UP Panchayat Chunav Result: जानें कहां टॉस से हुआ फैसला और कहां बहू ने दी सास को पटखनी, 10 खास बातें

प्रयागराज में पंचायत चुनाव में एक सीट पर जीत का फैसला करने के ल‍िए टॉस का सहारा ल‍िया गया

प्रयागराज में पंचायत चुनाव में एक सीट पर जीत का फैसला करने के ल‍िए टॉस का सहारा ल‍िया गया

Chunav Result: योगी सरकार में समाज कल्याण मंत्री के भतीजे को प्रधानी चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. प्रधान पद के लिए उन्हें निकटतम प्रतिद्वंदी ने 200 मतों से हरा दिया है. बता दें आशीष कुमार नवाबगंज ब्लाक के विश्नोहरपुर से प्रत्याशी थे. वह समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री के भतीजे हैं.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश में पिछले महीने 75 ज‍िलों में चार चरणों में हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना जारी है. मतपत्रों के जरिए हुए इन चुनावों के नतीजे आ रहे हैं और पूरे नतीजे आने में कल तक का समय लग सकता है. पंचायत चुनाव में भाजपा, सपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन जैसी राजनीतिक पार्टियों ने भी अपने प्रत्याशी उतारे हैं, हालांकि इन पार्टियों के उम्मीदवार पार्टी के चुनाव निशान पर नहीं, बल्कि आयोग द्वारा दिए गए व्यक्तिगत चुनाव चिह्नों पर मैदान में उतरे है. उत्तर प्रदेश के पहले चरण में 15 अप्रैल, दूसरे में 19 अप्रैल, तीसरे में 26 अप्रैल और चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान हुआ था। राज्‍य में चारों चरणों में ग्राम पंचायत प्रधान के 58,194, ग्राम पंचायत सदस्य के 7,31,813, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 75,808 तथा जिला पंचायत सदस्य के 3,051 पदों के लिए मत डाले गये हैं.

यूपी पंचायत चुनाव की 10 खास बातें
- प्रयागराज में पंचायत चुनाव में एक सीट पर जीत का फैसला करने के ल‍िए टॉस का सहारा ल‍िया गया. ग्राम प्रधान की सीट पर जब नतीजा आया तो सोरांव के करौदी गांव सभा में राजबहादुर और भुंवरलाल दोनों को 170 वोट मिले. इसके बाद जीत का फैसला करने के ल‍िए टॉस का सहारा ल‍िया गया. आरओ सुरेश चंद्र यादव ने टॉस कराया और भुंवरलाल टॉस जीतकर करौंदी के प्रधान बन गए.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्री अनिल शर्मा की भाभी प्रधान बनीं. वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री अनिल शर्मा के छोटे भाई केशव शर्मा की पत्नी ममता शर्मा के ग्राम प्रधान निर्वाचित हुई हैं. ममता शर्मा शिकारपुर ब्लॉक के गांव सुरजावली की प्रधान निर्वाचित हुईं. उनकी जीत से गांव में जश्र का माहौल है.
योगी सरकार में समाज कल्याण मंत्री के भतीजे को प्रधानी चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. प्रधान पद के लिए उन्हें निकटतम प्रतिद्वंदी ने 200 मतों से हरा दिया है. बता दें आशीष कुमार नवाबगंज ब्लाक के विश्नोहरपुर से प्रत्याशी थे. वह समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री के भतीजे हैं.
उन्नाव में अब तक की सबसे कम उम्र की महिला प्रत्याशी ने प्रधानी चुनाव जीत लिया है. यहां ऐरा भदियार से पूनम ने पंचायत चुनाव में जीत का परचम लहराया है. बता दें पूनम की उम्र 26 वर्ष है और वह उन्नाव में अब तक की सबसे कम उम्र की महिला प्रधान बन गई हैं. सरोसी ब्लॉक की ऐरा भदियार सीट से पूनम ने चुनाव जीता है. उन्होंने निकटतम प्रतिद्वंदी को 434 वोटों से मात दी. बता दें अन्य सीटों पर वोटों की गिनती जारी है.
पीलीभीत में बहू ने सास को दी पटखनी. अपनी मौजूदा प्रधान सास को 250 वोटों से हराया. पूनम देवी ने अपनी सास कमला देवी को हराया. बरखेड़ा ब्लाक के गांव सोंधा से जीती पूनम.
इटावा में मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई से उनके परिवार की ओर से घोषित किए गए प्रधान पद के उम्मीदवार रामफल बाल्मीकि हुए निर्वाचित. रामफल बाल्मीकि को 3877 मत मिले है जबकि विनीता नामक महिला को मात्र 15 वोट मिले है.
कानपुर में बिधनू ब्लाक में किन्नर काजल किरन ने ग्राम प्रधान के पद पर जीत की दर्ज. बिधनू विकास खंड के सेन पश्चिम पारा ग्रामपंचायत से किन्नर लालमण काजल किरन प्रधान पद पर की जीत. दर्ज. काजल किरन ने गुड़िया देवी को 185 मतों से हराकर जीत हासिल की. शहर में राजनीति करने के दौरान काजल किरन नौबस्ता पशुपति नगर वार्ड 48 से रह चुकी है पार्षद.
इटावा में समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के चचेरे भाई अभिषेक यादव 3780 मतों से आगे. 10वें राउंड की मतगणना में अभिषेक यादव को 4125 मत मिले हैं, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के राहुल यादव को 345 मत हासिल हुए हैं. सैफई द्वितीय से जिला पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवार अभिषेक यादव हैं.
चित्रकूट में मऊ ब्लॉक के पुरुषोत्तम द्विवेदी इंटर कॉलेज मतगणना स्थल में एक प्रधान प्रत्याशी के भतीजे द्वारा मोबाइल फोन मतगणना स्थल पर लाने की वजह से विपक्षी प्रधान प्रत्याशी के विरोध करने पर दोनों प्रधान प्रत्याशियों के बीच जमकर मारपीट हो गई, जिसके बाद पुलिस ने दोनों प्रधान प्रत्याशियों को हिरासत में ले ल‍िया है.
कानपुर के बिकरू गांव में प्रधान का निर्वाचन हुआ है. 25 साल बाद निष्पक्ष मतदान से प्रधान का निर्वाचन हुआ है. आरक्षित सीट पर मधु ने जीत दर्ज की है. प्रतिद्वंदी बिंदु कुमार को 54 वोटों से हराया है. विकास दुबे के अंत के बाद निष्पक्ष मतदान हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज