UP: विधान परिषद बढ़ेगी बीजेपी की ताकत, लेकिन सपा का वर्चस्व रहेगा कायम

यूपी विधान परिषद में बढ़ी बीजेपी की ताकत लेकिन सपा का रहेगा दबदबा

यूपी विधान परिषद में बढ़ी बीजेपी की ताकत लेकिन सपा का रहेगा दबदबा

UP MLC Election: यह चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त हो जाने के चलते निर्विरोध हुआ था. नामांकन पत्रों की जांच के दौरान निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त हुआ था और बाकी बचे 12 उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया था.

  • Share this:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में नवनिर्वाचित विधान परिषद सदस्यों (MLC Memblers) के शपथ ग्रहण के बाद विधान परिषद मे बीजेपी (BJP) की ताकत तो बढ़ जाएगी, लेकिन समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) का पलड़ा अभी भी भारी रहेगा. 5 फरवरी को नवनियुक्त प्रोटेम स्पीकर कुंवर मानवेंद्र सिंह सुबह 11 बजे नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाएंगे. 12 सदस्यों मे से एक सदस्य अहमद हसन को 31 जनवरी को विधान परिषद सदस्य के रुप मे शपथ दिला दी गई थी. अहमद हसन नेता विरोधी दल भी हैं.

यह चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त हो जाने के चलते निर्विरोध हुआ था. नामांकन पत्रों की जांच के दौरान निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त हुआ था और  बाकी बचे 12 उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया था.  शर्मा का नामांकन इसलिए निरस्त किया गया था क्योंकि उनका कोई प्रस्तावक नहीं था. साथ ही नामांकन के लिए जरूरी शुल्क जमा करने की रसीद भी संलग्न नहीं की गई थी.

ये हैं नव निर्वाचित सदस्य हैं

इस बार एमएलसी चुनाव में डॉ दिनेश शर्मा, स्वतंत्रदेव सिंह, लक्ष्मण प्रसाद आचार्य, कुंवर मानवेंद्र सिंह, अरविंद कुमार शर्मा, गोविंद नारायण शुक्ला, सलिल विश्नोई, अश्विनी त्यागी, धर्मवीर प्रजापति, सुरेंद्र चौधरी, अहमद हसन व राजेंद्र चौधरी निर्वाचित हुए हैं. डॉ दिनेश शर्मा, अहमद हसन, स्वतंत्रदेव सिंह और लक्ष्मण प्रसाद आचार्य फिर से सदस्य बनाए गए हैं.
इन्हें नहीं मिला मौका 

समाजवादी पार्टी के आशु मलिक, रमेश यादव, रामजतन राजभर, वीरेंद्र सिंह और साहब सिंह सैनी को मौका नहीं मिल पाया, वहीं बहुजन समाज पार्टी के धर्मवीर अशोक, नसीमुद्दीन सिद्दीकी और प्रदीप कुमार जाटव को भी सदन पहुंचने का मौका नहीं मिला.

ये हैं विधान परिषद की दलीय स्थिति



राजनीतिकी दल:    पूर्व स्थिति      नयी स्थिति

समाजवादी पार्टी:      55                 51

बीजेपी :                   25                 32

बसपा :                      8                   6

कांग्रेस:                      2                   2

अपना दल (एस )     एक                 एक

शिक्षक दल:             एक                एक

निर्दलीय समूह:         दो                   दो

निर्दलीय:                 तीन                 तीन

रिक्त:                      तीन                  दो

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज