BSP में राज्यसभा प्रत्याशी को लेकर बगावत, 5 विधायकों के यू-टर्न से सपा समर्थित निर्दलीय प्रकाश बजाज की जीत तय!

बसपा प्रमुख मायावती को झटका
बसपा प्रमुख मायावती को झटका

UP Rajya Sabha Election: रामजी गौतम के नामांकन पत्र में प्रस्तावक बने बसपा के 5 विधायक अपना नाम वापस लेने के लिए विधानसभा पहुंच गए. ऐसे में अब बसपा प्रत्याशी का नामांकन रद्द होने का खतरा मंडरा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 12:52 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में राज्यसभा (Rajya Sabha Election) की 10 सीटों पर होने वाले चुनाव को लेकर घमासान जारी है. नामांकन के आखिरी दिन समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) समर्थित प्रकाश बजाज ने नामांकन कर बसपा (BSP) प्रत्याशी रामजी गौतम की मुश्किल बढ़ा दी. बुधवार को बसपा में ही राज्यसभा प्रत्याशी रामजी गौतम के नामांकन को लेकर बगावत हो गई. बसपा के 5 विधायक (जो रामजी गौतम के नामांकन पत्र में प्रस्तावक बने थे) अपना नाम वापस लेने के लिए विधानसभा पहुंच गए. ऐसे में अब बसपा प्रत्याशी का नामांकन रद्द होने का खतरा मंडरा रहा है.

दरअसल, राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी के प्रस्तावक के रूप में 10 विधायकों का होना जरूरी होता है. लेकिन, अब पार्टी के ही पांच विधायक असलम चौधरी, असलम राईनी, मुत्‍जबा सिद्दीकी, हाकम लाल बिंद और गोविंद जाटव ने अपना प्रस्ताव वापस ले लिया है. ऐसे में अब स्क्रूटनी के दौरान बसपा प्रत्याशी का नामांकन रद्द होना तय माना जा रहा है, क्योंकि अब नए प्रस्तावक बनाने का समय भी नहीं रहा. अगर बसपा प्रत्याशी का नामांकन रद्द होता है सपा समर्थित प्रकाश बजाज का राज्यसभा पहुंचना तय है. बीजेपी के 8 प्रत्याशियों की जीत पहले ही तय है. जबकि सपा के एक प्रत्याशी  प्रो रामगोपाल भी उच्च सदन के लिए चुन लिए जाएंगे.

पांच बागी विधायकों ने की थी अखिलेश से मुलाक़ात
बताया जा रहा है कि बसपा के सभी पांच बागी विधायकों ने मंगलवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी. इसके बाद ही सपा ने निर्दलीय के तौर पर आखिरी वक्त में प्रकाश बजाज का नामांकन करवा दिया. इसके बाद एक सीट के लिए मतदान तय माना जा रहा था. लेकिन, बुधवार को जैसे ही बसपा के पांच विधायकों ने प्रस्तावक के तौर पर अपना नाम वापस लिया तो सारा खेल ही बिगड़ गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज