UP पंचायत चुनाव: जानें, क‍िस ग्राम पंचायत में एक भी नहीं पड़ा वोट और जीत गई 11 मह‍िलाएं

उत्तर प्रदेश का पहला गांव है जहां ग्राम पंचायत की सभी सदस्य महिलाएं हैं

उत्तर प्रदेश का पहला गांव है जहां ग्राम पंचायत की सभी सदस्य महिलाएं हैं

UP News: उत्‍तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर में हसुड़ी औसानपुर ग्राम पंचायत के सभी 11 वार्डों में पंचायत चुनाव लड़ रही महिलाएं निर्विरोध निर्वाचित हुई हैं.

  • Share this:
उत्‍तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर में एक कार्यकाल में एक अंतरराष्ट्रीय व पांच राष्ट्रीय पुरस्कार जीतकर पिंक विलेज के नाम से मशहूर हसुड़ी औसानपुर ग्राम पंचायत के सभी 11 वार्डों में पंचायत चुनाव लड़ रही महिलाएं निर्विरोध निर्वाचित हुई हैं. दिलीप त्रिपाठी लगातार दूसरी बार चुनाव जीतकर ग्राम प्रधान बने हैं. उत्तर प्रदेश का पहला गांव है जहां ग्राम पंचायत की सभी सदस्य महिलाएं हैं इन्हीं महिलाओं के हाथों में शिक्षा स्वच्छता जल प्रबंधन चिकित्सा एवं अन्य समितियों की जिम्मेदारी होगी.

हसुड़ी औसानपुर जिले के भनवापुर ब्लाक क्षेत्र में स्थित है. गांव की कुल आबादी लगभग 1100 के करीब है. विकास के मामले में प्रदेश के आकांक्षी जनपदों में शुमार सिद्धार्थनगर को अपने गांव हसुड़ी औसानपुर के बदौलत देश दुनिया में जाना जा रहा है.

इस गांव की उपलब्धियां

हसुड़ी औसानपुर को कई अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तर के पुरस्कार मिल चुके हैं.
अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

मालादीव ग्लोबल यूथ पीस एंबेसडर अवॉर्ड

राष्ट्रीय पुरस्कार



1-लगातार तीन बार पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित --वर्ष 2017 से 2020 तक

2-लगातार दो बार नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा सम्मान-- वर्ष 2017 एवं 2018

Youtube Video


प्रदेश स्तर पुरस्कार

1--डॉ राम मनोहर लोहिया पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार—वर्ष 2020

यह ग्राम पंचायत अपने काम के बदौलत नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा सर्वोच्च पंचायती पुरस्कार लगातार दो बार जीता है. यहां का वातानुकूलित और डिजिटल ग्राम पंचायत भवन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई को समर्पित है यहां सभी जानकारी ऑनलाइन मिलेगी और यहां का उच्चीकृत स्कूल पूरी तरह से वातानुकूलित एवं कंप्यूटर लैब से सुसज्जित है. ग्रामीणों ने गांव के विकास के लिए एक बार फिर से प्रधान दिलीप त्रिपाठी पर ही भरोसा जताया है.

ग्राम प्रधान का चुनाव जीत चुके दिलीप त्रिपाठी ने कहा है कि महिलाएं ही ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी उठाएंगे शिक्षा समिति होगी, जो बच्चों के पढ़ाई के बारे में कार्य करेगी जल्द समिति शुद्ध पेयजल की आपूर्ति पर ध्यान देंगी, अलग-अलग समितियां हैं जो गांव का सर्वांगीण विकास करेगी. मुख्य विकास अधिकारी पुलकित गर्ग ने कहा है कि ग्राम पंचायत के सभी सदस्य महिला का निर्वाचित होना उल्लेखनीय है हसुड़ी औसानपुर में बेहतर काम हुआ है गांव के विकास में महिलाएं भी अपना योगदान देंगी.

चुनाव जीतने वाली महिलाएं

1-पल्लवी

2-सितारा

3- संजू देवी

4-नजबुन्निशा

5- रिचा त्रिपाठी

6- गीता देवी

7- रिहाना

8- रफीकुन निशा

9- रेमा

10- फूलमती

11- रीना

भनवापुर ब्लाक के ग्राम प्रधान के प्रधान दिलीप त्रिपाठी ने पिछले कार्यकाल में गांव का चौमुखी विकास किया गांव की सुविधाओं को हाईटेक करने के साथ ही गांव की सड़कों को सीसी एवं इंटरलॉक करवाया गांव के हर घर की दीवारों को पिंक कलर से रंगवाते हुए आधुनिक डिजाइन बनवाए. इसके चलते गांव को पूरे प्रदेश में पिंक विलेज के नाम से जाना जाने लगा. जॉन का प्राइमरी स्कूल प्रदेश का पहला एयर कंडीशन स्कूल बना ग्रामीणों को सरकार की योजनाएं टीकाकरण की जानकारी समय-समय पर घर बैठे ही मिलती रहे. इसके लिए पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगवाया. इसके लिए हर दूसरे फूल को साउंड सिस्टम से जोड़ दिया गया है. एक जगह बैठकर अनाउंस होते ही पूरे गांव को जानकारी मिल जाती है और बाहरी लोगों की आवाजाही की निगरानी के लिए 23 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज