UP Panchayat Chunav 2021: AAP ने जारी की प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट, CM योगी पर साधा निशाना

आम आदमी पार्टी ने जारी की प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट

आम आदमी पार्टी ने जारी की प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट

Aam Admi Party Panchayat Candidates List: राजधानी लखनऊ स्थित आम आदमी पार्टी मुख्यालय पर राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने जिला पंचायत सदस्य पद पर अपने 448 समर्थित प्रत्याशियों की चौथी सूची जारी की.

  • Share this:
लखनऊ. दिल्ली की तर्ज पर उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी अपनी पैठ बनाने के लिए आम आदमी पार्टी (AAP) इन दिनों युद्ध स्तर पर प्रयास करती नजर आ रही है. इसके तहत यूपी में साल 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाली आम आदमी पार्टी अब अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिये पहली बार यूपी के पंचायत चुनाव (UP Panchayat Elections 2021) भी लड़ने जा रही है. मंगलवार को आम आदमी पार्टी ने एक ओर जहां जिला पंचायत सदस्य पद के अपने समर्थित प्रत्याशियों की चौथी सूची जारी कर दी है, तो वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हिंदुस्तान में कानून का सबसे ज्यादा दुरुपयोग करने वाला मुख्यमंत्री करार देते हुए जमकर निशाना साधा.

उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित आम आदमी पार्टी मुख्यालय पर राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने सबसे पहले जिला पंचायत सदस्य पद पर अपने 448 समर्थित प्रत्याशियों की चौथी सूची जारी की. संजय सिंह ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, 'इस सरकार ने मेरे ऊपर राष्ट्रद्रोह समेत 14 विभिन्न धाराओं में फर्जी मुकदमे दर्ज कराए हैं. 96 लोगों पर NSA के तहत फर्जी मुकदमें दर्ज किए गए. उन्हें जेल भेजा गया, उन पर ज़ुल्म किये गए, लेकिन हाईकोर्ट ने इन मामलों को ख़ारिज कर ये साबित कर दिया है कि योगी सरकार में NSA के 80 फीसद मामले फर्जी दर्ज किए गए. हाईकोर्ट का ये फैसला साबित करता है कि हिंदुस्तान में अगर किसी ने कानून का सबसे ज्यादा दुरुपयोग किया है, तो वो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ है. ऐसे में इस सच्चाई के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का कोई नैतिक हक नहीं है.'

पंचायत चुनाव में धारा 144 लगाने पर उठाए सवाल

संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश में फैल रहे कोरोना से निपटने के लिए पंचायत चुनाव में 5 से ज्यादा लोगो के न एकत्र होने को लेकर दिए गए निर्देश पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि बुधवार को इसकी शिकायत राज्य निर्वाचन आयोग से किया जाएगा। उन्होंने  प्रदेश में जगह-जगह बीजेपी नेताओं को जनता खदेड़ रही है. इससे बचने और विरोधियों को चुनाव प्रचार से रोकने के लिए सरकार ने यह बेतुका फरमान जारी किया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बंगाल, केरल, तमिलनाडु आदि राज्यों में घूमकर चुनावी सभा और रैली कर रहे हैं, तब वहां उन्हें कोरोना संक्रमण का खतरा नजर नहीं आ रहा है. लेकिन यूपी में हार के डर से उन्हें पंचायत चुनाव में कोरोना फैलने का डर सताने लगा है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज