अपना शहर चुनें

States

UP Panchayat Election: तारीखों के ऐलान से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने 6 लाख लोगों को दिया घर का तोहफा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

UP Panchayat Election: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के 6.1 लाख लाभार्थियों को पीएम आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत 2 हजार 691 करोड़ रुपए की साहायता राशि जारी कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने यूपी के पांच जिलों में एक-एक लाभार्थियों से भी बात की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 6:50 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मार्च-अप्रैल में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) की बिसात बिछ चुकी है. 2022 के विधानसभा चुनाव से इसे सत्ता का सेमीफइनल माना जा रहा है. ऐसे में बीजेपी (BJP) ने अपनी तैयारियों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है. पार्टी ग्रामीण इलाकों में बीजेपी की जीत सुनिश्चित करने और सपा-बसपा के वर्चस्व को ख़त्म करने में जुटी है. यही वजह है कि पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बुधवार को यूपी के ग्रामीण इलाकों से आने वाले 6 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत करोड़ों रुपए की सौगात दी. इसे पंचायत चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के 6.1 लाख लाभार्थियों को पीएम आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत 2 हजार 691 करोड़ रुपए की सहायता राशि जारी कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने यूपी के पांच जिलों में एक-एक लाभार्थियों से भी बात की. इस सहायता में 5.30 लाख ऐसे लाभार्थी हैं, जिन्हें आर्थिक सहायता की पहली किस्त मिली, जबकि 80 हजार लाभार्थी ऐसे रहे, जिन्हें दूसरी किस्त मिली.





ये है योजना
ऐसा माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव की तारीखों के ऐलान से पहले प्रधानमंत्री के जरिए यूपी सरकार ने बड़ा दांव खेला है. क्योंकि बीजेपी इस बार अपनी पहुंच पंचायत तक करवाना चाहती है. लिहाजा प्रधानमंत्री का चेहरा बीजेपी को फायदा पहुंचा सकता है. यही वजह है कि पंचायत चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पीएम आवास देना एक बड़ी सौगात माना जा रहा. यह कदम सूबे में होने वाले पंचायत चुनाव में बीजेपी को फायदा पहुंचा सकता है.

दरअसल, इस बार के पंचायत चुनाव में बीजेपी अपने अधिकृत प्रत्याशियों के साथ लड़ने जा रही है. इसके लिए बीजेपी ने अपने नेताओं को जिम्मेदारी भी सौंप दी है. जिम्मेदार नेता इस काम में जुट गए हैं. बीजेपी पहले ही कह चुकी है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पार्टी नेताओं के परिवार की जगह, जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं को तरजीह देगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज