Assembly Banner 2021

Mukhtar Ansari News: माफिया मुख्तार अंसारी को लाने के रूट पर UP STF भी तैनात, नई दिल्ली में SUV हुई खराब

माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी को यूपी लाने के दौरान काफिले पर एसटीएफ की  नजर रहेगी. (फाइल फोटो)

माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी को यूपी लाने के दौरान काफिले पर एसटीएफ की नजर रहेगी. (फाइल फोटो)

Lucknow News: माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को 6 अप्रैल को पंजाब की राेपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट करने के लिए यूपी पुलिस के अफसर पहुंच चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. माफिया मुख्तार अंसारी (Mafia Don Mukhtar Ansari) का पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में ट्रांसफर को लेकर कवायद जोर-शोर से चल रही है. मामले में पंजाब सरकार से लेकर यूपी सरकार तक नजर बनाए हुए है. पल-पल के अपडेट लिए जा रहे हैं. इस बीच यूपी सरकार ने मुख्तार अंसारी को लाने के रूट पर यूपी एसटीएफ (UP STF) की भी तैनाती कर दी है. एसटीएफ को मुख्तार के काफिले की निगरानी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. एसटीएफ की एक टीम इस समय नई दिल्ली में डेरा भी डाल दिया है. लेकिन पता चला है कि नई दिल्ली में एसटीएफ की एसयूवी खराब हुई है. एसटीएफ की टीम अपनी एसयूवी को दुरुस्त करा रही है.

मुख़्तार अंसारी के लिए 5 अप्रैल की रात खौफ वाली रही. रोपड़ जेल सूत्रों के मुताबिक, बाहुबली मुख्तार अंसारी यूपी जाने के खौफ से रात भर सो नहीं पाया. वह अपने बैरक में बेचैन दिखा. उसने रात का खाना भी नहीं खाया. वह कभी अपना चश्मा निकलता तो कभी पहन लेता तो कभी उठकर टहलने लगता था.

2 सीओ सहित 100 पुलिसकर्मियों की फौज पहुंची रोपड़



बता दें मंगलवार को 2 सीओ और 100 पुलिसकर्मियों की टीम सुबह बांदा से रोपड़ पुलिस लाइन पहुंच गई है. मुख़्तार को रोपड़ से बांदा जेल में शिफ्ट किया जाना है. दरअसल, साल 2019 में रंगदारी के एक मामले में पंजाब पुलिस मुख़्तार को बांदा जेल से लेकर गई थी. इसके बाद से दो साल में 8 बार यूपी पुलिस उसे लेने के लिए गई लेकिन मुख़्तार को यूपी भेजने से स्थानीय पुलिस ने इनकार कर दिया. इसके बाद योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, जहां से मुख़्तार को दो हफ्ते में यूपी भेजने का आदेश दिया गया.
सुरक्षा को लेकर परिवार ने खड़े किए सवाल

मुख्तार अंसारी के बड़े भाई और सांसद अफजाल अंसारी ने योगी सरकार पर गंभीर सवाल खड़े करते हुए उनकी जान को खतरा बताया है. अफजाल अंसारी ने कहा कि जिस तरह से सरकार के मंत्री और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बयानबाजी कर रहे हैं, उससे कहीं न कहीं शंका पैदा हो रही है. इसी बीच खबर है कि मुख़्तार की पत्नी ने शिफ्टिंग के दौरान सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज