Home /News /uttar-pradesh /

यूपी में बिजली बचाने के लिए लोगों को मिलेगा LED बल्ब

यूपी में बिजली बचाने के लिए लोगों को मिलेगा LED बल्ब

अभी तक केवल नारे और प्रचार के माध्यम से बिजली बचत की कोशिशें की जाती थीं, लेकिन अब धीरे-धीरे व्यवहारिक रूप में भी बिजली बचत की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं.

अभी तक केवल नारे और प्रचार के माध्यम से बिजली बचत की कोशिशें की जाती थीं, लेकिन अब धीरे-धीरे व्यवहारिक रूप में भी बिजली बचत की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं.

अभी तक केवल नारे और प्रचार के माध्यम से बिजली बचत की कोशिशें की जाती थीं, लेकिन अब धीरे-धीरे व्यवहारिक रूप में भी बिजली बचत की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं.

    अभी तक केवल नारे और प्रचार के माध्यम से बिजली बचत की कोशिशें की जाती थीं, लेकिन अब धीरे-धीरे व्यवहारिक रूप में भी बिजली बचत की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं.

    इसी के तहत प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एलईडी बल्ब बांटने की शुरुआत की जा रही है. बिजली बचत के लिए विद्युत नियामक आयोग ने बिजली कंपनियों को प्रदेश के कई शहरों में बिजली उपभोक्ताओं को एलईडी बल्ब देने के निर्देश दिए हैं.

    इसी के तहत यूपी के लखनऊ में भी ग्यारह अगस्त से एलईडी वितरण शुरू किया जा रहा है. लेसा के जीएम एसके वर्मा ने बताया कि लेसा के माध्यम से होने वाले वितरण में केवल सौ रुपए की कीमत में सात वाट का एक एलईडी बल्ब दिया जाएगा.

    दो किलोवाट तक बिजली उपयोग करने वाला प्रत्येक उपभोक्ता पांच एलईडी ले सकता है. दो किलोवाट से ज्यादा उपयोग करने वालों को दस एलईडी दी जाएगी, वहीं मंगलवार को ऊर्जा राज्य मंत्री एलईडी वितरण की शुरुआत करेंगे और इसके बाद गुरुवार से सभी बिलिंग केन्द्रों पर इसका वितरण शुरू हो जाएगा.

    मल्टीस्टोरी बिल्डिंग में फ्लैट में रहने वालों के लिए विशेष कैंप लगाकर एलईडी वितरण किया जाएगा. एलईडी बल्ब का वितरण अभी चुनिंदा शहरों में ही किया जा रहा है. अगर इसे पूरे प्रदेश में बांटा जाए तो बिजली के उपयोग में तो कमी आएगी ही, साथ ही बाजार में बिक रहे एलईडी बल्ब के दाम भी कम होंगे.

     

    आपके शहर से (लखनऊ)

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर