• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP: पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी का साला गिरफ्तार, ऐसे करता था करोड़ों की एक्साइज और टैक्स चोरी

UP: पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी का साला गिरफ्तार, ऐसे करता था करोड़ों की एक्साइज और टैक्स चोरी

Lucknow: अश्विनी अपने भांजे विधायक अमन मणि के सरकारी आवास में छुपा था

Lucknow: अश्विनी अपने भांजे विधायक अमन मणि के सरकारी आवास में छुपा था

Lucknow News: उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की मिलीभगत से अश्वनी ही करीब के डिस्ट्रीब्यूशन प्वॉइंट पर चार दिन के अंदर एक गेट पास पर दो बार ट्रकों के चक्कर लगवाता था.

  • Share this:

लखनऊ. एक्साइज ड्यूटी और टैक्स चोरी कर सरकार को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले गिरोह के सदस्य और 25 हजार के इनामी अपराधी अश्वनी उपाध्याय को यूपी एसटीएफ (UP STF) ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी अश्वनी पूर्व मंत्री अमर मणि त्रिपाठी के सगा साला है. कोर्ट ने आरोपी अश्वनी को 7 अक्तूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. यूपी एसटीएफ ने पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के लखनऊ किसान पथ पर बने फार्म हाउस के सामने से अश्वनी को गिरफ्तार किया.

एसटीएफ के एडिशनल एसपी विशाल विक्रम के मुताबिक अश्विनी उपाध्याय अपने भांजे विधायक अमन मणि त्रिपाठी के सरकारी आवास पर भी कुछ दिन छिपा था. एसटीएफ ने इसी साल 3 मार्च को सहारनपुर की शराब फैक्ट्री को ऑपरेटिव कंपनी लिमिटेड और वहां के स्थानीय आबकारी डिस्ट्रीब्यूटर, ट्रांसपोर्ट और फैक्टरी में नियुक्त आबकारी अधिकारियों की मिलीभगत से भारी मात्रा में अवैध शराब निकाल कर सरकार को करोड़ों का चूना लगाने वाले गिरोह का खुलासा किया था. इस गिरोह के अब तक 8 आरोपियों के एसटीएफ गिरफ्तार कर चुकी है.

यह भी पढ़ें- Banda News: ATM से 100 की जगह निकलने लगे 500 के नोट, ग्राहकों से होगी वसूली

कंपनी के सेल्स हेड और पीआरओ अश्विनी कुमार पर 25 हज़ार रुपये का इनाम था जिसे गिरफ्तार किया गया है. एडिशनल एसपी ने बताया कि फैक्ट्री में नियुक्त आबकारी विभाग के अधिकारियों और कंपनी के मालिकों की मिलीभगत से कागजातों में हेरा फेरी कर करोड़ों रुपए के टैक्स और एक्साइज ड्यूटी की चोरी की गई है. उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की मिलीभगत से अश्वनी ही करीब के डिस्ट्रीब्यूशन प्वॉइंट पर चार दिन के अंदर एक गेट पास पर दो बार ट्रकों के चक्कर लगवाता था. एक ही बिल्टी पर एक्साइज टैक्स की बड़ी चोरी करता था. इस दौरान आरोपी सीसीटीवी कैमरे व ट्रकों के जीपीएस भी बंद होते थे. बताया जा रहा है कि एक्साइज विभाग के अधिकारियों को प्रति ट्रक करीब 7.50 लाख रुपये दिया जाता था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज