अपना शहर चुनें

States

UP: हिरासत में लिये गये सपा MLC आशु मलिक और राजपाल कश्यप, बोले- ये अघोषित इमरजेंसी

हिरासत में लिये गये सपा MLC आशु मलिक और राजपाल कश्यप
हिरासत में लिये गये सपा MLC आशु मलिक और राजपाल कश्यप

दूसरी तरफ प्रशासन ने सपा प्रमुख को घर पर ही रोकने के लिये गौतम पल्ली से लेकर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के घर तक पूरे विक्रमादित्य मार्ग को सील कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. केंद्र सरकार (Central Government) के कृषि बिल (Agriculture Act) के विरोध में जहां देशभर के किसान आन्दोलन (Farmers Protest) कर रहे हैं. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सोमवार से किसानों के समर्थन में पदयात्रा का ऐलान किया है. वहीं, सपा के प्रदर्शन को देखते हुये पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद है. इस बीच विक्रमादित्य मार्ग स्थित पार्टी दफ्तर जा रहे समाजवादी पार्टी के एमएलसी राजपाल कश्यप और आशू मलिक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इस दौरान सपा एमएलसी की पुलिस से झड़प भी हुई.

वहीं, सपा एमएलसी राजपाल कश्यप ने हिरासत में लिये जाने का विरोध करते हुये कहा कि ''हमें क्यों रोका जा रहा है, ये अघोषित इमरजेंसी है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि अखिलेश जी को घर पर क्यों रोका गया''? बता दें कि, समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव किसानों के समर्थन में आज कन्नौज जाने वाले हैं. वहां पर वे ट्रैक्टर चलाकर किसानों के पक्ष में अपनी बात रखेंगे. यही नहीं, सपा ने 75 जिलों में किसान यात्रा निकालने का भी ऐलान किया है.


दूसरी तरफ प्रशासन ने सपा प्रमुख को घर पर ही रोकने के लिये गौतम पल्ली से लेकर अखिलेश यादव के घर तक पूरे विक्रमादित्य मार्ग को सील कर दिया है. प्रशासन ने बैरिकैडिंग लगाकर रास्ते को ब्लॉक कर दिया है. इस बीच सपा प्रमुख ने ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा और कार्यकर्ताओं से किसान यात्रा में शामिल होने की अपील की.



अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, 'क़दम-क़दम बढ़ाए जा, दंभ का सर झुकाए जाये जा, जंग है ज़मीन की, अपनी जान भी लगाए जा..., किसान-यात्रा’ में शामिल हों!' उधर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि सरकार इतनी कमजोर और कायर हो गयी है कि अखिलेश यादव के कन्नौज जाने से ही डर गई. अखिलेश यादव का जो संवैधानिक अधिकार है, उसकी हत्या हो रही है. भारतीय जनता पार्टी लोकतांत्रिक अधिकारों को कुचलने में लगी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज