UP Panchayat Chunav 2021: बड़े एक्शन की तैयारी में यूपी पुलिस, माफियाओं और कुख्यात बदमाशों पर अब ऐसे कसेगी नकेल

यूपी पुलिस शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए 'ऑपरेशन डंका' चला रही है. (फाइल फोटो)

यूपी पुलिस शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए 'ऑपरेशन डंका' चला रही है. (फाइल फोटो)

UP Panchayat Election 2021: यूपी पंचायत चुनाव में खलल डालने की कोशिश करने वालों के खिलाफ यूपी पुलिस (UP Police) ने अभी से ही अभियान छेड़ दिया है. इसके लिए जेल (Jail) में बंद माफियाओं और कुख्यात बदमाशों (Mafias and Notorious Miscreants) की एक लिस्ट तैयार की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 3:10 PM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) को लेकर पूरे राज्य में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं. इधर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Western Uttar Pradesh) में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में सनसनी फैलाने वालों पर यूपी पुलिस (UP Police) नकेल कसने के लिए विशेष तैयारी भी शुरू कर दी है. चुनाव में खलल डालने की कोशिश करने वालों के खिलाफ पुलिस ने अभी से ही अभियान छेड़ दिया है. इसके लिए जेल में बंद माफियाओं और कुख्यात बदमाशों (Mafias and Notorious Miscreants) की एक लिस्ट तैयार की जा रही है. दरअसल कई शातिर अपराधियों ने अपने सगे-संबंधियों को पंचायत चुनाव में उतारने का प्लान बनाया है. ऐसे में गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, बुलंदशहर और बागपत जैसे इलाकों में बाहुबलियों पर कई तरह से नजर रखी जा रही है. यूपी पुलिस और जेल प्रशासन जेल में बंद अब इन बदमाशों की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिग से कराने की तैयारी कर रही है ताकि ये अपराधी अपने परिवार और सगे संबंधियों से चुनाव तक मिल न सकें.

यूपी पुलिस की ये है तैयारी

राज्य निर्वाचन आयोग ने भी इसके लिए सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किए हैं. दूसरी तरफ वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी हर रोज पंचायत चुनाव से संबंधित जानकारी जिलों के एसएसपी और एसपी से ले रहे हैं. मेरठ रेंज के आईजी भी हर दिन पंचायत चुनाव की जानकारी पुलिस कप्तानों से मांग रहे हैं. पिछले दिनों ही मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार ने सभी जिलों से 6 महीने से वांछित अपराधियों की लिस्ट मांगी है.

UP panchayat election 2021, allahabad high court, gautam budh nagar, bulandshahr, noida, यूपी पंचायत चुनाव 2021, इलाहबाद हाईकोर्ट, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, नोएडा
यूपी पंचायत चुनाव में कानपुर की आरक्षण लिस्ट जारी कर दी गई है. (File photo)

पांच हजार बदमाशों पर ऐसे रहेगी नजर

इसके साथ ही चुनाव को ध्यान में रखते हुए शस्त्र लाइसेंस भी जमा कराए जा रहे हैं. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 5 हजार से ज्यादा बदमाश जेल में बंद हैं. साथ ही सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले मैसेज पर विशेष नजर रखने की हिदायत दी गई है. गलत और भ्रामक सूचना फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई के भी निर्देश दिए गए हैं.

बदमाशों के सगे-संबंधियों पर ऐसे रहेगी नजर



बता दें कि पुलिस को सूचना मिल रही है कि कुछ अपराधी अपने परिवारवालों को या रिश्तेदारों को चुनाव लड़वाना चाह रही है. जेल में बंद इन बदमाशों के द्वारा पेशी पर आने के दौरान अपने गुर्गों के माध्यम से दूसरों को चुनाव नहीं लड़ने की धमकी दे रहे हैं. इसलिए अब पुलिस इस तरह के अपराधियों की रिकॉर्ड खंगाल रही है.

उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने खास निर्देश जारी किये हैं.
हाईकोर्ट के 15 मार्च के आदेश पर पंचायतों में दोबारा तय हुए आरक्षण और सीटों को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है.


ये भी पढ़ें: शिकायतकर्ता का अंग्रेजी में शिकायत लिखना यहां बन गया जी का जंजाल, Police ने लौटाया और कहा...

गौरतलब है कि हाईकोर्ट के 15 मार्च के आदेश पर पंचायतों में दोबारा तय हुए आरक्षण और सीटों को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है. ऐसे में सोशल मीडिया पर भाम्रक सूचना वायरल होने से कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका बनी रहती है. इसलिए यूपी पुलिस चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर भेजे जाने वाली पोस्ट, वीडियो और ऑडियो क्लिप पर अब विशेष नजर रखेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज