UP: इस बार पंडालों में नहीं विराजेंगे भगवान गणेश, मोहर्रम में ताजिया निकालने पर भी रोक
Lucknow News in Hindi

UP: इस बार पंडालों में नहीं विराजेंगे भगवान गणेश, मोहर्रम में ताजिया निकालने पर भी रोक
यूपी पुलिस के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी

डीजीपी (DGP) ने अपने आदेश में सभी जिला कप्तानों को कहा है कि कोरोना के चलते केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन करवाया जाए. धारा 144 का सख़्ती से पालन करवाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2020, 3:30 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कोरोना काल (COVID-19) में गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) और मोहर्रम (Moharram) को लेकर यूपी पुलिस (UP Police) के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी (DGP Hitesh Chandra Awasthi) ने गाइडलाइन जारी कर दी है. इस साल गणेश चतुर्थी में पूजा पंडालों में मूर्ति स्थापना पर रोक रहेगी. साथ ही शोभा यात्रा, जुलूस, झांकी पर भी पाबंदी रहेगी. मोहर्रम पर भी जुलूस और ताज़िए निकालने पर रोक रहेगी. इस संबंध में जिला पुलिस कप्तानों को धर्मगुरुओं, ताजियेदारों से संपर्क में रहने के निर्देश दिए गए हैं. डीजीपी ने अपने आदेश में सभी जिला कप्तानों को कहा है कि कोरोना के चलते केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन करवाया जाए. धारा 144 का सख़्ती से पालन करवाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

सोशल मीडिया पर निगरानी के निर्देश

डीजीपी के आदेश में कहा गया है कि संवेदनशील स्थानों की सीसीटीवी और ड्रोन से निगरानी की जाए. साथ ही सोशल मीडिया पर अफ़वाह और भड़काऊ पोस्ट डालने पर तुरंत कार्रवाई की जाए. आदेश में कहा गया है कि इलाके के पहले से चिन्हित अपराधी और असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगरानी राखी जाए. जरुरत पड़ने पर तुरंत निरोधात्मक कार्रवाई की जाए. बीट व थाना इंचार्ज छोटी से छोटी घटना पर तुरंत रिस्पांस करें.



सादगी से घरों में मनाएं त्योहार
डीजीपी ने कहा है कि किसी भी सूरत में कोविड-19 के लिए जारी दिशा निर्देश का उल्लंघन न हो. लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया जाये. इतना ही नहीं गणेश चतुर्थी के मौके पर पूजा पंडालों में मूर्ति की स्थापना न हो और किसी भी तरह के शोभा यात्रा या जुलुस निकालने की अनुमति न दी जाए. उन्होंने कहा है कि गणेश पूजन लोग सादगी से घरों पर ही मनाएं इसके लिए प्रेरित किया जाए. मोहर्रम के अवसर पर किसी भी प्रकार के जुलूस और ताजिया निकलने की अनुमति न धी जाए. इस बारे में धर्मगुरुओं से संवाद स्थापित कर कोरोना के गाइडलाइन्स का पालन करवाया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज