COVID-19 Update: UP में कोरोना के 229 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 6724, अब तक 177 की मौत

संक्रमण मुक्त होकर 4062 लोग घर लौट चुके हैं.
संक्रमण मुक्त होकर 4062 लोग घर लौट चुके हैं.

प्रदेश में कोविड-19 से आठ और मौत के साथ मरने वालों का आंकड़ा 177 पहुंच गया है. जबकि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के अब तक कुल 6,724 मामले सामने आए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 (COVID-19) से आठ और लोग की मौत हो गई. जबकि इस दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 229 नए मामले भी सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग की ओर से देर रात जारी बुलेटिन के मुताबिक प्रदेश में कोविड-19 से आठ और मौत के साथ मरने वालों का आंकड़ा 177 पहुंच गया है. जबकि राज्य में  कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के अब तक कुल 6,724 मामले सामने आए हैं.

उत्‍तर प्रदेश में कोरोना के 2723 एक्टिव केस
बहरहाल, पिछले 24 घंटे में अलीगढ़ में दो मौत हुई हैं. जबकि कोरोना वायरस की वजह से फिरोजाबाद, बाराबंकी, सिद्धार्थनगर, संत कबीर नगर, अंबेडकरनगर और चित्रकूट में एक-एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है. इस दौरान प्रदेश में कोविड-19 के 229 नए मामले सामने आए हैं. इनमें अमेठी में सबसे ज्यादा 33 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं. वहीं, आजमगढ़ में 15 तो अयोध्या में 13 नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ राज्य में कोविड-19 के अब तक कुल 6,724 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 3824 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त होकर अपने घर जा चुके हैं. जबकि इस वक्त 2723 लोगों का इलाज चल रहा है.

मुख्यमंत्री ने किया कोविड-19 जांच उपकरण का लोकार्पण
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित स्वचालित कोविड-19 जांच उपकरण का लोकार्पण किया. इसके जरिये एक्स-रे की कोविड-19 एआई आधारित प्री-स्क्रीनिंग की जाती है, जिससे मरीज में इस संक्रमण का पता लगाया जा सकता है. सीएम योगी ने इस उपकरण के बारे में कहा कि यह कोरोना वायरस संक्रमण उन्मूलन में सहायक साबित हो सकता है. यह अच्छा प्रयास है और इसमें लोगों को सावधान करने की भी व्यवस्था की जानी चाहिए. इसके साथ उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे शोधकर्ताओं को विभिन्न अस्पतालों में मरीजों के सीने के डिजिटल एक्स-रे उपलब्ध कराएं ताकि वे इस उपकरण पर और काम कर सकें.



मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सम्बन्धी चुनौतियों से निपटने के लिए नये शोध की आवश्यकता है. कोविड-19 की वजह से पूरी दुनिया के सामने उत्पन्न चुनौतियों के मद्देनजर तकनीकी और मेडिकल संस्थानों के लिए यह अवसर है कि वे ऐसे उपकरण विकसित करें, जो रोगों की पहचान और उपचार में मददगार साबित हों.

ये भी पढ़ें

UP में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 10 सीनियर पुलिस अफसरों का तबादला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज