पत्रों की जांच करेंगे. 21 जनवरी तक नामांकन वापस लिए जा सकते हैं. यदि 12 ही उम्मीदवार रहे तो चुनाव नहीं होगा. बल्कि सभी निर्विरोध निर्वाचित हो जाएंगे. तो आइये जानते हैं कि कौन किस पार्टी से विधायक बनने वाला है.

भाजपा से ये 10 माननीय 6 साल के लिए विधायक बनेंगे

1. उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा 2. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह 3. अरविंद कुमार शर्मा (RTD IAS) 4. कुंवर मानवेन्द्र सिंह 5. गोविन्द नारायण शुक्ला 6. सलिल विश्नोई 7. अश्वनी त्यागी 8. धर्मवीर प्रजापति 9. सुरेन्द्र चौधरी 10. लक्ष्मण आचार्य. इन दसों में से स्वतंत्र देव सिंह, दिनेश शर्मा और लक्ष्मण आचार्य को दोबारा परिषद में भेजा जा रहा है.

सपा की ओर से ये दो बनेंगे विधायक

सपा के दो सदस्यों को अगले 6 साल तक के लिए विधायक घोषित किया जाएगा. पहले अहमद हसन और दूसरे राजेन्द्र यादव. अहमद हसन फिर से परिषद भेजे जा रहे हैं. दोनों पार्टी के कद्दावर नेता हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज