UP: फ़रवरी में हो सकता है पंचायत चुनाव, 9 नवंबर से शुरू होगी परिसीमन की प्रक्रिया

यूपी में अगले साल फ़रवरी तक हो सकता है पंचायत चुनाव
यूपी में अगले साल फ़रवरी तक हो सकता है पंचायत चुनाव

UP Panchayat Election: अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह ने गौतमबुद्धनगर, गोंडा, संभल व मुरादाबाद जिले में परिसीमन के लिए समय सारिणी तय कर दी है. इसके मुताबिक ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन के संबंध में 9 से 20 नवंबर तक प्रस्ताव लिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 12:00 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार (Yogi Government) फरवरी 2021 में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) कराने की तैयारी कर रही है. सरकार की कोशिश है कि अगले साल होने वाले यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को संपन्न करा लिया जाए. इसी क्रम में गौतमबुद्धनगर, गोंडा, संभल व मुरादाबाद जिले में ग्राम पंचायतों के परिसीमन की प्रक्रिया 9 नवंबर से शुरू हो रही है. अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज मनोज कुमार सिंहइसके आदेश जारी कर दिए हैं. इन चार जिलों में 2015 में परिसीमन नहीं हो पाया था. पंचायतों के पुनर्गठन की अधिसूचना का गजट नोटिफिकेशन 18 दिसंबर तक कर दिया जाएगा.

गजट नोटिफिकेशन 18 दिसंबर तक

अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह ने गौतमबुद्धनगर, गोंडा, संभल व मुरादाबाद जिले में परिसीमन के लिए समय सारिणी तय कर दी है. इसके मुताबिक ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन के संबंध में 9 से 20 नवंबर तक प्रस्ताव लिए जाएंगे. 21 से 25 नवंबर तक ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन व परिसीमन के लिए जिला स्तर पर तैयार प्रस्ताव का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा. 2 दिसंबर तक अंतिम प्रकाशन पर आपत्तियां प्राप्त की जाएंगी. परीक्षण के बाद सभी आवेदन पत्रों पर अंतिम संस्तुतियां 6 दिसंबर तक पंचायत निदेशालय को भेजी जाएंगी. निदेशालय स्तर पर 7 से 13 दिसंबर के बीच अधिसूचना जारी की जाएगी. इस अधिसूचना का गजट नोटिफिकेशन 14 से 18 दिसंबर के बीच किया जाएगा/



लॉकडाउन की वजह से हुई देरी
जानकारी के मुताबिक पिछले पांच सालों में नगरीय निकायों के सीमा विस्तार से जो 42 जिले प्रभावित हुए हैं, उनमें ग्राम पंचायतों के परिसीमन का कार्य इसी माह पूरा कर लिया जाएगा. साल के आखिर तक पंचायतों की मतदाता सूची का पुनरीक्षण भी पूरा हो जाएगा. गौरतलब है कि प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायतों का कार्यकाल अगले माह 25 दिसंबर को पूरा हो जाएगा. इस वर्ष मार्च महीने से कोविड-19 की परिस्थितियों और फिर लॉकडाउन के चलते चुनाव की तैयारियां समय से प्रारंभ नहीं हो सकीं थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज