यूपी के मंत्री मुकुट बिहारी ने कहा, ‘हमारा‘ से उनका मतलब हिंदुस्तान के लोगों से था

उत्तर प्रदेश के काबीना मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा है कि मंदिर का मामला उच्चतम न्यायालय में लंबित है और सुप्रीम कोर्ट ‘हमारा‘ है. हालांकि बाद में वर्मा ने मामले में सफाई देते हुए कहा कि ‘हमारा‘ से उनका मतलब हिन्दुस्तान के लोगों से था.

भाषा
Updated: September 10, 2018, 3:49 PM IST
यूपी के मंत्री मुकुट बिहारी ने कहा, ‘हमारा‘ से उनका मतलब हिंदुस्तान के लोगों से था
File Photo
भाषा
Updated: September 10, 2018, 3:49 PM IST
उत्तर प्रदेश के काबीना मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा है कि मंदिर का मामला उच्चतम न्यायालय में लंबित है और सुप्रीम कोर्ट ‘हमारा‘ है. हालांकि बाद में वर्मा ने मामले में सफाई देते हुए कहा कि ‘हमारा‘ से उनका मतलब हिन्दुस्तान के लोगों से था. वर्मा ने गत शनिवार को बहराइच में संवाददाताओं से बातचीत की थी, जिसका वीडियो वायरल हो गया है.

उसमें वह कहते दिख रहे हैं कि भाजपा राम मंदिर के मुद्दे पर नहीं, बल्कि विकास के मुद्दे पर सरकार में आई है... लेकिन मंदिर हमारा आराध्य है, मंदिर बनेगा. मंदिर बनाने के लिए हम लोग कृत संकल्पित हैं. यह पूछने पर कि राम मंदिर का मुद्दा उच्चतम न्यायालय में लंबित है तो ऐसे में इसके लिए कैसे कृत संकल्पित हैं, वर्मा ने कहा ‘सुप्रीम कोर्ट में है तभी तो, सुप्रीम कोर्ट भी तो हमारा ही है ना, कार्यपालिका भी हमारी है, विधानपालिका भी हमारी है, देश भी हमारा है, मंदिर भी हमारा है.’

इस बीच, वर्मा ने बताया कि ‘हमारा‘ से उनका मतलब देश के 125 करोड़ लोगों से है. इसका मतलब भाजपा से कतई नहीं है. मैंने यह कभी नहीं कहा कि उच्चतम न्यायालय ‘मेरा‘ या ‘मेरी सरकार‘ का है. हमारा से मतलब हम सबसे है.

उन्होंने कहा ‘जब मुझसे पूछा गया कि अयोध्या में राम मंदिर कैसे बनेगा तो मैंने कहा कि, ‘भैया पूरा देश हमारा है. मंदिर भी हमारा है, कार्यपालिका भी हमारी है और विधायिका भी. वे सभी हम सब लोगों के हैं.’ वर्मा का यह बयान उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर कोई रास्ता नहीं निकला तो सरकार राम मंदिर बनाने के लिए संसद से कोई रास्ता निकालेगी.

ये भी पढ़ें - 

'यह सवर्णों का गांव है, वोट मांगकर शर्मिंदा न करें'


मथुरा के इस थाने में रिश्वत के बिना कोई काम नहीं होता, धरने पर बैठे BJP विधायक


महराजगंज: प्रॉपर्टी विवाद में पिता-पुत्र की चाकू मारकर हत्या

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर