Home /News /uttar-pradesh /

Petrol-Diesel Price Hike: तेल की बढ़ती कीमतों से कैसे पाएं निजात? इन 10 तरीकों से आपकी जेब पर नहीं पड़ेगा फर्क

Petrol-Diesel Price Hike: तेल की बढ़ती कीमतों से कैसे पाएं निजात? इन 10 तरीकों से आपकी जेब पर नहीं पड़ेगा फर्क

 अक्टूबर में अब तक लगभग 5 रुपए बढ़ गए डीजल के रेट

अक्टूबर में अब तक लगभग 5 रुपए बढ़ गए डीजल के रेट

UP Petrol-Diesel Price Rise: सवाल ये है कि आखिर बढ़ती कीमतों का मुकाबला कैसे किया जा सकता है. रास्ते तो दो ही बचते हैं. या तो पेट्रोल के भाव कम हो जायें या फिर ऐसी गाड़ी हो जिसका एवरेज पहले से ज्यादा हो. ये दोनों ही तरकीब आम इंसान के हाथ में नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. पेट्रोल-डीजल की कीमत (Petrol Diesel Price) हर रोज लगभग बढ़ रही है. आम जनता का ज्यादा वास्ता पेट्रोल की कीमतों से ही हर रोज पड़ता है. पेट्रोल लखनऊ में 102 रूपये के प्रति लीटर के पार चला गया है. इसमें अमूमन हर रोज बढ़ोतरी ही हो रही है. ऐसे में मीडिल क्लास बाइक सवारों के लिए मुसीबत दिनों-दिन बढ़ती जा रही है. बजट गड़बड़ा रहा है, लेकिन, सवाल ये है कि आखिर बढ़ती कीमतों का मुकाबला कैसे किया जा सकता है. रास्ते तो दो ही बचते हैं. या तो पेट्रोल के भाव कम हो जायें या फिर ऐसी गाड़ी हो जिसका एवरेज पहले से ज्यादा हो. ये दोनों ही तरकीब आम इनसान के हाथ में नहीं है. न तो वो पेट्रोल के भाव कम कर सकता है और ना ही ज्यादा एवरेज की नयी गाड़ी खरीद सकता है. तो फिर रास्ता क्या है? लेकिन रास्ता है. कुछ ऐसे उपाय हैं जिन पर अमल करके आप पेट्रोल की बढ़ती कीमतों का असर कम कर सकते हैं. अपनी मौजूदा गाड़ी को सही ढ़ंग से चलाकर आप इतना पहले से बेहतर एवरेज ले सकते हैं. एवरेज बढ़ जाने से कम तेल में ज्यादा गाड़ी चलायी जा सकती है. कुछ तो राहत मिल ही जायेगा. तो आइये जानते हैं उन उपायों को…

1. ACB नहीं बल्कि ABC पैटर्न पर करें ड्राइविंग
ज्यादातर बाइक सवार ACB फार्मूले पर ड्राइविंग करते हैं. यानी गाड़ी को कण्ट्रोल करने के लिए पहले एक्सीलिरेटर फिर क्लच और फिर ब्रेक का इस्तेमाल करते हैं. उन्हें गाड़ी की रफ्तार अचानक कम होने से उसके बन्द हो जाने का डर रहता है. मैकेनिक इसके उलट सलाह देते हैं. वे ABC फार्मूले पर गाड़ी चलाने को कहते हैं. यानी पहले एक्सीलिरेटर का कम करें, फिर ब्रेक लगाये और जरूरत पड़े तो क्लच दबायें. ऐसा करने पर माइलेज बेहतर मिलेगा. बार-बार क्लच लेने से तेल ज्यादा खर्च होता है.

2. इकॉनोमी ज़ोन में बाइक चलायें –
बेहतर एवरेज लेने के लिए ये सबसे सटीक उपाय है. ज्यादातर बाइक चालकों को इसके बारे में पता नहीं होता है, जबकि ये उनके सामने ही स्पीडोमीटर पर बना होता है. स्पीडोमीटर पर स्पीड को बताने वाले मीटर पर ही एक हरे रंग की पट्टी बनी होती है. इसमें इस पट्टी के बगल में बकायदा इकॉनोमी लिखा भी होता है. आम तौर पर 30 से 50 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार इकॉनोमी मानी जाती है. यानी इस रेंज में बाइक सबसे बेहतर एवरेज देती है.

3. रेड लाइट पर बन्द करें बाइक
रेड लाइट पर रूकने के दौरान ज्यादातर लोग अपनी बाइक स्टार्ट ही रखते हैं. इससे बेमतलब तेल फूंकता है. 15 सेकेण्ड से ज्यादा रूकना हो तो गाड़ी बन्दकर दें. 15 सेकेण्ड से कम समय बचा हो तो गाड़ी बन्द न करें क्योंकि गाड़ी के दोबारा स्टार्ट होने में उतना तेल जल जायेगा.

4. टायर में एयर प्रेशर प्रॉपर रखें
बतायी गयी मात्रा के अनुसार टायरों में हवा होना बेहद जरूरी है. हवा के कम होने से इंजन पर ज्यादा जोर पड़ता है और तेल ज्यादा खर्च होता है. इसलिए दूसरे-तीसरे दिन हवा जरूर चेक कराते रहें. इससे बेहतर माइलेज मिल सकेगा.

5. टाइमली सर्विसिंग
बहुत कम ही लोग जानते हैं कि गाड़ी की सर्विसिंग का माइलेज पर बहुत फर्क पड़ता है. चेन की ग्रीस सूख जाने, एयर फिल्टर के गंदा हो जाने या फिर चेन ढ़ीली होने से इंजन पर ज्यादा जोर पड़ता है. ज्यादा जोर का मतलब ज्यादा तेल खर्च. ऐसे में समय पूरा होते ही गाड़ी की सर्विसिंग करायें.

6. बेवजह रेस न करें बाइक
अक्सर जब हम कहीं चलने के लिए गाड़ी निकालते हैं तो चलने से पहले बाइक रेस करने लगते हैं. इससे गाड़ी पर तो कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन, तेल बेवजह ज्यादा जलता है. इसमें सुधार लाकर माइलेज बढ़ाया जा सकता है.

7. गियर बदलने के बाद एक्सीलिरेटर पर रखें कण्ट्रोल
अक्सर हम गियर बदलते ही एक्सीलिरेटर ज्यादा ले लेते हैं. इससे हमें पिक-अप तो मिल जाता है लेकिन, फ्यूल ज्यादा खर्च होता है. ऐसे में गियर बदलने के बाद धीरे-धीरे ही एक्सीलिरेटर बढ़ाये. इससे गाड़ी के इंजन पर ज़ोर भी नहीं पड़ेगा और माइलेज भी बेहतर मिलेगा.

8. प्रॉपर गियर में गाड़ी चलायें
इसका ध्यान रखकर आप काफी तेल बचा सकते हैं. गाड़ी के स्पीडोमीटर पर बकायदा ये लिखा होता है कि किस रफ्तार तक पहुंचने के बाद आपको गियर बदल लेना चाहिए. गौर से उसे देखें और पालन करें. इससे गाड़ी के इंजर पर भी बुरा असर नहीं पड़ेगा और माइलेज भी अच्छा मिलेगा.

9. क्लच और ब्रेक लीवर से हाथ और पैर को रखें दूर
गाड़ी चलाते समय हमें क्लच लीवर से ऊंगलियों को दूर रखना चाहिए. जाने-अनजाने हमारी दो-तीन ऊंगलियां हैण्डल के साथ-साथ क्लच लीवर पर भी पहुंच जाती है. क्लच लीवर पर दबाव न भी हो तो भी ऊंगलियों के सिर्फ रखे होने से ही क्लच पर असर पड़ता है. ऐसा करने से क्लच लीवर बहुत मामूली खिंचा रहता है और गाड़ी की रफ्तार पर इसका असर पड़ता है. ब्रेक पैडल से भी पैर को दूर रखना चाहिए क्योंकि हमें पता ही नहीं चलता कि कब पैर के मामूली दबाव से हल्का सा ब्रेक लगा रहता है. इससे माइलेज गिरता है और गाड़ी के पार्ट्स भी जल्दी खराब हो जाते हैं.

10. बहुत छोटी दूरी के लिए बाइक निकालने से बचें
ये बहुत जरूरी उपाय है. इससे सेहत भी सुधरेगी और तेल भी बचेगा. आम तौर पर मुहल्ले की दुकान या सब्जी लेने के लिए भी लोग बाइक लेकर निकल पड़ते हैं. भले उन्हें 100 मीटर से भी कम जाना हो. इस आदत में सुधार लाना होगा. पैदल चलकर जायें और बाइक न निकालें. जितनी कम बाइक चलायेंगे, तेल उतना ही ज्यादा बचेगा.

Tags: Lucknow news, Petrol and diesel prices continued to rise, Petrol price hike, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर