• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • COVID Control: उत्‍तर प्रदेश में एंट्री के लिए नहीं है RT-PCR रिपोर्ट, तो ऐसे भी पा सकते हैं प्रवेश

COVID Control: उत्‍तर प्रदेश में एंट्री के लिए नहीं है RT-PCR रिपोर्ट, तो ऐसे भी पा सकते हैं प्रवेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

UP Corona Management: रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से यूपी में दाखिल होने वाले लोगों के लिए खास निर्देश जारी किए. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की नियंत्रित स्थिति के बीच हमें अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी.

  • Share this:
    लखनऊ. कांवड़ यात्रा रद्द करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कोरोना की तीसरी लहर (COVID Third Wave) को रोकने के लिए एक और बड़ा ऐलान किया है. अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में उन राज्यों से आने वाले लोगों को बिना निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट (RT-PCR) के एंट्री नहीं मिलेगी, जहां कोरोना संक्रमण की दर तीन फ़ीसदी से अधिक है. नए आदेश के मुताबिक कोरोना निगेटिव रिपोर्ट तीन दिन से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए. हालांकि, उन लोगों को छूट मिलेगी जिन्होंने टीके की दोनों डोज लगवा ली है.

    दरअसल, उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कम होते केसों के साथ दूसरे राज्यों के लोगों का आवागमन तेज हो गया है. इसको देखते हुए रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से यूपी में दाखिल होने वाले लोगों के लिए खास निर्देश जारी किए. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की नियंत्रित स्थिति के बीच हमें अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी. ऐसे में 3 फीसदी पॉजिटिविटी दर से अधिक वाले राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए कोरोना की निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य होगी. यह रिपोर्ट चार दिनों से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए.

    सभी एंट्री प्‍वाइंट पर ट्रेसिंग जरूरी
    सीएम योगी ने निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोग अपना कोविड परीक्षण करा कर ही यात्रा प्रारंभ करें. जो लोग टीकाकरण की दोनों खुराक प्राप्त कर चुके हों, उन्हें छूट दी जा सकती है. सड़क/वायु/रेल मार्गों के अलावा निजी साधनों से आ रहे लोगों के लिए भी यह नियम लागू होंगे. हाई कोविड पॉजिटिविटी दर वाले राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों की गहन कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और टेस्टिंग करने के भी निर्देश दिए गए हैं. प्रदेश आगमन पर इनके एंटीजन टेस्ट और थर्मल स्कैनिंग भी जरूरी की गई है. इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

    यूपी में स्थिति फ़िलहाल नियंत्रित
    बता दें कि उत्तर प्रदेश के सात जनपदों (अलीगढ़, चित्रकूट, हाथरस, कसगंज, महोबा, शामली और श्रावस्ती) में अब कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है. ये जनपद कोविड संक्रमण से मुक्त हैं. यह स्थिति संतोषजनक है. विगत दिवस किसी भी जिले में दोहरे अंक में नए केस की पुष्टि नहीं हुई है. 47 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया है, जबकि 28 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए.

    4 करोड़ से ऊपर लोगों को कोरोना का टीका
    यह स्थिति बताती है कि प्रदेश में हर नए दिन के साथ कोविड महामारी पर नियंत्रण की स्थिति और बेहतर होती जा रही है. ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं. प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य सुचारु रूप से चल रहा है. अब तक उत्तर प्रदेश में 4 करोड़ 3 लाख 54 हजार से अधिक कोविड वैक्सीन लगाए जा चुके हैं. यह किसी एक राज्य द्वारा किया गया सर्वाधिक वैक्सीनेशन है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज