Home /News /uttar-pradesh /

UP Scrap Scam : कॉपर से करोड़ों के वारे न्यारे, जांच में फंसी बाराबंकी की महिला अफसर अंजलि चौरसिया

UP Scrap Scam : कॉपर से करोड़ों के वारे न्यारे, जांच में फंसी बाराबंकी की महिला अफसर अंजलि चौरसिया

UP: पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सम्मान प्राप्त करती वाणिज्य कर आयुक्त मिनिस्ट्री एस (File photo)

UP: पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सम्मान प्राप्त करती वाणिज्य कर आयुक्त मिनिस्ट्री एस (File photo)

Tax Scam : वाणिज्य कर विभाग में ये सारा खेल चल रहा है और आरोप है कि इसमें विभाग के कई आला अधिकारी शामिल हैं. 9 लाख के टैक्स के बजाय कैसे सिर्फ 90 हज़ार जमा कर सरकारी नियमों और खज़ाने को चूना लगाया जा रहा है, यहां पढ़िए. इस मामले में अयोध्या के एडिशनल कमिश्नर ने अपनी जांच में इन आरोपों की पुष्टि करते हुए कड़ी सिफारिशें की हैं. जानिए कि क्या है यूपी का यह स्क्रैप घोटाला और कौन है भ्रष्ट अधिकारी का आरोप झेल रही अंजलि चौरसिया.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. वाणिज्य कर विभाग में भ्रष्टाचार के बड़े मामले का खुलासा हुआ है. पटना के एक व्यापारी ने वित्त मंत्री को शिकायती पत्र लिखते हुए कारोबारियों और अधिकारियों के मिलीभगत की पोल खोली है और करोड़ों के घपले के कई गंभीर आरोप लगाए हैं. पटना के कारोबारी राजकुमार का आरोप है कि स्क्रैप व्यापारी प्लास्टिक दिखाकर कॉपर और एल्युमीनियम पर टैक्स चोरी कर रहे हैं. कारोबारी ने बाराबंकी में तैनात सचल दल अधिकारी अंजलि चौरसिया पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं. बड़ी बात यह है कि एडिशनल कमिश्नर स्तर की जांच में करोड़ों के भ्रष्टाचार की पुष्टि हुई है. पूर्व में भी एक दर्जन से अधिक शिकायतें अंजलि के खिलाफ विभाग में पेंडिंग हैं, जिन पर अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है.

स्क्रैप घोटाले का वीडियो भी दिया
राजकुमार ने शिकायत में कहा है कि अधिकारियों की मिलीभगत से नौ लाख का माल 90 हज़ार रुपये में छोड़ कर करोड़ों के वारे न्यारे किए जा रहे है. इधर, अंजलि चौरसिया पर आरोप लगा है कि उन्होंने नवंबर में गाड़ी नंबर HR 38 AA 6286 को पकड़ा था, जिसमें कॉपर स्क्रैप का माल 80 बोरियों में भरा था. लेकिन अधिकारियों ने हेरफेर करते हुए महज 90 हजार रुपये टैक्स लगाया और बड़ी धनराशि का लेन-देन किया. इस आरोप के साथ शिकायतकर्ता ने पूरा वीडियो भी विभाग को उपलब्ध कराया है.

कैसे धड़ल्ले से हो रहा है भ्रष्टाचार
राजकुमार ने वित्त मंत्री को लिखे पत्र में बताया कि कांटा पर्ची ड्राइवर से लेने के बाद उसे गायब कर दिया जाता है. उसकी जगह खाली गाड़ी की पर्ची लेकर दिखाई जाती है और कॉपर का वज़न छिपाया जाता है. स्क्रैप का बिल व E वे बिल बिना वज़न कराए स्क्रैप में नहीं बनाया जा सकता. राजकुमार का आरोप है कि अंजलि चौरसिया व व्यपारियों की सांठगांठ उत्तर प्रदेश से पटना तक पहुंच चुकी है. इस पूरे नेक्सस में वाणिज्यिक कर मुख्यालय के कई शीर्ष अधिकारियों के शामिल होने के भी आरोप हैं.

जांच में दोषी पाई गईं अंजलि
अयोध्या के एडिशनल कमिश्नर सूर्य नारायण ने जांच में अंजलि चौरसिया की करतूतों का पर्दाफाश करते हुए उनके विरुद्ध कार्यवाही किए जाने और उन्हें तत्काल प्रभाव से प्रवर्तन और सचल दल जैसी जगहों पर पोस्ट न करने की सिफारिश की है. बड़ी खबर यह है कि उन्हें करोड़ों की राजस्व हानि का प्रथम दृष्टया दोषी भी माना है. चौंकाने वाली बात तो यह है कि अंजलि के खिलाफ गंभीर भ्रष्टाचार का यह पहला आरोप नहीं है.

अंजलि पर पहले भी लगे हैं आरोप
पूर्व में भी एक दर्जन से अधिक भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप अंजलि पर लग चुके हैं लेकिन किसी भी मामले में कोई खास कार्रवाई नहीं हुई. चर्चा है कि वाणिज्य कर आयुक्त के पद पर अंजलि मंत्रालय के चहेते अफसरों में शुमार है, जिसकी वजह से उन्हें मलाईदार पदों पर पोस्टिंग मिलती रही है. सूत्रों की मानें तो कैबिनेट का संरक्षण प्राप्त इस अफसर की नाक के नीचे भ्रष्टाचार का खेल खूब पनप रहा है. आपको यह भी बता दें कि इससे पहले अंजलि एथलीट के तौर पर 75 किलोमीटर मैराथन दौड़कर अल्ट्रा रनर बनने के कारण भी सुर्खियों में रही थीं.

Tags: Barabanki News, Crime in uttar pradesh, Lucknow news, UP news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर