• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Lucknow News: चोरी के मोबाईल से फोटो लेकर फंसे स्नैचर्स, इस ऐप से चढ़े पुलिस के हत्थे

Lucknow News: चोरी के मोबाईल से फोटो लेकर फंसे स्नैचर्स, इस ऐप से चढ़े पुलिस के हत्थे

लखनऊ पुलिस ने दबोचे मोबाइल लुटेरे

लखनऊ पुलिस ने दबोचे मोबाइल लुटेरे

Lucknow Crime News: लुटेरों ने लूटा गया मोबाईल एक युवक को बेचने के लिए दिखाया तो उसने मोबाइल का कैमरा टेस्ट करने के लिए उससे एक फोटो खींची. बस यही फोटो तीनों की गिरफ्तारी की वजह बनी.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ (Lucknow) की विकास नगर पुलिस (Police) ने दो शातिर लुटेरों (Looters) और लूट व चोरी का माल खरीदने वाले एक युवक को गिरफ्तार किया है. बदमाशों की गिरफ्तारी का तरीका अपने आप में बहुत दिलचस्प है. दरअसल, तीनों की गरफ्तारी चोरी की मोबाइल से सेल्फी लेने के बाद हुई. मोबाइल लूटने के बाद जब दोनों स्नैचर्स उसे बेचने के लिए एक युवक के पास पहुंचे। कैमरा चेक करने के लिए जब फोटो ली गई तो, मोबाइल में इंसटाल एक एप ने उनकी तस्वीरें ईमेल कर दी. जिसके बाद लूटेरे और लूट का माल खरीदने वालों की शिनाख्त हो गई.

डीसीपी नॉर्थ देवेश पांडे ने बताया कि विकास नगर सेक्टर 5 में रहने वाली महिला अधिवक्ता नीलमणि पांडे से बुधवार को मॉर्निंग वॉक के समय पर्स लूट की घटना हुई थी. मॉर्निंग वॉक करते समय बाईक सवार दो बदमाशों ने नीलमणि से उनका पर्स छीन लिया था. पर्स में कुछ रुपये और मोबाईल था. लूट के तुरंत बाद लुटेरों ने मोबाईल से सिमकार्ड निकाल कर फेंक दिया. लुटेरों ने लूटा गया मोबाईल एक युवक को बेचने के लिए दिखाया तो उसने मोबाइल का कैमरा टेस्ट करने के लिए उससे एक फोटो खींची. बस यही फोटो तीनों की गिरफ्तारी की वजह बनी.

इस ऐप पकड़वाया
हुआ यूं कि नीलमणि पांडे ने अपने मोबाईल पर गूगल फोटोज ऐप इंस्टॉल किया हुआ था और उसे अपने ईमेल आईडी से लिंक भी कर रखा था. जिसकी चलते उनके मोबाईल से खींची गई कोई भी फोटो लोकेशन समेत उनके मेल पर आ जाती थी. बुधवार शाम को भी यही हुआ. जिस युवक ने लूटा गया मोबाईल खरीदा था उसने जैसे ही वो मोबाईल वाई फाई से जोड़ा तो कैमरा टेस्ट के लिए खींची गई फोटो नीलमणि के मेल आईडी पर पहुंच गई. रात को नीलमणि अपनी ईमेल चेक कर रही थीं तो ये फोटो भी मिल गई. इस फोटो में दोनों लुटेरे मोबाइल खरीदने वाले युवक दिख रहे थे. नीलमणि ने ये फोटो विकासनगर पुलिस को दी और बताया कि फोटो में दिख रहे युवकों ने ही उसे लूटा है.

फोटो से पुलिस पहुंची घर
फोटो में दिख रहे बाईक नंबर के आधार पर पुलिस त्रिवेणी नगर में रहने वाली सुनीता कश्यप के घर पहुंची तो पता चला कि बाईक उसके बेटे ललित के पास रहती है. मां के बुलाने पर जब ललित घर पहुंचा तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. ललित की निशानदेही पर लूट में शामिल जयप्रकाश मिश्रा और लूट का सामान खरीदने वाले विकास गुप्ता को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज